आप देशभक्त बने रहना, भले लोग भूखे मर जाएं ….

नई दिल्ली | भारत में लोगों की आर्थिक स्थिति दिन पर दिन बदतर होते जा रही है. 2021 की ग्लोबल हंगर इंडेक्स की रिपोर्ट के अनुसार भारत अब 94वें स्थान पर आ गया है. यहां यह स्पष्ट कर दूं कि मोदी सरकार के सत्ता संभालने के समय 2014 में भारत विश्व में 55वें स्थान पर था. हालांकि इस रिपोर्ट में ऐसा नहीं है कि सब कुछ दुखी करने वाला है इस रिपोर्ट में एक अच्छी बात हुई है और वह यह है कि 2019 में भारत 102 वें स्थान पर था. इसका अर्थ यह हुआ कि 2019 से लेकर 2020 तक में भारत ने अपनी स्थिति कुछ सुधारी है. लेकिन 117 देशों में से 94 नंबर पर होना कितनी अच्छी बात है या आप खुद समझ सकते हैं. लगातार देखी जा रही है गिरावट हंगर इंडेक्स रिपोर्ट के अनुसार 2014 से 2020 तक भारत में स्थिति बद से बदतर होती गई है. भारत 2015 में 55 से 80 वें पायदान पर पहुंच गया था. 2016 में 97 , 2017 में 100, 2018 में 103, 2019 में 102 और 2020 में भारत को 94वा स्थान मिला है. माना जा रहा है कि कोरोना काल में देश की अर्थव्यवस्था का जो हाल… Continue reading आप देशभक्त बने रहना, भले लोग भूखे मर जाएं ….

केंद्र का प्रोत्साहन पैकेज कठोर आघात है : खड़गे

कांग्रेस नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कोविड-19 से बुरी तरह प्रभावित देश की अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए केंद्र सरकार द्वारा घोषित आर्थिक पैकेज को सोमवार को कठोर आघात बताते हुए सरकार से आग्रह किया

सांप्रदायिक राजनीति छोड़ कर अर्थ व्यवस्था पर काम करना चाहिए: शिवसेना

शिवसेना ने कोरोना वायरस रोकने के लिए लगे लॉकडाउन का देश की अर्थव्यवस्था पर पड़ने वाले दीर्घकालिक असर पर चिंता व्यक्त करते हुए शनिवार को कहा कि सभी राजनीतिक दलों को सांप्रदायिक राजनीति छोड़ कर अर्थव्यवस्था को वापस पटरी पर लाने के लिए काम करना चाहिए।

और लोड करें