जंगल में आग लगने की घटनाओं में तीन गुना इजाफा

नई दिल्ली। वन क्षेत्रों में आग लगने की घटनाओं के कारण वनसंपदा को होने वाले नुकसान को रोकने के लिए उपग्रहों से सतत निगरानी सहित अन्य तकनीकों के इस्तेमाल के बावजूद पिछले तीन साल के दौरान जंगलों में आग की घटनाएं तीन गुना तक बढ़ गई हैं। वन क्षेत्रों में आग लगने की घटनाओं पर निगरानी से जुड़े पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक 2016 में देश भर में जंगलों में आग लगने की 37,636 घटनाएं दर्ज की गई थीं, जो कि 2018 में बढ़कर 1.17 लाख हो गई। वन क्षेत्र और वन संपदा की समीक्षा के बारे में मंत्रालय की संसद में पिछले सप्ताह पेश रिपोर्ट के अनुसार पिछले तीन साल के दौरान जंगल में आग लगने की घटनाओं में सर्वाधिक बढ़ातरी ओडिशा और आंध्र प्रदेश में हुई है। वनाग्नि की घटनाओं के राज्यवार आंकड़ों के मुताबिक ओडिशा में 2016 में 2,572 घटनायें दर्ज की गयी थीं। इनकी संख्या 2017 में बढ़कर 36,827 हो गई और 2018 में थोड़ी गिरावट के साथ 31,680 पर आ गई। वहीं, आंध्र प्रदेश के जंगलों में 2016 में आग की 8,885 घटनाएं दर्ज की गई थीं। इनकी संख्या 2017 में बढ़कर 8,274 और 2018 में 16,171 पर पहुंच गई।… Continue reading जंगल में आग लगने की घटनाओं में तीन गुना इजाफा

मुद्दा वन की परिभाषा का

उत्तराखंड सरकार ने वन की परिभाषा बदलने की पहल की है। राज्य मंत्रिमंडल के फैसले के मुताबिक अब जंगल उसी जमीन को कहा जाएगा, जो न्यूनतम दस हेक्टेयर में फैला हो, जिसमें न्यूनतम कैनपी घनत्व 60 प्रतिशत से कम ना हो और जिसमें 75 प्रतिशत स्थानीय वृक्ष प्रजातियां उगी हों।

और लोड करें