लोकतांत्रिक सुधारों की जरूरत

महाराष्ट्र के घटनाक्रम ने भारतीय लोकतांत्रिक व्यवस्था की कमजोरियों को एक बार फिर उजागर किया है। ये कमजोरियां बार बार उजागर होती हैं। कभी महाराष्ट्र में, कभी कर्नाटक में तो कभी गोवा और मणिपुर में। ऐसा नहीं है कि यह पिछले पांच या दस साल की परिघटना है।

चिली में राष्ट्रपति के खिलाफ सबसे बड़ा प्रदर्शन

सैंटियागो। चिली के राष्ट्रपति सेबेस्टियन पिनेरा के इस्तीफे और आर्थिक सुधारों की मांग के साथ शुक्रवार को 10 लाख से अधिक लोग सड़कों पर उतर आए। इसे अब तक का सबसे बड़ा प्रदर्शन कहा जा रहा है। यहां पिछले एक सप्ताह से हिंसक प्रदर्शन जारी हैं। संबंधित खबरें: चिली में भड़के दंगों में मरने वालों… Continue reading चिली में राष्ट्रपति के खिलाफ सबसे बड़ा प्रदर्शन