सीमेंट-क्रंकीट मिक्सर और सवा सौ करोड़ लोग!

मैं कंपकंपा गया। शरीर के रोयें, दिमाग के तार झनझना उठे। रोना चाहा लेकिन संवेदनाओं के आंसुओं ने मुझे वैसे ही धोखा दिया, जैसे मरघट में देते हैं। आंसू की जगह दिमाग सीमेंट-गिट्टी मिक्स करने वाले ट्रक के गोलाकार अंधे कुएं और उसमें बैठे मजदूरों पर सोचने लगा।

सीमेंट मिक्सर में बैठ घर जा रहे थे मजदूर

कोरोना वायरस का संक्रमण रोकने के लिए लागू लॉकडाउन में अनेक किस्म की मार्मिक तस्वीरें सामने आ रही हैं। ऐसी ही एक तस्वीर शनिवार को देखने को मिली।