हरियाणा मंत्रिपरिषद की बैठक आज सायं छह बजे

हरियाणा मंत्रिपरिषद की बैठक मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर की अध्यक्षता में आज सांय छह बजे मुख्यमंत्री निवास पर आयोजित की जाएगी।

केंद्रीय मंत्रियों दफ्तर पहुंचे, काम शुरू किया

नई दिल्ली। कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए पूरे देश में लागू लॉकडाउन के दौरान अपने अपने घरों से काम कर रहे केंद्रीय मंत्रियों ने सोमवार से दफ्तर से कामकाज शुरू कर दिया है। केंद्रीय मंत्रियों के साथ भारत सरकार में संयुक्त सचिव स्तर से ऊपर के अधिकारियों ने भी अपने अपने कार्यालय में कामकाज संभाल लिया है। असल में शनिवार को प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से सभी मंत्रियों और वरिष्ठ अधिकारियों को दफ्तर से काम करने को कहा गया था। लगभग सारे केंद्रीय मंत्री और संयुक्त सचिव स्तर से ऊपर के अधिकारी सोमवार को 19 दिन बाद काम पर लौटे। सभी मंत्रालयों में एक तिहाई कर्मचारियों के साथ और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए काम शुरू हुआ। कर्मचारियों को रोटेशन के आधार पर दफ्तर में आने के लिए कहा गया है। लगभग सभी सरकारी कार्यालयों में मंत्रियों, अफसरों और कर्मचारियों के प्रवेश करने से पहले थर्मल स्कैनिंग की गई। लगभग सभी सभी मंत्री मास्क पहने नजर आए। मंत्रालयों और कार्यालय में प्रवेश करने से पहले सभी गाड़ियों को भी सैनिटाइज किया गया। जानकार सूत्रों के मुताबिक अधिकारियों से कहा गया है कि लॉकडाउन खत्म होने से पहले अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के उपायों पर विचार… Continue reading केंद्रीय मंत्रियों दफ्तर पहुंचे, काम शुरू किया

केंद्रीय मंत्रालयों में काम शुरू होगा!

नई दिल्ली। कोरोना वायरस से लड़ने के लिए देश भर में लागू लॉकडाउन को दो हफ्ते और बढ़ाने की खबरों के बीच बताया जा रहा है कि केंद्रीय मंत्रालयों में कामकाज शुरू हो सकता है। जानकार सूत्रों के मुताबिक केंद्र सरकार के सभी मंत्रियों से कहा गया है कि वे सोमवार से अपने-अपने दफ्तर जाना शुरू कर दें। बताया जा रहा है कि प्रधानमंत्री कार्यालय, पीएमओ की ओर से यह निर्देश दिया गया है। जानकार सूत्रों के अनुसार पीएमओ की ओर से केंद्र सरकार के सभी मंत्रियों से कहा गया है कि वे सोमवार से अपने-अपने कार्यालयों में जाना शुरू कर दें। सभी मंत्री दफ्तर जाकर काम करेंगे। ऑफिस में काम करते समय सोशल डिस्टेसिंग का ध्यान रखने के लिए कहा गया है। बताया जा रहा है कि अनुसार संयुक्त सचिव से ऊपर के स्तर के सभी अधिकारियों को दफ्तर जाने के लिए कहा गया है। नीचे के स्तर के कर्मचारी बारी-बारी से काम पर आएंगे। अभी तक सारे मंत्री और अधिकारी वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए कामकाज कर रहे हैं।

मध्य प्रदेश में भी सीएए विरोधी प्रस्ताव पास

मध्यप्रदेश राज्य मंत्रिपरिषद ने आज यहां नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के विरोध में प्रस्ताव पारित किया।
आधिकारिक सूत्रों के अनुसार मुख्यमंत्री कमलनाथ

भूपेश ने सीएए संसोधन वापस लेने का प्रस्ताव किया पारित

छत्तीसगढ़ मंत्रि परिषद ने आज प्रस्ताव पारित कर नागरिकता (संशोधन) अधिनियम 2019 (सी.ए.ए.) में किए गए संशोधन को आम जनता में देखे जा रहे विरोध के दृष्टिगत

मप्र में अर्बन डेवलपमेंट इंस्टीट्यूट बनेगा

भोपाल। मध्यप्रदेश में शहरी विकास संस्थान (अर्बन डेवलपमेंट इंस्टीट्यूट) की स्थापना की जाएगी। यह फैसला मुख्यमंत्री कमल नाथ की अध्यक्षता में हुई मंत्रिपरिषद की बैठक में लिया गया। राज्य के जनसंपर्क मंत्री पी.सी. शर्मा ने मंत्रिपरिषद की गुरुवार को हुई बैठक में लिए गए फैसलों का ब्यौरा देते हुए बताया कि मुख्यमंत्री कमल नाथ की अध्यक्षता में विधानसभा में हुई मंत्रिपरिषद की बैठक में शहरी विकास संस्थान (अर्बन डेव्हलपमेंट इंस्टीट्यूट) भोपाल में स्थापित करने की मंजूरी दी गई। संस्थान में शहरीकरण के सभी पहलुओं तथा चुनौतियों से संबंधित ज्ञान और हुनर सीखने तथा बहुउद्देश्यी उत्कृष्ट अकादमिक प्रशिक्षण दिया जाएगा। मंत्रिपरिषद ने मुख्यमंत्री शहरी अधोसंरचना विकास योजना को निरंतर रखते हुए योजना के तृतीय चरण को लागू करने का निर्णय लिया। इसके लिए राज्य शासन ने चार वर्षों के लिए 536 करोड़ रुपये मंजूर किए। योजना में राज्य सरकार द्वारा नगरीय निकायों को 20 प्रतिशत अनुदान राशि तथा 80 प्रतिशत राशि ऋण प्राप्त कर उपलब्ध कराई जाएगी। योजना के तहत नगरीय निकायों को मध्यप्रदेश अर्बन डेव्हपलमेंट कंपनी द्वारा वित्तीय, शासकीय संस्थाओं, राष्ट्रीयकृत, अनुसूचित अथवा निजी बैंकों व हुडको से ऋण प्राप्त कर उपलब्ध करवाया जाएगा। उन्होंने बताया, मंत्रिपरिषद ने वित्तीय वर्ष 2017-18 एवं आगामी वर्षों के लिए मुख्यमंत्री स्वेच्छा अनुदान मद… Continue reading मप्र में अर्बन डेवलपमेंट इंस्टीट्यूट बनेगा

मंत्रिपरिषद ने दी भोपाल में शहरी विकास संस्थान की स्थापना की मंजूरी

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ की अध्यक्षता में विधानसभा में हुई मंत्रिपरिषद की बैठक में शहरी विकास संस्थान (अर्बन डेव्हलपमेंट इंस्टीट्यूट)

प्रधानमंत्री मोदी ने फिर बुलाई मंत्रिपरिषद की बैठक

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक बार फिर मंत्रिपरिषद और नौकरशाहों की बैठक बुलाई है। चार जनवरी को होने वाली इस बैठक में शिक्षा और स्वास्थ्य सेवाओं से जुड़ी कार्य योजनाओं पर चर्चा होगी। साथ ही सामाजिक क्षेत्र के कार्यो की भी समीक्षा की जाएगी। सूत्रों के मुताबिक, बैठक में विभागों के पांच साल की कार्ययोजना तैयार की जाएगी। खासतौर पर सचिवों के एक समूह द्वारा बनाई गई ‘विजन ड्राफ्ट’ पर चर्चा होगी, जो इन विभागों के कामकाज की रूपरेखा तय करेगी। सूत्रों के मुताबिक, पिछली बार की तरह ही यह बैठक भी दिनभर चलेगी। बैठक में सामाजिक क्षेत्रों के ड्राफ्ट विजन पर चर्चा होगी, जिसमें शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्र में सरकारी कार्ययोजना पर विशेष तौर पर विचार किया जाएगा। बैठक में आयुष्मान योजना की समीक्षा की जाएगी। ध्यान रहे कि केंद्र सरकार ने इस योजना के तहत दस करोड़ परिवार के 50 लाख लोगों तक फायदा पहुंचाने का लक्ष्य रखा था। बैठक में नई शिक्षा नीति और मानव संसाधन मंत्रालय की 11 सूत्री कार्ययोजना का भी मूल्यांकन किया जाएगा। इसे भी पढ़ें :  लालू ने जातिगत जनगणना की मांग उठाई सूत्रों के मुताबिक, सरकार एससी/एएसटी और ओबीसी वर्ग के लिए कुछ नई योजनाएं शुरू कर सकती है।… Continue reading प्रधानमंत्री मोदी ने फिर बुलाई मंत्रिपरिषद की बैठक

हरियाणा मंत्रिपरिषद में शामिल मंत्रियों में विभागों का बंटवारा

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने राज्य की भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) और जननायक जनता पार्टी(जजपा) गठबंधन सरकार के वीरवार को किये गये

किसानों की धान की फसल का एक-एक दाना खरीदेंगे: खट्टर

चंडीगढ़। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा है कि किसानों की धान की फसल का एक-एक दाना खरीदा जाएगा। खट्टर ने नई दिल्ली में मंत्रिपरिषद की बैठक के बाद मीडिया के सवालों के जबाव में यह बात कही। उन्होंने कहा कि किसानों के हित सर्वोपरि हैं। किसानों को किसी भी प्रकार की कोई समस्या नहीं होने दी जाएगी। किसानों की धान की फसल का एक-एक दाना खरीदा जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में एचटैट परीक्षा (हरियाणा अध्यापक पात्रता परीक्षा) के आयोजन के लिए स्थापित किए जाने वाले परीक्षा केंद्र अब 50 किलोमीटर की दूरी में ही स्थापित किए जाएंगे तथा इस सम्बंध में हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड ने सहमति दे दी है। परीक्षा केंद अब समीपवर्ती जिलों में स्थापित किए जाएंगे। इस दौरान हरियाणा के उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला भी मौजूद रहे।

और लोड करें