घरेलू शेयर बाजार में एक फीसदी का उछाल

अधिकतर एशियाई बाजारों से मिले सकारात्मक संकेतों के बीच धातु और बेसिक मैटेरियल्स समूह की कंपनियों में हुई भारी लिवाली के दम पर घरेलू शेयर बाजार कल की तेज गिरावट से उबरते हुए एक फीसदी की छलांग लगाकर बंद हुए।

उतार-चढ़ाव से होता हुआ मजबूत बंद हुआ शेयर बाजार

मजबूत निवेश धारणा के बीच बैंकिंग, वित्त, आईटी और टेक क्षेत्र की कंपनियों में लिवाली से आज घरेलू शेयर बाजार लगातार पाँचवें दिन बढ़त में बंद हुये।

5 कंपनियों का बाजार पूंजीकरण 1.63 लाख करोड़ रु. बढ़ा

सेंसेक्स की शीर्ष 10 कंपनियों में से पांच का बाजार पूंजीकरण (मार्केट कैप) बीते सप्ताह 1,63,795.48 करोड़ रुपये बढ़ा। रिलायंस इंडस्ट्रीज को सबसे अधिक लाभ हुआ।

कोविड19 के दौर में भी नौकरियां दें कंपनियां: निशंक

केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ ने कंपनियों से अपनी अपील में आग्रह किया कि कोरोना वायरस के कारण आर्थिक संकट के बावजूद तकनीकी शिक्षण संस्थानों के होनहार छात्रों को दी हुई नौकरियां मान्य रखें।

ईडी ने पिक्शन मीडिया की 127 करोड़ रुपए की संपत्ति जब्त की

नई दिल्ली। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने मंगलवार को कहा कि उसने पिक्शन मीडिया और उसके समूह की कंपनियों की मुंबई, कोलकाता और नोएडा में स्थित 127 करोड़ रुपए की संपत्तियां जब्त की हैं। ईडी ने यह कार्रवाई 2,600 करोड़ रुपए के बैंक धोखाधड़ी से संबंधित धन शोधन मामले की जांच के हिस्से के तहत की है। ईडी ने एक बयान में कहा, हमने एक बैंक धोखाधड़ी के मामले में धन शोधन रोकथाम अधिनियम, 2002 (पीएमएलए) के अंतर्गत पिक्शन मीडिया और उसके समूह की कंपनियों की 127.74 करोड़ रुपये की अचल संपत्तियां जब्त की हैं। यह खबर भी पढ़ें:- ईडी ने पिक्शन मीडिया की 127 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त की ईडी ने कहा कि संपत्तियों में दो वाणिज्यिक प्लॉट्स, समूह की कंपनियों के मुंबई, चेन्नई, नोएडा और कोलकाता स्थित नौ वाणिज्यिक फ्लोर्स शामिल हैं। ईडी ने यह कार्रवाई सीबीआई द्वारा भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) और भ्रष्टाचार निरोधक अधिनियम, 1988 की विभिन्न धाराओं के अंतर्गत मामला दर्ज करने के बाद की। सीबीआई ने धोखाधड़ी, जालसाजी और सार्वजनिक बैंक को 2,600 करोड़ का नुकसान करने तथा पिक्शन मीडिया प्राइवेट लिमिटेड, पर्ल मीडिया प्राइवेट लिमिटेड, महुआ मीडिया प्राइवेट लिमिटेड, पिक्शन विजन प्राइवेट लिमिटेड, पर्ल स्टूडियो प्राइवेट लिमिटेड, पर्ल विजन प्राइवेट लिमिटेड, सेंचुरी कम्युनिकेशन… Continue reading ईडी ने पिक्शन मीडिया की 127 करोड़ रुपए की संपत्ति जब्त की

ईडी ने पिक्शन मीडिया की 127 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त की

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने आज कहा कि उसने पिक्शन मीडिया और उसके समूह की कंपनियों की मुंबई, कोलकाता और नोएडा में स्थित 127 करोड़ रुपये की संपत्तियां जब्त की हैं।

कंपनियों की बिक्री से सरकार का खर्च!

भारत सरकार 24 सरकारी कंपनियों को बेचने जा रही है। चालू वित्त वर्ष में उसने एक लाख पांच हजार करोड़ रुपए विनिवेश यानी सरकारी कंपनियों को बेच कर जुटाने का लक्ष्य रखा है। यह लक्ष्य पूरा नहीं होता दिखा तो मुनाफा कमाने वाली कंपनियों को भी बेचने का फैसला अब लिया गया है।

अनाथ, दिव्यांगों पर सीएसआर का अधिक खर्च करें कंपनियां

नई दिल्ली। राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने कंपनियों को सुझाव दिया है कि वे कॉरपोरेट सामाजिक दायित्य (सीएसआर) के तहत अनाथ और दिव्यांग लोगों के कल्याण के लिए अधिक राशि खर्च करें। उन्होंने मंगलवार को कहा कि सीएसआर गतिविधियों के जरिये विकास की चुनौतियों के लिए नवोन्मेषी समाधान ढूंढे जा सकते हैं। यहां पहले राष्ट्रीय सीएसआर पुरस्कार समारोह को संबोधित कर रहे कोविंद ने कहा कि धन का दान करने पर सम्मान मिलता है, उसे जमा करने पर नहीं। ये खबर भी पढ़ेः कोविंद ने किया पूर्व राष्ट्रपति नारायणन को नमन कंपनी कानून, 2013 के तहत सीएसआर प्रावधान एक अप्रैल, 2014 से लागू हुए हैं। इस कानून के तहत कुछ निश्चित श्रेणी की मुनाफा कमाने वाली कंपनियों को अपने तीन साल के औसत शुद्ध लाभ का दो प्रतिशत एक वित्त वर्ष में सीएसआर गतिविधियों पर खर्च करना होता है। राष्ट्रपति ने कहा कि 2014-15 से कंपिनयां हर साल सीएसआर पर 10,000 करोड़ रुपये से अधिक खर्च करती हैं। ये खबर भी पढ़ेः कोविंद, मोदी और शाह ने देशवासियों को दी दीपावली की बधाई उन्होंने कहा कि समाज कल्याण गतिविधियों पर खर्च करने के लिए संसाधन, इच्छाशक्ति और रूपरेखा अहम होते हैं। उन्होंने सवाल किया कि हमें किसकी अधिक मदद करनी… Continue reading अनाथ, दिव्यांगों पर सीएसआर का अधिक खर्च करें कंपनियां

चीन से निकली कंपनियों को भारत देगा न्योता

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा है कि वे चीन से निकल कर, भारत में निवेश का इरादा रखने वाली कंपनियों के लिए नीति बनाएंगी। सीतारमण ने कहा- चीन से बाहर निकलने वाले उद्योग, निश्चित रूप से भारत की तरफ देख रहे हैं।

सरकार कितनी कंपनियों को बेचेगी?

केंद्र सरकार के वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल ने पिछले दिनों कहा कि सरकार का काम कारोबार करना नहीं है। हालांकि इसके अलावा सरकार और कोई काम करती भी नहीं है। बाकी सारे काम तो भारत में भगवान भरोसे होते हैं। भारत में सरकार का मुख्य काम कारोबार करना ही है।

और लोड करें