Deputy Chairman Harivansh

कृषि विधेयकों को राष्ट्रपति से मंजूरी

विपक्षी पार्टियों की मांग और देश के कई हिस्सों में चल रहे किसान आंदोलन की अनदेखी करते हुए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने विवादित कृषि विधेयकों को मंजूरी दे दी है। राष्ट्रपति कोविंद ने तीन कृषि विधेयकों पर दस्तखत कर दिए है।

कई राज्यों में दिखा बंद का असर

तीन विवादित कृषि विधेयकों के विरोध में देश भर के किसान संगठनों की ओर से आयोजित भारत बंद का असर कई राज्यों में दिखा है। शुक्रवार को पंजाब, हरियाणा, पश्चिमी उत्तर प्रदेश आदि इलाकों में बंद का जबरदस्त असर दिखा।

आज किसानों का भारत बंद

कृषि से जुड़े तीन विवादित विधेयकों को ध्वनि मत से पास कराए जाने के मसले पर संसद में कई दिनों तक चली राजनीति अब सड़कों पर आ गई है। देश भर के किसान संगठनों ने शुक्रवार को भारत बंद का आह्वान किया है।

संसदीय समितियां और कृषि विधेयक

मोदी सरकार ने जिस तरह से विपक्ष की परवाह न करते हुए तीनो विवादास्पद कृषि विधेयक को संसद के दोनों सदनो में पारित करवाया है उससे कमोबेश देश में कई जगह सड़को पर विरोध शुरू हो गया है।

फिर संसद की जरूरत क्या है?

संसद का मॉनसून सत्र महज 18 दिन का होना था और वह भी दस दिन में ही खत्म कर दिया गया। सत्र चला भी तो उसमें कई संसदीय गतिविधियों को सीमित कर दिया गया। सत्र के दौरान मोटे तौर पर सिर्फ सरकारी कामकाज हुआ।

विपक्ष ने राष्ट्रपति से की शिकायत

विवादित कृषि विधेयकों को लेकर विपक्षी पार्टियों के सांसदों ने बुधवार को संसद भवन परिसर में मोर्चा निकाला। उसके बाद विपक्षी पार्टियों का एक प्रतिनिधिमंडल राष्ट्रपति से मिला और उनसे अनुरोध किया कि वे कृषि संबंधी विधेयकों पर दस्तखत नहीं करें। विपक्षी पार्टियों ने राष्ट्रपति से कहा कि राज्यसभा में ध्वनि मत से पास कराए गए इन विधेयकों पर सदन में दोबारा वोटिंग होनी चाहिए।

राज्यसभा में बनी खराब मिसाल

इन दिनों देश में जिस तरह का राजकाज चल रहा है, संसदीय परंपराओं की जिस तरह से अनदेखी की जा रही है, राजनीतिक फायदे के लिए नियमों-कानूनों का जैसा इस्तेमाल हो रहा है और संवैधानिक संस्थाओं से जैसे मनमाने तरीके से काम लिया जा रहा है उसे देखते हुए किसी भी बात पर हैरानी नहीं होनी चाहिए।

राज्यसभा में जो कुछ हुआ, गलत हुआ : नीतीश

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राज्यसभा में कृषि विधेयकों के पेश करने के बाद विपक्षी सदस्यों द्वारा उपसभापति हरिवंश के साथ किए गए व्यवहार की निंदा करते हुए कहा कि राज्यसभा में कल जो भी करने की कोशिश की गई, वह बुरा हुआ।
- Advertisement -spot_img

Latest News

Delhi में सैलून, जिम और साप्ताहिक बाजारों के खुलने को लेकर आई राहतभरी खबर

नई दिल्ली | देश की राजधानी दिल्लीवासियों के लिए अच्छी खबर सामने आ रही है। लंबे समय से कोरोना...
- Advertisement -spot_img