चीन को घाव दिए बगैर कोई रास्ता नहीं

चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी, पीएलए के जवानों ने एक बार फिर भारतीय जवानों के साथ झड़प की। इस बार पैंगोंग झील के दक्षिणी हिस्से में झड़प हुई। पिछली बार दोनों देशों के सैनिकों के बीच गलवान घाटी में हिंसक झड़प हुई थी, जिसमें भारत के 20 जवान शहीद हुए थे।

भारत किसी गुट में क्यों शामिल हो ?

अमेरिका ने चीन के विरुद्ध अब बाकायदा शीतयुद्ध की घोषणा कर दी है। ह्यूस्टन के चीनी वाणिज्य दूतावास को बंद कर दिया है। चीन ने चेंगदू के अमेरिकी दूतावास का बंद करके ईंट का जवाब पत्थर से दिया है।

लम्हों में खत्म भारत कथा!

मैं और आप, हम सब क्या आज किंकर्तव्यविमूढ़ नहीं हैं? हम जिंदा हैं, जीवन जी रहे हैं पर क्या कोई उत्स है? भीड़ का क्या कोई मंतव्य है? न रास्ता है, न रोशनी है, न थ्रिल है, न सस्पेंस है और न उद्देश्य तो फिर कहानी कहां?

चीन में मोदी के भाषण पर वाह!

सेना से सर्जिकल स्ट्राइक, एयर स्ट्राइक, पुलवामा कांड इन सब मुद्दों पर राहुल गांधी या कांग्रेस का कोई भी नेता बयान देता था या सवाल उठाता था तो भाजपा के नेता कहते थे कि राहुल के भाषण की पाकिस्तान में तारीफ हो रही है। भाजपा के पूर्व अध्यक्ष और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह सहित भाजपा के कई नेता अनेक बार कह चुके हैं कि आखिर ऐसा क्यों होता है कि कांग्रेस के नेता पाकिस्तान की जबान बोलते हैं। पर इस बार पासा पलट गया है। इस बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बयान की चीन में तारीफ हो रही है। तभी कांग्रेस पार्टी के नेता सवालिया लहजे में कह रहे हैं कि आखिर ऐसा क्यों है कि प्रधानमंत्री वहीं बात कह रहे हैं, जो चीन कह रहा है? यह सचाई है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चीन के साथ सीमा विवाद के मसले पर विचार के लिए बुलाई गई सर्वदलीय बैठक में जो कहा उसकी चीन में जम कर तारीफ हुई है। प्रधानमंत्री ने विपक्ष और तमाम सामरिक विशेषज्ञों की बातों को खारिज करते हुए कहा कि न तो भारत की सीमा में कोई घुस आया है, न कोई सीमा में घुसा हुआ है और न कोई भारतीय चौकी किसी… Continue reading चीन में मोदी के भाषण पर वाह!

चीन, नेपाल विवाद भाजपा के लिए मुश्किल

पाकिस्तान के साथ होने वाला कोई भी टकराव भारतीय जनता पार्टी के लिए राजनीतिक रूप से फायदेमंद साबित होता है। कारगिल से लेकर एयर स्ट्राइक तक जब भी पाकिस्तान से टकराव हुआ है

दिल्ली से एलएसी तक बैठकों का दौर

पूर्वी लद्दाख में भारत और चीन के बीच पिछले डेढ़ महीने से बने गतिरोध और गलवान घाटी में 15 जून की रात हुई हिंसक झड़प के बाद के हालात को ठीक करने के लिए दिल्ली से लेकर वास्तविक नियंत्रण रेखा, एलएसी तक बैठकों का दौर चल रहा है।

चीन में क्यों मोदी की तारीफ: राहुल

भारत और चीन के बीच सीमा पर चल रहे तनाव के मसले पर कांग्रेस नेता  राहुल गांधी ने एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है।

चीन की सीमा पर सड़के बनेगी

भारत और चीन के बीच वास्तविक नियंत्रण रेखा, एलएसी पर चल रही तनातनी के बीच भारत सरकार ने तय किया है कि चीन की सीमा से सटी सड़कों का निर्माण तेजी से किया जाएगा।

चीन अकेले भारत का ही संकट नहीं

पूर्वी लद्दाख और खास कर गलवान घाटी और पैंगोंग झील चीन की प्रयोगशाला है। वह अपनी विस्तारवादी नीतियों का प्रयोग कर रहा है। ड्रैगन के खूनी पंजों की ताकत आजमा रहा है। ड्रैगन के नाखून और दांतों पर सान चढ़ा रहा है।

चीन ने कहा गलवान घाटी हमारी

चीन ने एक बार फिर गलवान घाटी पर अपना दावा किया है। शुक्रवार देर रात उसने फिर गलवान घाटी को अपना बताया। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता झाऊ लिजियन ने कहा कि गलवान घाटी चीन का हिस्सा है

पीएम के कहे पर पीएमओ की सफाई

आमतौर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के किसी बयान पर सफाई देने का चलन नहीं रहा है पर चीन के मसले पर सर्वदलीय बैठक में दिए गए प्रधानमंत्री के बयान पर शनिवार को प्रधानमंत्री कार्यालय, पीएमओ ने सफाई जारी की।

और लोड करें