DelhiViolence

आंसुओं की टपटप और बांसुरी-वादक

दंगों का एक समाजशास्त्र होता है, एक अर्थशास्त्र होता है और एक राजनीतिशास्त्र भी होता है। दंगे सामाजिक नफ़रत का शस्त्र हैं, आर्थिक गै़र-बराबरी का शस्त्र हैं और राजनीतिक जनाधार का भी शस्त्र हैं। दंगे मैदानों में कूदने से...

दिल्ली का बनना जंग-ए-मैदान

नई दिल्ली। लाल अक्षरों में लिखी गाली और नारा बतला दे रहे थे कि आबोहवा में खौल रही हैनफरत! इस्लाम की.... के ठिक साथ दिवाल पर लिखा था‘नाथूराम गोड़से अमर रहे’। मौजपुर के मुख्य चौक सेलगने लगा था मानो...
- Advertisement -spot_img

Latest News

Rajasthan: सोने की अंगूठी दिखा लूट ले गए 5 करोड़ से ज्यादा का सोना, फिल्मी स्टाइल में पुलिस भी पड़ गई पीछे और…

जयपुर | 5 Crore Rs Gold Robbed in Churu : राजस्थान में लुटेरों ने 5 करोड़ से ज्यादा रुपयों...
- Advertisement -spot_img