kishori-yojna
सैन्य बलों को मिले कई आपात अधिकार

नई दिल्ली। कोरोना वायरस से निपटने में सशस्त्र बलों को शामिल करने के बाद सरकार ने उन्हें कई आपात अधिकार दिए हैं। उन्हें वित्तीय अधिकार भी दिए गए हैं ताकि वे जरूरी सामानों की खरीद कर सकें। केंद्र सरकार ने सशस्त्र बलों को कोविड-19 मरीजों के लिए क्वरैंटाइन सेंटर बनाने के लिए आपात वित्तीय शक्तियां दी हैं। उन्हें आपात चिकित्सा जिम्मेदारी निभाने की शक्तियां भी दी गई हैं। इस तरह के अधिकार मिलने से सेना कोविड-19 से जुड़े केंद्रों का संचालन कर पाएगी और जरूरी उपकरण खरीदने और अन्य संसाधन जुटाने का काम तेजी से कर सकेगी। इन अधिकारों से कमांडरों को कोविड अस्पताल स्थापित करने और संचालित करने, क्वरैंटाइन सेंटर का परिचालन करने या बिना किसी मंजूरी के कोविड से जुड़े उपकरणों की खरीद की छूट मिल जाएगी। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शुक्रवार को इसकी जानकारी दी। राजनाथ सिंह ने एक ट्विट में कहा- सशस्त्र सेनाओं की ताकत बढ़ाने और कोविड-19 के खिलाफ देश भर लड़ाई में उनके प्रयासों को मजबूती देने के लिए विशेष प्रावधानों का इस्तेमाल किया गया और सशस्त्र सेनाओं को आपात वित्तीय शक्तियों का अधिकार दिया गया है। इसके तहत कार्प्स कमांडर या एरिया कमांडर को हर मामले में 50 लाख रुपए तक की… Continue reading सैन्य बलों को मिले कई आपात अधिकार

महामारी में मदद के लिए उतरी सेना

नई दिल्ली। कोरोना वायरस के तेजी से बढ़ते संक्रमण के बीच सेना की मदद लेने की मांग कई तरफ से उठ रही थी। इस बीच चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ यानी सीडीएस जनरल बिपिन रावत ने सोमवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की और प्रधानमंत्री को महामारी से निपटने के लिए सेना की तैयारियों और उसके अभियानों की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि सेना के रिटायर कर्मियों को महामारी से जुड़े कामों में मदद के लिए वापस काम पर बुलाया गया है। सीडीएस ने बताया कि भारतीय वायु सेन के कार्गो विमान देश के कई हिस्सों में ऑक्सीजन की आपूर्ति करने में मदद कर रहे हैं। सेना ने अपने अस्पतालों में भी आम लोगों के इलाज का बंदोबस्त किया है। जनरल रावत ने प्रधानमंत्री को बताया कि सेना ने पिछले दो साल में रिटायर हुए या समय से पहले रिटायरमेंट लेने वाले मेडिकल कर्मचारियों को सेवा देने के लिए वापस बुलाया है। वापस बुलाए जा रहे मेडिकल कर्मचारियों की तैनाती दो तरह से की जा रही है। इन्हें कोविड केंद्रों में तैनात किया जा रहा है, या फिर जहां ये रहते हैं वहीं उनसे सेवा देने को कहा गया है। जनरल रावत की मुलाकात के बाद प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर… Continue reading महामारी में मदद के लिए उतरी सेना

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह का ऐलान! COVID 19 महामारी से निपटने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ेंगी सेना और रक्षा संस्थान

नई दिल्ली। भारत में कोरोना महामारी (Coronavirus Cases in India) के तांडव को देखते हुए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने आज शनिवार को कहा कि सार्वजनिक क्षेत्र के रक्षा उपक्रमों और आयुध कारखाना बोर्ड के सभी चिकित्सा प्रतिष्ठानों को कोरोना वायरस (COVID 19) से संक्रमित आम लोगों को स्वास्थ्य सेवाएं प्रदान करने की अनुमति दे दी गई है. सिंह ने यह भी कहा कि सशस्त्र बल और रक्षा मंत्रालय महामारी से निपटने के लिये नागरिक प्रशासनों को हर संभव सहायता उपलब्ध कराने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे. यह भी पढ़ें:-Nitin Patel Corona Positive : कोरोना पाॅजिटिव हुए गुजरात के डिप्टी सीएम नितिन पटेल, कई कार्यक्रमों में Amit Shah के साथ आए नजर  राजनाथ सिंह ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से भारत में कोरोना वायरस संक्रमण की दूसरी लहर के विरूद्ध लड़ाई में सहयोग कर रहीं मंत्रालय की विभिन्न इकाइयों के प्रयासों की समीक्षा बैठक की. इसमें प्रमुख रक्षा अध्यक्ष जनरल बिपिन रावत, सेना प्रमुख जनरल एम एम नरवणे, नौसेना प्रमुख एडमिरल करमबीर सिंह और रक्षा एवं अनुसंधान विकास संगठन के अध्यक्ष जी सतीश रेड्डी तथा अन्य अधिकारी शामिल हुए. उन्होंने ट्वीट कर इसकी जानकारी दी. रक्षा मंत्री ने जानकारी देते हुए कहा कि कोरोना संक्रमितों के इलाज में… Continue reading रक्षामंत्री राजनाथ सिंह का ऐलान! COVID 19 महामारी से निपटने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ेंगी सेना और रक्षा संस्थान

सरकार की दो महत्वपूर्ण घोषणाएं

भारत सरकार ने कल दो महत्वपूर्ण घोषणाएं की हैं। एक तो देश की सुरक्षा से संबंधित है और दूसरी का संबंध है, देश के किसानों से

और लोड करें