दुनिया में सब तरफ परिवारवाद

तानाशाही और राजशाही वाली व्यवस्था में तो खैर पीढ़ी दर पीढ़ी सत्ता सुख भोगने का रिवाज रहा है, लोकतांत्रिक व्यवस्था वाले देशों में भी परिवारवाद समय समय पर रंग दिखाता रहा है।