राजस्थानः नई शिक्षा नीति का क्या असर होगा छात्रों पर CBCS यूनिवर्सिटी और कॉलेज में लागू होने से..

हाल ही में राजस्थान सरकार ने नई शिक्षी नीति लागू की है। 50 साल बाद शिक्षा नीति के ढ़ांचे में बदलाव कर शिक्षकों को राहत की सांस दी थी। अब इस नीति को लागू करने पर काम किया जा रहा है। ( new education policy ) राज्थान सरकार द्वारा लागू की गई नई शिक्षा नीति के तहत सीबीसीएस को यूनिवर्सिटीज और कॉलेजों में लागू करने की तैयारी की जा रही है। एक तरफ शिक्षा नीति को लागू किया जा रहा है तो दूसरी तरफ भर्तियों में यूजी-पीजी में एक ही विषय की बाध्यता करके अभ्यर्थियों के लिए रोड़ा अटकाया जा रहा है। नई शिक्षा नीति से शिक्षकों को तो लाभ मिलने वाला है। लेकिन इस नीति का सीधा असर हजारों की तादात में अभ्यर्थियों पर असर पड़ने वाला है। बीते दिनों प्रदेश के राज्यपाल कलराज मिश्र ने बतौर कुलाधिपति राज्य के तमाम विश्वविद्यालयों को नई शिक्षा नीति के अनुरूप सीबीसीएस यानि च्वाइस बेस्ड क्रेडिट सिस्टम अपनाने की नसीहत दी है। साथ ही कहा कि इस नीति को जल्द ही लागू कर दिया जाएगा। इसके बाद राज्य के यूनिवर्सिटीज इस पर कवायद में जुट गई हैं also read: Rajasthan : गहलोत सरकार ने दिया शिक्षकों को बड़ा तोहफा, 50 साल बाद बदला… Continue reading राजस्थानः नई शिक्षा नीति का क्या असर होगा छात्रों पर CBCS यूनिवर्सिटी और कॉलेज में लागू होने से..

Corona Crisis: जूनियर डॉक्टरों के हड़ताल पर जाने से यहां की सरकार को आया पसीना ,कहा- ऐसे हालातों में हड़ताल सही नहीं

Bhopal: देशभर में कोरोना अपना कहर बरसा रहा है. देश में कोरोना की दूसरी लहर से हर तरफ हाहकार मचा हुआ है. ऐसे हालातों में अब मध्य प्रदेश से डराने वाली खबर आई है. मध्य प्रदेश के जूनियर डॉक्टर अब हड़ताल पर चले गये हैं. कोरोना के प्रकोप के बीच जूनियर डॉक्टरों के इस फैसले ने राज्य सरकार की  परेशानियों को भी बढ़ा दिया है.  जूनियर डॉक्टरों की मुख्य मांग है कि उन्हें  बेहतर कोविड-19 उपचार एवं एक साल की फीस माफी मिले. इसके साथ ही जूनियर डॉक्टर और भी अपनी कई मांगों के साथ ही हड़ताल परप चले गये हैं. जानकारी के अनुसार फिलहाल मध्य प्रदेश के 6 सरकारी मेडिकल कॉलेज के जूनियर डॉक्टर (जूडा) आज सुबह से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले गये हैं. राज्य सरकार को करना पड़ सकता है परेशानियों का सामना कोरोना से बिगड़ते हालातों को देखते हए अचानक से जूनियर डॉक्टरों के हड़ताल पर चले जाने से मध्य प्रदेश की सरकार को कईज्ञ तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है. कोरोना वायरस संक्रमण के नये मामलों में आ रही तेजी के चलते इससे निपटने के लिए चिकित्सकों, चिकित्सीय ऑक्सीजन, रेमडेसिविर इंजेक्शनों एवं अन्य चीजों की सरकार को आवश्यक्ता है. ऐसे में से जूनियर… Continue reading Corona Crisis: जूनियर डॉक्टरों के हड़ताल पर जाने से यहां की सरकार को आया पसीना ,कहा- ऐसे हालातों में हड़ताल सही नहीं

Bihar: कोरोना के कारण कोचिंग बंद के आदेश पर छात्रों ने जमकर किया हंगामा, वाहनों में की तोड़फोड़

सासाराम। बिहार में कोरोना संक्रमितों की बढ़ती रफ्तार को लगाम देने के लिए Schools, Colleges और शिक्षण संस्थानों के बंद किए जाने के सरकारी आदेश के बाद आज Rohtas District Headquarters Sasaram में छात्रों का गुस्सा भडक गया, जिसके बाद छात्रों ने जमकर हंगामा किया। छात्रों ने पुलिस वाहन सहित कई वाहनों में तोड़फोड़ की और सडक पर जमकर आगजनी की। Corona को लेकर Bihar में 11 अप्रैल तक सभी शिक्षण संस्थानों को बंद कर दिया गया है। सरकार के इस आदेश के बाद आज Sasaram में Students भड़क गए और जमकर उपद्रव किया। Students बड़ी संख्या में Sasaram समाहरणालय और पोस्ट ऑफिस चैक पर एकत्रित हो गए और government के इस आदेश को लेकर जमकर हंगामा किया। इसे भी पढ़ें – बॉलीवुड पर कोरोना की काली छाया, विक्की कौशल और भूमि पेडनेकर भी हुए कोरोना पॉज़िटिव Police के एक अधिकारी ने बताया कि Police जब इन छात्रों को समझाने पहुंची तो छात्रों ने Police पर पथराव किए। इस दौरान छात्रों ने Police वाहन सहित कई वाहनों को क्षतिग्रस्त कर दिया। छात्र सरकारी कार्यालयों को भी नुकसान किया है। इसके बाद पुलिस ने बल प्रयोग करते हुए छात्रों को खदेड़ दिया। छात्रों के पथराव में कई पुलिसकर्मियों के घायल होने की… Continue reading Bihar: कोरोना के कारण कोचिंग बंद के आदेश पर छात्रों ने जमकर किया हंगामा, वाहनों में की तोड़फोड़

अंग्रेजीः लोकतंत्र बना जादू-टोना

स्वतंत्र भारत को अंग्रेजी ने कैसे अपना गुलाम बना रखा है, इसका पता मुझे आज इंदौर में चला।

मातृभाषा में पढ़ाई वाले कॉलेज कैसे खुलेंगे?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार को असम के दौरे पर गए तो उन्होंने बहुत अनोखी बात कही।

प्रदेश के जनजातीय बहुल क्षेत्रों में कालेजों की संख्या बढ़ाई जायेगी: शिवराज

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने कहा है कि जनजातीय बच्चों को उच्च शिक्षा के लिए कहीं नही भटकना पड़ेगा। प्रदेश के जनजातीय बहुल क्षेत्रों में कालेजों की संख्या बढ़ाई जायेगी।

राजस्थान में इस वर्ष स्नातक और स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों की परीक्षाएं नहीं होंगी

राजस्थान सरकार ने कोरोना वायरस की महामारी के मद्देनजर इस वर्ष प्रदेश के सभी विश्वविद्यालयों, महाविद्यालयों और तकनीकी शिक्षण संस्थानों में स्नातक और स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों की परीक्षाएं नहीं कराने का निर्णय लिया है।

राजस्थान में स्कूल-कॉलेजों के कार्यालय फिर से खुले

राजस्थान सरकार ने देशव्यापी लॉकडाउन के चौथे चरण के दौरान स्कूलों, कॉलेजों और मॉल के कार्यालय को फिर से खोलने की अनुमति दे दी है, जिसके लिए सोशल डिस्टेंसिंग और अन्य स्वास्थ्य प्रोटोकॉल का पालन करना होगा।

सेमेस्टर फीस से राहत संबंधी याचिका सुप्रीम कोर्ट ने की खारिज

उच्चतम न्यायालय ने राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के मद्देनजर निजी एवं सरकारी कॉलेजों में विद्यार्थियों को सेमेस्टर फीस से राहत दिये जाने संबंधी याचिका की सुनवाई से आज इन्कार कर दिया।

स्कूल-कॉलेजों पर फैसला समीक्षा के बाद

नई दिल्ली। कोरोना वायरस के खतरे की वजह से पूरे देश में लागू 21 दिन के लॉकडाउन के दौरान बंद स्कूल-कॉलेज खोलने के बारे में फैसला 14 अप्रैल को होगा। गौरतलब है कि लॉकडाउन 14 अप्रैल तक है। केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा है कि कोरोना वायरस के संक्रमण की स्थिति की 14 अप्रैल को समीक्षा करने के बाद सरकार स्कूल, कॉलेज फिर से खोलने पर कोई फैसला करेगी। मानव संसाधन विकास मंत्री ने न्यूज एजेंसी पीटीआई भाषा को दिए एक इंटरव्यू में कहा है कि छात्रों और अध्यापकों की सुरक्षा सरकार के लिए सबसे पर है और उनका मंत्रालय यह सुनिश्चित करने के लिए तैयार है कि यदि स्कूल, कॉलेज को 14 अप्रैल के बाद भी बंद रखने की जरूरत पड़ी तो छात्रों को पढ़ाई-लिखाई का कोई नुकसान नहीं हो। गौरतलब है कि अनेक शिक्षण संस्थाओं में ऑनलाइन क्लासेज शुरू हो गई हैं। ध्यान रहे पूरे देश में लॉकडाउन लागू होने से पहले ही अनेक निजी शिक्षण संस्थानों ने अपने यहां क्लासेज बंद कर दी थीं। उसके बाद राज्यों ने भी अपने यहां स्कूल-कॉलेज बंद करने का ऐलान किया। निशंक ने रविवार को कहा कि सरकार 14 अप्रैल को हालात की समीक्षा करेगी और… Continue reading स्कूल-कॉलेजों पर फैसला समीक्षा के बाद

शिक्षण संस्थानों को छात्रों से संपर्क बनाए रखने का निर्देश

नई दिल्ली। केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्रालय के अंतर्गत आने वाले सभी स्कूल-कॉलेजों व अन्य शिक्षण संस्थानों में शैक्षणिक सत्र, परीक्षाओं एवं परीक्षाओं का मूल्यांकन स्थगित कर दिया गया है। छात्रों में अपने संस्थानों को लेकर सूचना का अभाव न रहे या कोई भ्रम न रहे, इसके लिए सभी शिक्षण संस्थानों को इलेक्ट्रॉनिक माध्यमों से छात्रों के साथ संपर्क बनाने का निर्देश दिया गया है। मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने गुरुवार को जारी एक आदेश में सभी शिक्षण संस्थानों से अपने छात्रों और शिक्षकों के साथ इलेक्ट्रॉनिक माध्यमों से संपर्क बनाए रखने और उन्हें कोरोना संक्रमण के बारे में समुचित जानकारी देते रहने का निर्देश दिया। मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने स्पष्ट निर्देश देते हुए कहा है, सभी शिक्षण संस्थान हेल्पलाइन नम्बर और ईमेल पते अपने छात्रों को उपलब्ध कराएं, ताकि वे इस पर संपर्क कर अपने प्रश्नों के जवाब पा सकें। विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) की ओर से कोरोना वायरस की रोकथाम और बचाव के मद्देनजर छात्रों के लिए परामर्श जारी किया गया है। मानव संसाधन विकास मंत्रालय के उच्च शिक्षा सचिव की ओर से जारी हुए इस परामर्श में कहा गया है, देश के सभी शिक्षण संस्थानों से कहा गया है कि वे कोरोना वायरस के फैलाव को… Continue reading शिक्षण संस्थानों को छात्रों से संपर्क बनाए रखने का निर्देश

30 मार्च तक स्कूल, कॉलेज, सिनेमाघर बंद

राजस्थान सरकार ने कोरोनावायरस के प्रसार को रोकने के प्रयास में 30 मार्च तक राज्यभर के सभी स्कूलों, कॉलेजों, कोचिंग सेंटरों, व्यायामशालाओं, सिनेमाघरों को बंद करने का निर्णय लिया है।

कोरोनावायरस: उप्र में स्कूलों को 31 मार्च तक बंद रखने की मांग

नोएडा। उत्तर प्रदेश में कोरोनावायरस संक्रमण को महामारी के समकक्ष घोषित करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश में सभी स्कूल, कॉलेजों को 22 मार्च तक के लिए बंद करने के निर्देश जारी किए हैं। लेकिन कोविड-19 संक्रमण के बढ़ते प्रकोप के मद्देनजर ऑल स्कूल पेरेंट्स एसोसिएशन ने कहा है कि वह गाजियाबाद और नोएडा के जिला अधिकारियों को पत्र लिखकर यह मांग करेगा कि स्कूलों को 31 मार्च तक बंद रखा जाए। ऑल स्कूल पेरेंट्स एसोसिएशन की राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवानी जैन ने कहा, उत्तर प्रदेश में सभी स्कूल, कॉलेजों को 22 मार्च तक के लिए बंद करने के निर्देश जारी किए गए हैं। लेकिन हम चाहते हैं कि इसकी अवधि को 31 मार्च तक के लिए बढ़ाया जाना चाहिए। उन्होंने आगे कहा, कोविड-19 से संक्रमित होने की संभावनाएं अधिक हैं। ऐसे में सिर्फ स्कूल और कॉलेज ही नहीं, बल्कि सिनेमा हॉल और भीड़भाड़ वाले इलाकों में स्थित आस-पास के मॉल्स को भी बंद किया जाना चाहिए। यह खबर भी पढ़ें:- कोरोनावायरस के प्रति सावधानी बरतें : प्रियंका ऐहतिहातन कदम उठाने के प्रति जागरूकता को लेकर शिवानी जैन ने कहा, हम सभी अभिभावकों को भी यही कह रहे हैं कि वे विशेष रूप से इस बात को सुनिश्चित करें कि… Continue reading कोरोनावायरस: उप्र में स्कूलों को 31 मार्च तक बंद रखने की मांग

राजस्थान में आज स्कूल, कॉलेजों में छुट्टी

अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट द्वारा आज सुबह 10.30 बजे फैसला देने के मद्देनजर राज्य के सभी स्कूल और कॉलेज आज बंद रहेंगे। इसकी पुष्टि मुख्यमंत्री कार्यालय ने की है।

और लोड करें