आईटीबीपी की झड़प क्यों छिपाई गई?

स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर गृह मंत्रालय की ओर से दिए जाने वाले वीरता पुरस्कारों का ऐलान हुआ तो उसमें इंडो तिब्बत बोर्डर पुलिस, आईटीबीपी के 21 जवानों का नाम गैलेंटरी अवार्ड के लिए प्रस्तावित किया गया।