सवाल बच्चों का है हुजूर, बरतें सावधानी !  इस जिले से 1 महीने में मिले 10 हजार कोरोना संक्रमित बच्चे, उपायुक्त ने कहा-सतर्क रहने की जरूरत

अहमदनगर | कोरोना कि दूसरी लहर के दौरान ही तीसरी लहर की भविष्यवाणी भी कर दी गई थी. देश के वैज्ञानिकों की भविष्यवाणी अब सही भी साबित होती दिखाई दे रही है. महाराष्ट्र के अहमदनगर जिले में पिछले 1 महीने में 10 हजार के करीब बच्चों के कोरोना पॉजिटिव मामले सामने आ चुके हैं. इसके बाद भी ना तो महाराष्ट्र सरकार जागी और ना ही केंद्र सरकार. इस जानकारी को अहमदनगर में एक सामान्य जानकारी की तरह देखा गया और इसमें कोई अलार्म नहीं समझा गया. इस संबंध में जिला प्रशासन की ओर से जो जानकारी दी गई है उसके अनुसार कोरोना संक्रमित पाए गए बच्चों में से 95% बच्चे ए सिंपटोमेटिक हैं. सतर्क रहने की जरूरत, अभी स्थिति कंट्रोल में बच्चों के संक्रमित पाए जाने के बाद जिला के उपायुक्त राजेंद्र भोसले ने कहा कि संक्रमित पाए गए बच्चों में से ज्यादातर 11 से 18 साल के हैं. उन्होंने कहा कि 95% बच्चे ऐसे थे जिनमें कोरोना के कोई लक्षण नहीं थे इसलिए घबराने वाली बात नहीं है. हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि आने वाले समय में तैयार रहने की जरूरत है. इस संबंध में जानकारी देते हुए डॉक्टर मानसी मनोहर ने कहा कि जिन बच्चों में थोड़े… Continue reading सवाल बच्चों का है हुजूर, बरतें सावधानी ! इस जिले से 1 महीने में मिले 10 हजार कोरोना संक्रमित बच्चे, उपायुक्त ने कहा-सतर्क रहने की जरूरत

Corona Alert: कोरोना के तीसरी लहर की हुई भविष्यवाणी, 18 साल से कम उम्र वाले होंगे सबसे ज्यादा प्रभावित

New Delhi: देश में कोरोना की दूसरी लहर ने हाहाकार मचा रखा है. कोरोना की दूसरी लहर से सबसे ज्यादा प्रभावित युवा हुए हैं. जबकि पहली लहर के दौरान कोरोना ने बुजुर्गों को अपने संक्रमण की चपेट में लिया था. विशेषज्ञों की मानें तो देश में कोरोना की तीसरी लहर भी आने वाली है. माना जा रहा है कि इस तीसरी लहर से 18 साल से कम उम्र के बच्चे वायरस के प्रकोप में आ जाएंगे. अनुमान लगाया जा रहा है कि कोरोना की तीसरी लहर से सबसे ज्यादा 18 साल से कम उम्र के बच्चे प्रभावित होंगे.  मीडिया में चल रही खबरों का मानें तो  कोरोना वायरस की तीसरी लहर की शुरुआत भी महाराष्ट्र से होगी. हालांकि, अभी इस बात को लेकर विशेषज्ञ एकमत नहीं हैं कि यह कब से शुरू होगी. बताया यह जा रहा है कि जुलाई से सितंबर महीने के बीच कोरोना की तीसरी लहर की शुरुआत होगी. तैयारियों में जुटी  महाराष्ट्र सरकार हालांकि, तीसरी लहर की आशंका के मद्देनजर महाराष्ट्र में सरकारी स्तर पर अभी से ही तैयारी शुरू कर दी गई है. इंडियन एक्सप्रेस की खबर के अनुसार, बृहन् मुंबई म्युनिसिपल कॉरपोरेशन (बीएमसी) शिशु कोविड केयर फैसिलिटी स्थापित करने की योजना बना रहा है,… Continue reading Corona Alert: कोरोना के तीसरी लहर की हुई भविष्यवाणी, 18 साल से कम उम्र वाले होंगे सबसे ज्यादा प्रभावित

मानवता के इंतेहान में कहीं असफल ना हो जाएं..विशेषज्ञों ने जताया मुंबई में तीसरी लहर का अनुमान

कोरोना की पहली लहर ने देश की कमर तोड़ दी थी। और दूसरी लहर ने देश सांसे को लगभग रोक दिया है। ऐसे में तीसरी लहर की कल्पना भी अनुमान से परे है। दूसरी लहर से जूझते देश की हालत पहले ही बहुत खराब है। ऐसे में जरूरत है कि ना सिर्फ दूसरी लहर का प्रभाव कम किया जाए बल्कि तीसरी लहर को भी रोका जाना जरूरी है। लेकिन विशेषज्ञों ने जो अनुमान जताया है कि वह होश उड़ाने के लिए बहुत है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने बुधवार को यह चेतावनी ज़ारी करते की है। महाराष्ट्र सरकार ने कहा है कि पर्याप्त संख्या में टीका उपलब्ध नहीं होने के कारण 18 से 44 वर्ष के लोगों का टीकाकरण एक मई से शुरू नहीं होगा। स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे महाराष्ट्र के लिए पर्याप्त संख्या में टीके उपलब्ध नहीं होने के कारण पहले ही चिंता जता चुके हैं। महाराष्ट्र महामारी से बुरी तरह प्रभावित राज्य है और वहां वर्तमान लाभार्थियों (45 वर्ष से ऊपर के लोग) के लिए टीके की कमी की खबर है जिससे वहां टीकाकरण की गति धीमी है। इसे भी पढ़ें  Corona Alert: विशेषज्ञ ने बताया कोरोना से बचने के लिए पोषक आहार के साथ ये करना सबसे जरूरी अधिकारी भी… Continue reading मानवता के इंतेहान में कहीं असफल ना हो जाएं..विशेषज्ञों ने जताया मुंबई में तीसरी लहर का अनुमान

Maharashtra : उच्च न्यायालय ने शवों के अंतिम संस्कार पर महाराष्ट्र सरकार, BMC से मांगा जवाब

मुंबई | बंबई उच्च न्यायालय (Bombay High Court) ने आज कहा कि कोरोना (Corona) से जान गंवाने वालों के शव घंटों तक नहीं रखे जा सकते और इसके साथ उसने महाराष्ट्र सरकार (Government of Maharashtra) तथा बीएमसी (BMC) से राज्य तथा मुंबई में श्मशानों की स्थिति के बारे में अदात को अवगत कराने का निर्देश दिया। मुख्य न्यायाधीश दीपांकर दत्ता और न्यायमूर्ति जी एस कुलकर्णी की पीठ ने कहा कि कई श्मशानों में शव के अंतिम संस्कार (Funeral) के लिए काफी इंतजार करना पड़ता है और पीड़ितों के रिश्तेदारों को श्मशान के बाहर कतार में लगे रहना पड़ता है। अदालत ने कहा, महाराष्ट्र सरकार (Government of Maharashtra) और अन्य नगर निकायों को इस मुद्दे के समाधान के लिए कुछ ठोस व्यवस्था तैयार करनी चाहिए। घंटों तक शव नहीं रखे जा सकते। अदालत (Court) ने कहा कि अगर श्मशान में कतार लगी हुई है तो अस्पतालों से शव नहीं छोड़े जाने चाहिए। न्यायमूर्ति कुलकर्णी ने महाराष्ट्र के बीड जिले की एक घटना का हवाला दिया जहां कोरोना (Corona) संक्रमण के शिकार 22 लोगों के शव को एक ही एंबुलेंस से श्मशान में पहुंचाया गया। इसे भी पढ़ें – Uttar Pradesh : Corona situation को प्रियंका गांधी ने योगी आदित्यनाथ को लिखा पत्र,… Continue reading Maharashtra : उच्च न्यायालय ने शवों के अंतिम संस्कार पर महाराष्ट्र सरकार, BMC से मांगा जवाब

Exam Cancelled:  महाराष्ट्र में 10वीं और 12वीं बोर्ड की परीक्षाएं स्थगित, कहा- CBSE व ICSE  को भी परीक्षाएं टालने को कहेंगे 

Mumbai : कोविड-19 के मामलों में तेजी से हो रही वृद्धि के मद्देनजर महाराष्ट्र सरकार ने इस महीने राज्य बोर्ड द्वारा आयोजित होने वाली 10 वीं और 12 वीं की परीक्षाएं टालने का सोमवार को फैसला किया. राज्य में 12 वीं बोर्ड की परीक्षा 23 अप्रैल से और 10 वीं कक्षा की परीक्षा 30 अप्रैल से शुरू होने वाली थी. राज्य की स्कूल शिक्षा मंत्री वर्षा गायकवाड़ ने ट्वीट किया, ”महाराष्ट्र में कोविड-19 के मौजूदा हालात के मद्देनजर हमने 10 वीं और 12 वीं की बोर्ड परीक्षाओं को टालने का फैसला किया है. मौजूदा हालात परीक्षा आयोजित करने के अनुकूल नहीं हैं. आपका स्वास्थ्य हमारी प्राथमिकता है.” 12 वीं कक्षा की परीक्षा मई के अंत में होगी वर्षा गायकवाड़  ट्वीट में कहा, ”पेशेवर पाठ्यक्रमों के लिए प्रवेश परीक्षा के कार्यक्रम को ध्यान में रखते हुए 12 वीं कक्षा की परीक्षा मई के अंत में होगी और 10 वीं की परीक्षा जून में आयोजित होगी.” गायकवाड़ ने कहा कि हालात की निगरानी की जा रही है और स्थगित की गयी परीक्षाओं के लिए तारीखों की घोषणा जल्द की जाएगी. मंत्री ने कहा कि छात्रों, शिक्षकों, अभिभावकों, विभिन्न दलों के निर्वाचित प्रतिनिधियों, शिक्षाविदों, तकनीकी जानकारों के साथ विचार-विमर्श करने के बाद यह… Continue reading Exam Cancelled: महाराष्ट्र में 10वीं और 12वीं बोर्ड की परीक्षाएं स्थगित, कहा- CBSE व ICSE  को भी परीक्षाएं टालने को कहेंगे 

Maharashtra Corona Case: महाराष्ट्र सरकार का फैसला, मुंबई में जल्द ही तैयार होंगे 3 बड़े अस्पताल

मुंबई। Corona के बढ़ते मामलों को देखते हुए महाराष्ट्र सरकार (Maharashtra Government) ने मुंबई में आगामी पांच से छह सप्ताह में तीन बड़े अस्पताल (Hospital) स्थापित करने का फैसला किया है। शहर के बृहन्मुंबई महानगर पालिका (BMC) आयुक्त इकबाल सिंह चहल (Iqbal Singh Chahal) ने आज बताया कि इनमें से हरेक अस्पताल (Hospital) में 200 आईसीयू बिस्तरों समेत 2,000 बिस्तरों की क्षमता होगी और 70 फीसदी बिस्तरों में ऑक्सीजन की व्यवस्था होगी। उन्होंने बताया कि इन अस्पतालों को शहर में तीन अलग-अलग स्थानों पर स्थापित किया जाएगा। इकबाल सिंह चहल (Iqbal Singh Chahal) ने बताया कि उन्होंने कुछ चार और पांच सितारा होटलों से भी CCC2 Facilitation Center (कोविड-19 के मरीजों के लिए देखभाल केंद्र) बनाने का अनुरोध किया है। उन्होंने कहा कि जिन मरीजों के स्वास्थ्य में सुधार होगा, उन्हें सीसीसी2 सुविधाओं में स्थानांतरित करके जरूरतमंद मरीजों के लिए और बिस्तर उपलब्ध कराए जाएंगे। इन CCC2 का प्रबंधन पेशेवर चिकित्सक करेंगे। मुंबई (Mumbai) में रविवार को संक्रमण के 9,986 नए मामले सामने आने के बाद यहां अब तक संक्रमित हुए लोगों की कुल संख्या बढ़कर 5,20,498 हो गई तथा 79 और लोगों की मौत होने के बाद कुल मृतक संख्या बढ़कर 12,023 हो गई। आधिकारिक आंकडों के अनुसार, मुंबई… Continue reading Maharashtra Corona Case: महाराष्ट्र सरकार का फैसला, मुंबई में जल्द ही तैयार होंगे 3 बड़े अस्पताल

Corruption Case: सुप्रीम कोर्ट ने ख़ारिज की अनिल देशमुख और महाराष्ट्र सरकार की याचिका

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट ने Corruption के मामले में केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) जांच के आदेश के खिलाफ महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख और राज्य सरकार की याचिकाएं आज खारिज कर दी। न्यायमूर्ति संजय किशन कौल और न्यायमूर्ति हेमंत गुप्ता की खंडपीठ ने याचिकाओं को खारिज करते हुए कहा कि इस मामले की जांच की आवश्यकता है। खंडपीठ ने कहा, आरोपों की गम्भीर प्रकृति तथा इसमें शामिल व्यक्तियों के मद्देनजर इस मामले की स्वतंत्र जांच की आवश्यकता है। न्यायमूर्ति कौल ने कहा, (बॉम्बे उच्च न्यायालय ने) इस मामले में प्रारम्भिक जांच के ही आदेश दिये हैं इसलिए हम संबंधित आदेश में हस्तक्षेप करना नहीं चाहते।’ इसे भी पढ़ें – IPL-14 : कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच T20 Cricket के महाकुंभ कल से शुरू, पहले मैच में रोहित व कोहली आमने-सामने देशमुख के अलावा Maharashtra government ने भी इस मामले में Bombay High Court के आदेश को चुनौती दी थी।  Bombay High Court ने देशमुख के खिलाफ मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह के Corruption के आरोपों की CBI जांच का आदेश दिया है। महाराष्ट्र सरकार की याचिका में परमबीर सिंह को भी पक्षकार बनाया गया था। इसे भी पढ़ें – कोरोना वैक्सीन लेने के लिए जाना चाहते हैं… Continue reading Corruption Case: सुप्रीम कोर्ट ने ख़ारिज की अनिल देशमुख और महाराष्ट्र सरकार की याचिका

कोविड टीकाकरण को लेकर मुम्बई उच्च न्यायालय में जनहित याचिका दाखिल, ये है कारण

मुम्बई:  उच्च न्यायालय में एक जनहित याचिका दाखिल की गई है जिसमें केन्द्र, महाराष्ट्र सरकार और महानगरपालिका (बीएमसी) को 75 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों और दिव्यांगों या बिस्तर से उठने में असमर्थ लोगों को घर-घर जाकर कोविड-19 टीके की खुराक उपलब्ध कराने के निर्देश देने का अनुरोध किया गया है. अधिवक्ताओं धृति कपाड़िया और कुणाल तिवारी द्वारा दाखिल याचिका में कहा गया है कि इस तरह के लोग टीकाकरण केन्द्रों पर नहीं जा सकते हैं या ऐसा कर पाना उनके लिए मुश्किल हो सकता है.  याचिका में कहा गया है कि  केंद्र सरकार को घर-घर जाकर टीकाकरण शुरू करने की आवश्यकता है जिससे वरिष्ठ नागरिक और विशेष रूप से दिव्यांग (शारीरिक और मानसिक दोनों) नागरिक अपने घर से निकले बिना टीका प्राप्त करने में सक्षम हो सके. अधिकतम  500 के शुल्क का हो प्रावधान याचिका में कहा गया है कि घर-घर जाकर टीकाकरण सुविधा प्रदान करने के लिए अधिकारी लगभग 500 रुपये का शुल्क तय कर सकते हैं. याचिकाकर्ताओं ने बीएमसी द्वारा राज्य सरकार को लिखे एक पत्र का भी हवाला दिया, जिसमें लाभार्थियों की संख्या बढ़ाने के लिए मुंबई में टीकाकरण अभियान को घर-घर ले जाने की अनुमति मांगी गई थी. हालांकि, इस अनुरोध को इस आधार… Continue reading कोविड टीकाकरण को लेकर मुम्बई उच्च न्यायालय में जनहित याचिका दाखिल, ये है कारण

रविशंकर प्रसाद की प्रेस वार्ता : महाराष्ट्र में एक मंत्री का लक्ष्य सौ करोड़ है तो बाकी का क्या है?

नई दिल्ली | महाराष्ट्र सरकार के गृहमंत्री अनिल देशमुख (Maharashtra Home Minister Anil Deshmukh) पर पुलिस अधिकारियों के माध्यम से करोड़ों रुपये वसूली के लगे गंभीर आरोपों के बाद बीजेपी लगातार उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackrey) की गठबंधन सरकार (Mahavikas Aghadi Government) पर हमलावर हो रही है। केंद्रीय कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद (Law Minister Ravi Shankar Prasad) ने मंगलवार को सवाल उठाते हुए कहा कि महाराष्ट्र सरकार में जब एक मंत्री का टारगेट सौ करोड़ रुपए है, तो बाकी के मंत्रियों का कितना होगा? प्रसाद ने मंगलवार को पार्टी मुख्यालय पर प्रेस कांफ्रेंस बुलाकर कहा कि भारत के इतिहास में ये पहली बार हुआ कि किसी पुलिस कमिश्नर स्तर के अधिका​री ने लिखा है कि राज्य के गृह मंत्री ने मुंबई से 100 करोड़ रुपये महीना वसूली का टार्गेट तय किया है। प्रसाद ने आगे कहा कि जब एक मंत्री का टार्गेट 100 करोड़ रुपये है तो बाकी का कितना होगा? आपको याद दिला दें कि महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कुछ दस्तावेजों के साथ कहा है कि ट्रांसफर और पोस्टिंग के नाम पर भी वसूली चल रही थी। वो भी छोटे मोटे ऑफिसर्स की ही नहीं बल्कि बड़े बड़े अखिल भारतीय पुलिस सेवा के अधिकारियों की भी। सचिन… Continue reading रविशंकर प्रसाद की प्रेस वार्ता : महाराष्ट्र में एक मंत्री का लक्ष्य सौ करोड़ है तो बाकी का क्या है?

पुणे में वनडे सीरीज के दौरान दर्शकों को नहीं मिलेगी एंट्री

भारत और इंग्लैंड के बीच तीन मैचों की वनडे सीरीज पुणे में खेली जाएगी और इस सीरीज के आयोजन के लिए महाराष्ट्र सरकार से हरी झंडी मिल गई है।

‘अवनी’ की मौत के मामले में अवमानना कार्रवाई करने से इनकार

उच्चतम न्यायालय ने महाराष्ट्र के यवतमाल में वर्ष 2018 में ‘आदमखोर’ बाघिन अवनी को मारने के मामले में महाराष्ट्र सरकार के अधिकारियों के खिलाफ अदालत की अवमानना की कार्रवाई करने से आज इनकार कर दिया।

बॉम्बे हाइकोर्ट ने महाराष्ट्र सरकार के फैसले को किया खारिज

बॉम्बे उच्च न्यायालय ने कल्याण डोम्बिवली नगरपालिक निगम (केडीएमसी) अंतर्गत 18 गांवों को अलग कर पृथक निगम क्षेत्र का गठन किये जाने संबंधी महाराष्ट्र सरकार के निर्णय को रद्द कर दिया है।

होमटाउन मनाली रवाना हुईं कंगना रनौत

अभिनेत्री कंगना रनौत शिवसेना के नेतृत्व वाली महाराष्ट्र सरकार के साथ बढ़ते तनाव के बीच सोमवार को अपने होमटाउन मनाली लौट गईं। अभिनेत्री ने सुबह अपने ट्विटर के सत्यापित

‘अचानक हुई गड़बड़ियों’ से परेशान हो गई है कंगना

अभिनेत्री कंगना रनौत ने शिवसेना की अगुवाई वाली महाराष्ट्र सरकार के साथ चल रहे अपने टकराव के बीच एक रहस्यमयी पोस्ट लिखी है।

महाराष्ट्र के राज्यपाल कोश्यारी से मिलेंगी कंगना रनौत

बॉलीवुड अभिनेत्री कंगना रनौत और शिवसेना की अगुवाई वाली महाराष्ट्र सरकार के बीच बढ़ते तनाव के बाद अभिनेत्री आज महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी से मिलने वाली हैं।

और लोड करें