दिल्ली के ये बतोलेबाज

पिछले कुछ दिनों से जिस तरह से अपने नेताओ को सुना है उसे सुनकर कानपुर व उत्तर प्रदेश की बहुत याद आने लगी है।