UP: 1,000 रुपये के जुर्माने पर भी व्यक्ति ने नहीं लगाया Mask, अगले दिन फिर कटा 10,000 का चालान

देवरिया| देश में कोरोना (Corona) का प्रकोप काफी फैला हुआ है और कोरोना (Corona) के मामलें बढ़ते ही जा रहे है कोरोना (Corona) को लेकर पुलिस और प्रशासन ने लोगों से मास्क (Mask) पहने की अपील की जा रही है अब ऐसे ही एक व्यक्ति पर उत्तर प्रदेश (UP) के देवरिया में मास्क (Mask) न पहनने के लिए 10,000 रुपये का जुर्माना (Fine) लगाया गया है। यह दूसरी बार था जब वह शख्स बिना मास्क (Mask) के पकड़ा गया था। इससे पहले उस पर मास्क नहीं पहनने पर 1,000 रुपये का जुमार्ना लगाया गया था। पुलिस (Police) के मुताबिक, देवरिया के बरियारपुर पुलिस सर्किल इलाके में अमरजीत यादव (Amarjeet Yadav) 17 और 18 अप्रैल को बिना मास्क के घूमते पाए गए थे। स्टेशन हाउस अधिकारी (SHO), लार, टी.जे. सिंह ने कहा, अमरजीत को बिना मास्क के कार में मुख्य क्रॉसिंग पर स्पॉट किया गया। तुरंत पुलिस ने 10,000 रुपये का जुर्माना लगाया। हमने पहले ही 17 अप्रैल को उसे चेतावनी दी थी और 1,000 रुपये का जुमार्ना लगाया था। हमने उसे एक मास्क भी दिया था। इसे भी पढ़ें – कोरोना से जंग को तैयार सेना! राजनाथ सिंह ने आर्मी चीफ से की बात, कहा- सेना हरसंभव मदद करें पुलिस अधीक्षक,… Continue reading UP: 1,000 रुपये के जुर्माने पर भी व्यक्ति ने नहीं लगाया Mask, अगले दिन फिर कटा 10,000 का चालान

केजीएमयू कैंटीन के खाने में मिले कीड़े, लगा जुर्माना

लखनऊ के किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (केजीएमयू) ने अपने कैंटीन प्रबंधक पर 25 हजार रुपये का जुर्माना लगाया है। साथ ही कोविड-19 वार्ड के डॉक्टरों को परोसे जाने वाले भोजन में

अहमदाबाद में पान थूकने पर 10 हजार रुपये का जुर्माना

अहमदाबाद नगर निगम ने एक नया नियम लागू किया है जिसके मुताबिक, उन पान दुकानदारों पर 10,000 रुपये का जुर्माना लगाया जाएगा, जिनकी दुकान के आस-पास पान का पीक थूका हुआ

नेस्ले पर लगा 90 करोड़ का जुर्माना

राष्ट्रीय मूुनाफारोधी प्राधिकरण (एनएए) ने रोजमर्रा की त्वरित उपयोग की वस्तुएं बनाने वाली अग्रणी नेस्ले पर वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) में की गई कटौती का लाभ ग्राहकों को नहीं पहुंचाने पर 90 करोड़ रुपए का भारी भरकम जुर्माना ठोंका है।

प्रदूषण रोकने में विफल अधिकारी भरेंगे अपनी जेब से जुर्माना

दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में हवा की खराब गुणवत्ता से निपटने के लिए सरकार ने प्रदूषण पर रोक लगाने में विफल रहने वाले अधिकारियों पर निजी तौर पर जुर्माना लगाने तथा न्यायिक कार्रवाई करने और अगले साल अगस्त तक सभी सड़कों को धूलमुक्त बनाने का फैसला किया है।

ऑड-ईवन : कुछ ने ही भरा जुर्माना, सरकार ने की तारीफ

देश की राजधानी में ऑड-ईवन की तीसरी पारी (4-15 नवंबर) के दौरान करीब 4,806 लोगों ने इसके नियमों का उल्लंघन किया, जो कि साल 2016 में लागू की गई पिछली दो पारियों के मुकाबले कम रही। ऐसे में अधिकारियों ने इसका श्रेय जनता को दिया है।

और लोड करें