गैंगस्टर विकास दुबे का लखनऊ स्थित घर होगा सील

लखनऊ विकास प्राधिकरण (एलडीए) मारे गए गैंगस्टर विकास दुबे के कृष्णा नगर इलाके की इंद्रलोक कॉलोनी में बने घर को सोमवार को सील करेगा।

जंगल राज तब घोषित हो!

बधाई अपने डॉ. वेदप्रताप वैदिक को। उनके आह्वान को उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पूरा किया।

कानून, अदालत पर लगे ताला

ईमानदारी से बताऊं मैंने तमिलनाडु के थाने में पिता-पुत्र की बर्बर पुलिसिया हत्या की खबरों को ज्यादा नहीं पढ़ा और न विकास दुबे और पुलिस के बीच हुई पहले व दूसरे इनकाउंटर की खबरों की बारीकी में गया।

यही जनता के मन की बात!

उत्तर प्रदेश के गैंगेस्टर और कानपुर में आठ पुलिसवालों की हत्या के आरोपी विकास दुबे को मार कर पुलिस ने क्या वहीं काम किया है

कानून व्यवस्था या बदले की कार्रवाई

देश में कानून का राज चलेगा या जंगल राज होगा? न्याय होगा या बदले की कार्रवाई होगी? इसके जवाब से तय होगा कि आने वाले दिनों में एक देश और सभ्य समाज के नाते भारत का भविष्य क्या होगा।

पुलिस की वहीं पुरानी कहानी

भारत के चाहे किसी राज्य की पुलिस हो उसके पास हर चीज के टेंपलेट बने हुए हैं। वह जिस बात को चाहे जस्टिफाई कर सकती है और बिल्कुल एक जैसे तर्क से।

उंगलियों के पोरों से बहती क्रांति के युग में

विकास दुबे को तो मारा जाना ही था। आज नहीं तो कल। अगर कोई इतने पुलिस वालों को मार देने की घटना का केंद्रीय पात्र हो तो वह कितने दिन अपनी जान बचा सकता है? जो भी ऐसा करेगा, भरेगा। इसमें कौन-सा मानव-अधिकार? अगर अपराधियों के मानवाधिकार हैं तो सुरक्षाकर्मियों के भी मानवाधिकार हैं। इसलिए एक ऐसे व्यक्ति के अंत पर दीदे बहाने का कोई मतलब नहीं है, जो अलग-अलग राजनीतिकों और प्रशासनिक अफ़सरों के बूते इतना बेख़ौफ़ हो गया था कि सारी व्यवस्था को अपने ठेंगे पर रख कर घूम रहा था। अगर बिकारू जैसे बित्ते भर के गांव से निकल कर दस बरस के भीतर कोई विकास दुबे अरबपति भी बन जाए और उसका गब्बरपन भी सारी हदें पार करने लगे तो आख़िर एक-न-एक दिन तो उसका यह अंजाम होना ही था। इसलिए जिन्हें अब उससे ज़रा सहानुभूति जैसी हो रही है, मुझे उन पर तरस आ रहा है। उसके लिए मन गीला करने वाले उससे कम बड़े खलनायक नहीं हैं। वह किसी के आंसुओं का हक़दार नहीं है। आंसू तो बहने चाहिए उस व्यवस्था पर, जो विकास दुबेओं को जन्म देती है, पालती-पोसती है, इस्तेमाल करती है और चूस लेने के बाद थोथे की तरह उड़ा देती… Continue reading उंगलियों के पोरों से बहती क्रांति के युग में

यूपी पुलिस पर कई सवाल

उत्तर प्रदेश में गैंगस्टर विकास दुबे की तलाश में पुलिस की दर्जनों टीमें लगाई गई हैं, सैकड़ों फोन नंबर्स को सर्विलांस पर लगाया गया है।

विकास दुबे के मामले में अब कमलनाथ ने उठाए सवाल

मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने उत्तरप्रदेश के कुख्यात गैंगस्टर विकास दुबे की उज्जैन में गिरफ्तारी पर सवाल उठाते हुए आज कहा कि इस मामले की उच्च स्तरीय जांच होना चाहिए।

पुलिस हत्याकांड के मास्टरमाइंड का गुर्गा गिरफ्तार

कानपुर में आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के मामले में मुख्य आरोपी गैंगस्टर विकास दुबे के एक इनामी गुर्गे को रविवार को कल्याणपुर में मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार कर लिया गया।

और लोड करें