Earth Day 2021 : अभिनेत्री दीया मिर्जा ने कहा, पर्यावरण में बदलाव के लिए अधिकारी और उद्योग जिम्मेदार

मुंबई | अभिनेत्री दीया मिर्जा (Dia Mirza) पर्यावरण (Environment) के मुद्दों पर हमेशा मुखर रही हैं। आज पृथ्वी दिवस (Earth Day) के अवसर पर उन्होंने कहा कि हमें पर्यावरण में बदलाव के लिए अधिकारियों को जिम्मेदार ठहराना चाहिए, इसके अलावा व्यक्तिगत मोर्चे पर भी प्रयास करने चाहिए। उन्होंने कहा, अब हमें पहले की तुलना में अधिक गति लाने की जरूरत है। बेशक व्यक्तिगत व्यवहार परिवर्तन से फर्क पड़ेगा, लेकिन अधिक स्थायी जीवन शैली का नेतृत्व करने के लिए सीखने के साथ-साथ हमें सरकारों, उद्योग और नागरिक समाज को जवाबदेह बनाने की आवश्यकता है। वैज्ञानिक तथ्यों का प्रसार जो अब पहले से कहीं ज्यादा है, हमें उसकी मदद लेनी चाहिए। दीया मिर्जा (Dia Mirza) ने अब लोगों से आवाज उठाने का अनुरोध किया। उन्होंने कहा, हमें प्रकृति/वन्यजीवों की रक्षा के लिए आंदोलनों में शामिल होना चाहिए और उन कानूनों की मांग करनी चाहिए जो जरूरी बदलावों को सुनिश्चित करेंगे। हमें और दुनिया के हर एक नागरिक को पहले जैसी स्थिति बहाल करने की दिशा में काम करने की जरूरत है। इसे भी पढ़ें – Corona Update : कोरोना से कोहराम! देश में नए संक्रमित 24 घंटे में 3 लाख 15 हजार के पार, 2100 से ज्यादा मौतें जब राजनीतिक, व्यापारिक और पर्यावरणीय… Continue reading Earth Day 2021 : अभिनेत्री दीया मिर्जा ने कहा, पर्यावरण में बदलाव के लिए अधिकारी और उद्योग जिम्मेदार

आईआईटी-बीएचयू (IIT-BHU) ने राख का उपयोग करके पानी से विषैले पदार्थ निकालने की तकनीक विकसित की

आईआईटी-बीएचयू (IIT-BHU) के वैज्ञानिकों ने सागवान (Teak) और नीम (Neem) की लकड़ी से बनी राख का उपयोग करके पानी से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने की प्रणाली विकसित की है।

पर्यावरण के दृष्टिकोण से हाइड्रो पावर और सोलर एनर्जी उपयोगी : नीतीश

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आज यहां कहा कि पर्यावरण के दृष्टिकोण से हाइड्रो पावर और सोलर एनर्जी उपयोगी है। मुख्यमंत्री के समक्ष उर्जा विभाग द्वारा डगमारा मल्टीपर्पस हाइड्रो पावर प्रोजेक्ट से संबंधित प्रस्तुतिकरण दिया गया।

पर्यावरण के प्रति लापरवाह

हाल में सुप्रीम कोर्ट ने थर्मल पावर प्लांट्स के संगठन एसोसिएशन ऑफ पावर प्रोड्यूसर्स (एपीपी) की उस याचिका को खारिज कर दिया, जिसमें बिजलीघरों को सल्फर नियंत्रण टेक्नोलॉजी लगाने की समयसीमा 2024 तक बढ़ाने की मांग की गई थी।

विश्व को पर्यावरण पर नजरिया बदलने की जरूरत: गुटेरेस

संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने पूरी दुनिया को पर्यावरण पर नजरिया बदलने के लिए कहा है। समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने 5 जून को विश्व पर्यावरण दिवस पर

लॉकडाउन से शहरों में 50 फीसदी कम हुआ प्रदूषण

कोरोना वायरस ‘कोविड-19’ महामारी के मद्देनजर किये गये लॉकडाउन से इस महामारी पर काफी हद तक ब्रेक लगाने में कामयाबी के साथ ही पर्यावरण भी काफी स्वच्छ हुआ है।

आम आदमी की सेहत के लिए पहला ‘ग्रीन पब्लिक हेल्थ कॉन्फ्रेंस’

पर्यावरण को ठीक कर योग के जरिए आम आदमी की सेहत को ठीक करने के लिए अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान में पहला पब्लिक हेल्थ कॉन्फ्रेंस कल से दो मार्च तक होगा

पर्यावरण छति के बिना विकास कर रहा है भारत: मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज कहा कि भारत ने पर्यावरण संरक्षण के लिए अनेक कदम उठाये हैं और पर्यावरण को नुकसान पहुंचाये बिना विकास सुनिश्चित किया है।

ग्रेटा थनबर्ग ने की फेडरर की आलोचना

आस्ट्रेलिया के जंगलों में लगी आग और पर्यावरण की मौजूदा स्थिति की चिंताओं के बीच स्विस मास्टर रोजर फेडरर को प्रख्यात पर्यावरणविद ग्रेटा थनबर्ग से कड़ी आलोचना का सामना करना पड़ा है।

अमीर गरीब सभी देश जलवायु आपदा से बेहाल

मैड्रिड। जलवायु परिवर्तन और पृथ्वी के तापमान बढ़ने की जो चेतावनी लगातार वैज्ञानिक दे रहे हैं अब उसका असर दिखने लगा है। दुनिया के अमीर देश हों या गरीब, जलवायु परिवर्तन से आने वाली आपदा से कोई नहीं बचा है। जापान, फिलीपींस, जर्मनी उन शीर्ष देशों में रहे हैं जहां पिछले साल प्रतिकूल मौसम से सबसे अधिक नुकसान हुआ। मैडागास्कर और भारत नुकसान के मामले में इन देशो से ठीक पीछे हैं। यह जानकारी शोधकर्ताओं ने बुधवार को दी। पर्यावरण थिंकटैंक जर्मनवाच की ओर से जारी रिपोर्ट के मुताबिक जापान ने पिछले साल बारिश के बाद बाढ़, दो बार गर्मी और गत 25 साल में सबसे विनाशकारी तूफान का सामना किया। इसकी वजह से पूरे देश में सैकड़ों लोगों की मौत हुई, हजारों लोग बेघर हुए और करीब 35 अरब डॉलर का नुकसान हुआ। अद्यतन वैश्विक जलवायु खतरा सूचकांक के मुताबिक श्रेणी-5 का मैंगहट तूफान साल का सबसे शक्तिशाली चक्रवाती तूफान रहा जो सितंबर महीने में उत्तरी फिलीपींस से होकर गुजरा और इसकी वजह से करीब ढाई लाख लोगों को विस्थापित होना पड़ा और प्राण घातक भूस्खलन की घटनाएं हुई। जर्मनी को गत वर्ष दीर्घकालिक गर्मी की तपिश और सूखे का सामना करना पड़ा और औसत तापमान करीब तीन डिग्री… Continue reading अमीर गरीब सभी देश जलवायु आपदा से बेहाल

बेला हदीद ने दान में दिए 600 पौधे

सुपरमॉडल बेला हदीद ने पर्यावरण के प्रति अपनी जिम्मेदारियों को निभाते हुए 600 पौधे दान करने का निर्णय लिया है। यह फैसला उन्होंने अपने मॉडलिंग करियर को आगे बढ़ाने के लिए की गई विमान यात्राओं से उत्सर्जित कार्बन डाईऑक्साइड की भरपाई के लिए किया है।

पर्यावरणः ज्यों-ज्यों दवा की, मर्ज़ बढ़ता गया

उत्तर भारत दमघोंटू गैस चैंबर में परिवर्तित हो गया है। इससे बचने के लिए स्थानीय लोग मास्क सहित विभिन्न-विभिन्न माध्यमों का उपयोग कर रहे है। इस भयावह स्थिति के लिए मुख्य रूप से पंजाब, हरियाणा और उत्तरप्रदेश में किसानों द्वारा जलाई जा रही धान पराली और उससे निकलने वाले धुंए को जिम्मेदार ठहराया जा रहा है।

वायु प्रदूषण से गिर रहा पर्यावरण का स्तर: रोशनी नादर

नई दिल्ली। एचसीएल टेक्नॉलोजी की वाइस चेयरपर्सन रोशनी नादर मल्होत्रा का कहना है कि पर्यावरण के गिरते स्तर का सीधा प्रभाव लोगों पर पड़ रहा है और इसका जीता जागता उदाहरण दिल्ली की वायु गुणवत्ता है। मल्होत्रा 930 करोड़ डॉलर के संगठन का हिस्सा होने के साथ ही द हेबिटेस्ट ट्रस्ट की संस्थापक और ट्रस्टी भी हैं। उन्होंने कहा, हमें तत्काल हमारे बचे हुए जंगलों और हरे आवरण वाले वेटलैंड को बचाने की जरूरत है, क्योंकि यही हमारे हवा को सांस लेने लायक बनाते हैं। उन्होंने आगे कहा, 130 करोड़ लोगों की जनसंख्या और पानी की सुविधा उपलब्ध कराने, स्वास्थ्य देखभाल और शिक्षा तक पहुंच प्रदान करने जैसे मुद्दों के आगे पर्यावरण संरक्षण अक्सर पीछे रह जाता है। द हेबिटेस्ट ट्रस्ट के जरिए मल्होत्रा कम लोकप्रिय प्रजातियों और स्थानों की ओर ध्यान आकर्षित करने पर जोर देंगी, जिन्हें तत्काल संरक्षण की जरूरत है। वहीं पर्यावरण संरक्षण के लिए इंस्टीट्यूशनल समर्थन को लेकर उन्होंने कहा कि समर्पित संरक्षणवादी देशभर में महत्वपूर्ण काम कर रहे हैं, जिसके बारे में कुछ लोग ही जानते हैं, या वो भी नहीं। उन्होंने कहा, ऐसे संरक्षणवादियों के लिए संसाधनों की कमी सबसे बड़ी चुनौती है। द हैबिट्स ट्रस्ट ग्रांट्स के माध्यम से हम जिन चीजों को… Continue reading वायु प्रदूषण से गिर रहा पर्यावरण का स्तर: रोशनी नादर

हिम तेंदुआ की संख्या दो गुना करने का लक्ष्य: जावड़ेकर

नई दिल्ली। पयार्वरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने देश में बाघों की संख्या में इजाफे के लिए बाघ संरक्षण अभियान की सफलता की तर्ज पर हिम तेंदुओं की संख्या बढ़ाने के लिए नेपाल, मंगोलिया और रूस सहित अन्य देशों के साथ मिल कर शुरु किए गए अभियान के तहत, अगले एक दशक में इस प्राणी की संख्या दो गुना तक बढ़ाने की प्रतिबद्धता व्यक्त की। जावड़ेकर ने बुधवार को हिम तेंदुआ दिवस के मौके पर बफीर्ले पर्वतीय क्षेत्रों में पाये जाने वाले इस तेंदुये के संरक्षण और संवर्द्धन के लिए वैश्विक स्तर पर साझा कार्यक्रम (जीएसएलईपी) की शुरुआत करते हुए कहा, 20 साल पहले बाघ की गणना करना एक कठिन काम माना जाता था। ये खबर भी पढ़ेः भाजपा-शिवसेना के लिए देश विकास में सर्वोपरि: जावड़ेकर  लेकिन भारत ने इसे संभव कर दिखाते हुये देश में प्रत्येक बाघ को गणना में शामिल कर लिया है। इस साल भारत में बाघों की संख्या 2976 हो गयी है। यह दुनिया में बाघों की कुल आबादी का 77 प्रतिशत है। उन्होंने कहा कि हिम तेंदुआ पाये जाने वाले क्षेत्रों में शामिल भारत, नेपाल, रूस, मंगोलिया और किर्गिस्तान सहित अन्य देशों की साझा पहल पर हिम तेंदुओं की गणना के लिये… Continue reading हिम तेंदुआ की संख्या दो गुना करने का लक्ष्य: जावड़ेकर

और लोड करें