ठहरा वक्त, रिपीट इतिहास!

महामारी का सामना कैसे हो, वक्त की चुनौतियों से कैसे पार पाएं, कैसे भविष्य बनाएं, इन सवालों का हल हिंदू चेतना में न सन् 1918-20 में था और न सन् 2021-22 में है। जैसे पशुओं-भेड़-बकरियों को बीमारी, महामारी क्या और कैसे बचें का बोध नहीं होता है वैसे ही कलियुगी भारत को नहीं है।..हम ठहरे… Continue reading ठहरा वक्त, रिपीट इतिहास!