Rajasthan :  यहां मिल रहे हैं हर दो मिनट में कोरोना मरीज, हालात हो सकते हैं बेकाबू

देशभर में कोरोना के मामले बढ़ते जा रहे हैं. लेकिन राजस्थान का एक ऐसा भी जिला है जहां हर दो मिनट में कोरोना का एक मामला सामने आ रहा है.

Rajasthan में Lockdown की आहट: जिलों में माइक्रो कंटेनमेंट जोन की कड़ाई से पालना के दिए निर्देश

देश में बढ़ते कोरोना मामलों को देखते हुए राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ( Chief Minister Ashok Gehlot ) ने कहा कि प्रदेश में Corona संक्रमितों की संख्या में वृद्धि के चलते निर्देश दिए हैं।

Corona Update : बॉलीवुड स्टार अक्षय कुमार हुए कोरोना पॉजिटिव

मुंबई | बॉलीवुड के सुपर स्टार अक्षय कुमार कोरोना सं​क्रमित हो गए हैं। उन्होंने रविवार को बताया कि वह कोरोना वायरस की जांच में पॉजिटिव पाए गए हैं और उन्होंने खुद को आइसोलेट कर लिया है। उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा, “मैं सभी को बताना चाहता हूं कि आज सुबह मेरा कोविड-19 टेस्ट पॉजिटिव आया है। सभी नियमों का पालन कर रहा हूं। मैंने तुरंत खुद को आइसोलेट कर लिया है। मैं होम क्वारंटाइन हूं और जरूरी चिकित्सकीय सुविधा ले रहा हूं। गौरतलब है कि कई फिल्मी सितारे कोविड की चपेट में आए हैं। यहां तक कि क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले सचिन तेंदुलकर भी कोविड संक्रमित पाए गए हैं। सलमान खान पर गंभीर आरोप, इस अभिनेत्री ने बताया धोखेबाज! इसके बाद अक्षय ने अपने ट्वीट में लिखा है, मेरे संपर्क में आए उन सभी लोगों से मेरा अनुरोध है कि वे अपनी जांच कराएं और अपना ख्याल रखें। जल्द ही काम पर लौटूंगा। आपको बता दें कि अक्षय कुमार ने हाल ही में अपनी अगली फिल्म ‘रामसेतु’ के लिए शूटिंग शुरू की थी। इसमें उनके साथ नुसरत भरूचा और जैकलीन फर्नाडीज हैं। फिल्म को अभिषेक शर्मा द्वारा निर्देशित किया जा रहा है। विश्व कप जीतने की 10वीं वर्षगांठ… Continue reading Corona Update : बॉलीवुड स्टार अक्षय कुमार हुए कोरोना पॉजिटिव

Uttar Pradesh Covaccine गड़बड़ : मोबाइल पर व्यस्त एएनएम ने एक साथ दो खुराक दे दी, Corona Vaccine लगवाते वक्त आपके साथ ऐसा हों तो रोकें

कानपुर | कोरोना की दो वैक्सीन (Covid Vaccine) अलग—अलग दी जानी चाहिए और उसके लिए टाइम लिमिट भी सरकार ने बढ़ाई है, लेकिन यूपी की एक नर्स ने मोबाइल (Uttar Pradesh Kanpur ANM on Mobile during vaccination) पर बातें करते हुए एक ही मरीज को एक साथ दो वैक्सीन लगा दी। सोशल मीडिया पर हमेशा व्यस्त रहना एक मरीज के लिए जान का सबब बन गया है। मामला कानपुर देहात जिले के अकबरपुर का है। वहां प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में एक महिला को कोविड-19 वैक्सीन की देने वाली एएनएम फोन कॉल पर इतना व्यस्त थीं कि उसने एक साथ कोविड के टीके की दो खुराक दे दी। मामले की जांच शुरू की गई है। जांच अधिकारी कानपुर देहात के मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओ) डॉ. राजेश कटियार ने कहा, अब से हर वैक्सीनेटर को लोगों को कोविड टीका लगाने से पहले अपना मोबाइल फोन जमा करने के लिए कहा गया है। आप भी कोरोना टीका लगवाते वक्त यह सावधानी बरतें और यदि स्टाफ का ध्यान कहीं और है तो उसे सचेत होने के लिए कहें। यह भी देखें : Corona Upadate: कई राज्यों में कोरोना का कहर हुआ यूं कि मडौली गांव के निवासी 50 वर्षीय कमलेश कुमारी पत्नी विपिन अपना… Continue reading Uttar Pradesh Covaccine गड़बड़ : मोबाइल पर व्यस्त एएनएम ने एक साथ दो खुराक दे दी, Corona Vaccine लगवाते वक्त आपके साथ ऐसा हों तो रोकें

जिस तकलीफ़ से घर लौटा हूं, अब फिर जाने की हिम्मत नहीं होगी’

श्रमिक स्पेशल ट्रेन के किराये को लेकर सरकार के विभिन्न दावों के बीच गुजरात से बिहार लौटे कामगारों का कहना है कि उन्होंने टिकट ख़ुद खरीदा था। उन्होंने यह भी बताया कि डेढ़ हज़ार किलोमीटर और 31 घंटे से ज़्यादा के इस सफ़र में उन्हें चौबीस घंटों के बाद खाना दिया गया। उमेश कुमार राय | योगेश गिरि 4 महीने से गुजरात के बिठलापुर में एक मेटल फैक्ट्री में काम कर रह रहे हैं।6 मई की सुबह उनके पास उड़ती हुई खबर आई कि बिरमगाम रेलवे स्टेशन से बिहार के लिए श्रमिक स्पेशल ट्रेन चलने वाली है।लगभग डेढ़ महीने से घर की चहारदीवारी में कैद योगेश ये खबर फौरन रजिस्ट्रेशन कराने के लिए बैग कंधे पर टांगकर निकल पड़े, लेकिन गुजरात से बिहार के क्वारंटीन सेंटर तक पहुंचने की उनकी यात्रा किसी बुरे सपने से कम नहीं रही, जिसे वह शायद ही कभी भूल पाएंगे। यह भी पढ़ें : बुद्धि जब कलियुग से पैदल हो! 25 वर्षीय योगेश बताते हैं, ‘सुबह ज्यों ही हमें खबर मिली, हम लोग बैग लेकर पास के ही एक स्कूल में पहुंच गए। इस स्कूल में कामगारों का पंजीयन हो रहा था। लोगों की लंबी कतार लगी हुई थी। मेरे खयाल में ढाई से तीन… Continue reading जिस तकलीफ़ से घर लौटा हूं, अब फिर जाने की हिम्मत नहीं होगी’

आशा, उम्मीद पर टिका है सब

मैं ‘उम्मीद’ पालती हूं। मेरा बस चलता तो मैं अपना नाम ‘होप’ ही रखती। उम्मीद पर ही मेरा जीवन है और थिरकता है। तभी मुझे अच्छा नहीं लगा जब इस अखबार के संपादकों ने कोविड-19 के बीच लोगों की तकलीफों पर खबरों, तस्वीरों और ग्राफिक्स के साथ अखबार की दसवीं साल गिरह मनाने का फैसला किया। मुझे लगा इससे तो तस्वीर और दुखभरी व निराशाजनक बनेगी। उम्मीद! एक बहुत ही खूबसूरत शब्द, एक विचार, एक स्वरूप। यह शब्द वह उत्प्रेरित, गतिवानऊर्जा में भरापूरा होता है, जिसका उपयोग वहीं कर सकता है, जो इस शब्द पर भरोसा करता है। उम्मीद आसानी से पैदा नहीं होती। उसका अहसास आसान नहीं है। आंखें बंद करके या ध्यान धरके आप इसे पैदा नहीं कर सकते। इसे आप अपने चॉकलेट या केक में नहीं भर सकते, आम के स्वाद में नहीं पा सकते। यह गहरा मामला है, जैसा कि एमिली डिकिंसन ने लिखा हैं- ‘उम्मीद’है पंख लिए हुए आत्मा में बसी-घुसी हुई और जो गाती है बिना शब्दों के और कभी जो नहीं रुकती। उम्मीद, आशा है आप अपने नाम की आत्मा में इसकी गुनगुनाहट सुन रहे हों बशर्ते ध्यान दिए हों! कुछ साल पहले तक उम्मीद शब्द का धड़ल्ले से प्रयोग था। यह राजनीतिक… Continue reading आशा, उम्मीद पर टिका है सब

और लोड करें