क्षत्रपों की तीसरी पीढ़ी का समय

प्रधानमंत्री और उनकी पार्टी कांग्रेस के वंशवाद को बड़ा मुद्दा बनाते रहे हैं। उनके लिए वंशवाद का मतलब गांधी-नेहरू परिवार है, जिसकी पांचवीं पीढ़ी के राहुल और प्रियंका राजनीति कर रहे हैं। इनके अलावा पांच पीढ़ी से राजनीति करने वाले परिवार गिने-चुने हैं। पिछले तीन-चार दशक में देश में जो प्रादेशिक क्षत्रप उभरे और उनकी… Continue reading क्षत्रपों की तीसरी पीढ़ी का समय

जो परिवारवाद से ऊपर नहीं उठ रहे, वे जनता का भला क्या करेंगे : स्वतंत्र देव

भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने विपक्षी दलों पर निशाना साधा और कहा कि जो दल परिवारवाद से ऊपर नहीं उठ पा रहे वे जनता का भला क्या सोचेंगे।

सियासत में परिवारवाद संवर्धन चिरस्थायी मुद्दा…!

मध्यप्रदेश की विधानसभा में चुनकर पहुंचे बहुत सारे ऐसे विधायक हैं और पूर्व विधायक हैं जिनका खासा राजनीतिक परिवार रहा फिर चाहे वो सियासत वाला परिवार हो या रियासत यानी

कांग्रेस में हमेशा परिवारवाद हावी रहा: नरोत्तम

मध्यप्रदेश के गृह मंत्री डॉ नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि कांग्रेस में नेतृत्व के सवाल पर हमेशा ही परिवारवाद हावी रहा है। डाॅ मिश्रा ने ट्वीट कर कहा है

राजनीतिक दलों को सबक सिखा गया बिहार उपचुनाव

बिहार में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव का ‘सेमीफाइनल’ माने जाने वाले उपचुनाव के नतीजे ने न केवल परिवारवाद को काफी हद तक नकार दिया, बल्कि सत्ताधारी गठबंधन, विपक्षी दल के महागठबंधन और सभी राजनीतिक दलों को भी कई सबक दे गया।