ऑनलाइन क्लास में 8वीं की छात्रा के पास आते थे विदेशी नंबरों से अश्लील मैसेज, खुलासे में पुलिस का भी छूटा पसीना

आठवीं कक्षा में पढ़ने वाली एक छात्रा को पिछले कुछ दिनों से विदेशी नंबर से अश्लील मैसेज किए जा रहे थे. शुरू में तो छात्रा ने इन मैसेजेस और फोन कॉल्स का जवाब नहीं दिया.

सनकी डॉक्टर ने कहा- मास्क पहनने से होगी ऑक्सीजन की कमी फिर मरने पर डाल देंगे कोरोना से मरने वालों की लिस्ट में, केस दर्ज…

एक डॉक्टर के खिलाफ दिल्ली की क्राइम ब्रांच ने स्वत: संज्ञान लेते हुए केस दर्ज किया है. बता दें कि दिल्ली में रहने वाले एक डॉक्टर हैं जो पिछले साल से ही लोगों को कोरोना के खतरे को अंतराष्ट्रीय साजिश बता रहे हैं.

Real Fighter Of Corona : 10 महीने तक संक्रमित रहने के बाद परेशान होकर अपनी पत्नी से कहा – प्लीज मुझे अब मरने दो …

नई दिल्ली | Real Fighter Of Corona: कोरोना के दौर में विश्वभर से अजीबोगरीब मामले सामने आए हैं. ऐसा ही एक मामला यूनाइटेड किंगडम (UK) से भी सामने आया है. यहां इंग्लैंड में रहने वाले 72 साल के व्यक्ति की 43 बार कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. लगातार आ रही पॉजिटिव रिपोर्ट से परेशान होकर इस व्यक्ति ने अपनी पत्नी और परिवार वालों से कहा कि अब मुझे मरने दो. लेकिन इसके बाद भी परिवार वालों और पत्नी ने हार नहीं मानी और उनका इलाज करते रहे. बताया जा रहा है कि यह व्यक्ति लगभग 10 महीनों तक कोरोना से संक्रमित रहा और इससे लड़ता रहा. दुनिया भर में यह व्यक्ति सबसे ज्यादा समय तक पूर्णा से संक्रमित रहने वाला माना जा रहा है. इस व्यक्ति को संक्रमण के दौरान 7 बार अस्पताल में भर्ती किया गया. कई रात 4 से 5 घंटे तक खांसता रहा Real Fighter Of Corona : डेव स्मिथ नाम का जो व्यक्ति पैसे से रिटायर ड्राइविंग इंस्ट्रक्टर है. बीबीसी को दिए गए एक इंटरव्यू में स्मिथ ने बताया कि उसके शरीर में इतना दिन तक वायरस रहने से उसकी एनर्जी पूरी तरह से खत्म हो गई थी. उसने बताया कि उसे बिस्तर से उठने के… Continue reading Real Fighter Of Corona : 10 महीने तक संक्रमित रहने के बाद परेशान होकर अपनी पत्नी से कहा – प्लीज मुझे अब मरने दो …

मरीजों पर मॉक ड्रिल, अस्पताल को क्लीन चिट

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश के आगरा में कोरोना मरीजों पर मॉक ड्रिल करके उनकी जान लेने के आरोपी अस्पताल को राज्य सरकार ने क्लीन चिट दे दी है। जांच में कहा गया है कि ज्यादातर मरीज दूसरी गंभीर बीमारी से ग्रसित थे और इसी वजह से उनकी मौत हुई थी। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने इसे लेकर राज्य सरकार पर तीखा हमला किया है और कहा है कि सरकार ने भी मॉक ड्रिल की है। गौरतलब है कि आगरा में एक निजी अस्पताल में ऑक्सीजन मॉक ड्रिल के दौरान कई मरीजों की मौत होने के आरोप लगे थे। इस अस्पताल के मालिक का एक ऑडियो भी वायरल हुआ था, जिसमें वो कथित रूप से कहते हैं कि 27 अप्रैल को उन्होंने पांच मिनट के लिए ऑक्सीजन सप्लाई बंद कर दी थी। इस घटना की जानकारी सामने आने के बाद सरकार ने आगरा के श्री पारस अस्पताल में 16 मरीजों की मौत की जांच के आदेश दिए थे। जांच रिपोर्ट में अस्पताल को क्लीन चिट देते हुए कहा गया है मॉक ड्रिल की वजह से मरीजों की मौत नहीं हुई थी। जांचकर्ताओं की एक कमेटी ने अपनी रिपोर्ट में कहा है- सभी मरीजों की मौत गंभीर हालत या गंभीर कोमोर्बिडिटी यानी… Continue reading मरीजों पर मॉक ड्रिल, अस्पताल को क्लीन चिट

कोरोना काल में मोबाइल, लैपटॉप के आदि हो गए है बच्चे, तो ऐसे करें उनकी आंखों की सुरक्षा

कोरोना ने सभी के जीवन पर बुरा असरल डाला है। सभी का जीवन घर की चारदीवारी में बंद हो गया है। खसकर बच्चों का। बच्चों को हमेशा से आदत होती है कि वे अपने दोस्तों के साथ खेलें, मस्ती करें। लेकिन कोरोना ने बच्चों की लाइफ भी बोरिंग कर दी है। कोरोना के कारण फिलहाल स्कूल भी बंद है। ऑनलाइ क्लास के कारण उनकी आंखें खराब हो रही है। कोरोना के खतरे के कारण माता-पिता बच्चों को खेलने के लिए कहीं बाहर भी नहीं भेज रहे है। इस कारण बच्चे पूरे दिन अपना समय टीवी, मोबाइल, लैपटॉप के साथ ही गुज़ार रहे है। इस कारण उनकी आंखों पर काफी गहरा असर पड़ रहा है। माता-पिता को यह भी डर सता रहा है कि कहीं इनकी आंखे खराब ना हो जाएं।  विशेषज्ञों का कहना है कि यदि आप अपने बच्चों के आंखों को सुरक्षित बनाए रखने के लिए कुछ खास बातों का ध्यान में रखें तो उनकी आंखों की रोशनी कमजोर होने से बचा सकते हैं। तो आइए जानते हैं कि बच्‍चों की आंखों का ख्‍याल रखने के लिए किन खास बातों का ध्‍यान रखना जरूरी है…. 1.हर साल कराएं आंखों का चेकअप यह जरूरी नहीं कि जब आंखों में किसी… Continue reading कोरोना काल में मोबाइल, लैपटॉप के आदि हो गए है बच्चे, तो ऐसे करें उनकी आंखों की सुरक्षा

Up: डॉक्टर्स बने हैवान, मॉक ड्रिल के चक्कर में ली 22 लोगों की जान

आगराः इसमें कहने की कोई बात नही है कि कोरोना काल में डॉक्टर्स ने अपना अतुलनीय योगदान दिया है। अपनी जान की परवाह ना करते हुए मरीजों की जान बचाई है। डॉक्टर्स को Frontline Workers कहा जा रहा है। लेकिन हर चीज का एक अपवाद होता है। यूपी के आगरा के श्री पारस  अस्पताल से एक दिल दहला देने वासी घटना सामने आई है। जिसमें डॉक्टर्स की हैवानियत दिखाई देती है। इस अस्पताल का एक वीडियो वायरल हो रहा है। जिसमें अस्पताल प्रशासन ने मिलकर 22 कोरोना मरीजों की जान ले ली। डॉक्टर्स ने मरीजों के साथ पहले मॉक ड्रिल का खेला किया। उसके बाद 5 मिनट के अंदर-अंदर 22 लोगों की जान चली गई। वीडियो में हॉस्पिटल के  संचालक  एक शख्स बोलता है कि 22 लोग मर गए थे। यह पूरी बातचीत 26/27 अप्रैल को सामने आए ऑक्सीजन संकट के संदर्भ में है। जब यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ तो लोगों का गुस्सा आग की तरह फूटा। सीएम योगी ने डीएम को जांच के आदेश दिए है। असपताल पर सख्त कार्यवाही की जाएगी। also read: UP : कानपुर में लोडर से टकरा अनियंत्रित बस पुल से गिरी, दर्दनाक हादसे में 17 की मौत, कई घायल क्या होता है मॉक… Continue reading Up: डॉक्टर्स बने हैवान, मॉक ड्रिल के चक्कर में ली 22 लोगों की जान

Rajasthan:  अजमेर दरगाह में चढ़ावा को लेकर फिर विवाद उभरा, पुलिस तक पहुंचा मामला

अजमेर |  सूफी संत ख्वाजा मोइनुद्दीन हसन चिश्ती की दरगाह में नजराना (चढ़ावा) को लेकर फिर विवाद सामने आया है. बता दें कि दरगाह में नजराने को लेकर दरगाह कमेटी, अंजुमन सैयद जादगान एवं अंजुमन शेख जादगान के बीच शीत युद्ध चल रहा है. इसे लेकर अब दरगाह कमेटी द्वारा पुलिस का दरवाजा भी खटखटाया गया है. जानकारी के अनुसार दरगाह परिसर में खादिम फैजल चिश्ती के कोरोना लॉकडाउन के बावजूद नजराना मांगने की बात सामने आई है. इस पर दरगाह कमेटी ने कड़ा एतराज जताते हुए दोनों अंजुमनों को लिखित नोटिस भेज जवाब तलब किया है. फिलहाल दोनों अंजुमनों से वापसी में कोई जवाब नहीं दिया गया है लेकिन नाजिम अशफाक हुसैन ने नजराना प्राप्त करने का अधिकार दरगाह कमेटी का बताते हुए दरगाह पुलिस को पत्र की प्रति के साथ सूचना भेजी है साथ ही पूछा गया है कि दरगाह की सुरक्षा और पुलिस पहरे में चल रहे लॉकडाउन के बावजूद दरगाह में प्रवेश कैसे हो गया. दरगाह का वीडियों सामने आने के बाद कमेटी ने जताया एतराज बीते एक सप्ताह से दरगाह से लाइव जियारत एवं वीडियो अपलोड की बात सामने आने के बाद दरगाह कमेटी ने कड़ा एतराज दर्ज कराया था. दोनों अंजुमन के पदाधिकारी भी… Continue reading Rajasthan: अजमेर दरगाह में चढ़ावा को लेकर फिर विवाद उभरा, पुलिस तक पहुंचा मामला

HDFC बैंक ने अपने ग्राहकों को कहा- अपना मुंह पर ताला लगाए वर्ना…

नई दिल्ली: आजकल साइबर ठगी के शिकार हम सभी हो रहे है। कोरोना काल में ये धंधा ज्यादा देखने को मिल रहा है। हाल ही में HDFC बैंक ने अपने ग्राहकों को कहा है कि ऑनलाइन होने वाली ठगी से बचने के लिए अपना मुंह बंद रखें अन्यथा ठगे जाओगे और सारे पैसे खाते से कब उड़ जाएंगे पता भी नहीं चलेगा। बैंक ने आगाह किया है कि कुछ साइबर ठग बैंक के फर्जी कस्टमर केयर(CUSTMER CARE) अधिकारी बनकर ग्राहकों को बेवकूफ बना रहे हैं, और उनकी मेहनत से कमाई जमा-पूंजी पर डाका डाल रहे हैं। इनसे सावधान रहने की जरूरत है। कई बार ऐसे भी फोन आते है कि ‘मैं आपके बैंक का मैनेजर बोल रहा हूं आपके अकाउंट में कुछ समस्या आ रही है इसलिए एक OTP आएगा वो बताये’….कभी भी गलती से भी किसी के साथ अपना OTP शेयर ना करें। Received a message for an FD/RD transaction you didn’t make?Scamsters are using fake HDFC Bank helpline numbers & asking people to download screen-sharing app to access their banking information. So practice #MoohBandRakho when the scamsters call. Visit: https://t.co/RPuqV7Bz07 pic.twitter.com/3fTIKiOfuO — HDFC Bank (@HDFC_Bank) June 2, 2021 इसे भी पढ़ें क्या आपने सुना है मेडिकल रेप, अगर नहीं… Continue reading HDFC बैंक ने अपने ग्राहकों को कहा- अपना मुंह पर ताला लगाए वर्ना…

और लोड करें