गणतंत्र के कितने रूप दिखे!

इस साल 26 जनवरी को समूचे देश में गणतंत्र के अनेक रूप देखने को मिले। एक रूप राजपथ पर सरकारी आयोजन का था तो दूसरा रूप दिल्ली के शाहीन बाग में धरने पर बैठे हजारों लोगों का था। राजपथ पर भी तिरंगा लहराया जा रहा था कि राष्ट्र गान गाया जा रहा था तो शाहीन बाग में भी तिरंगे लहरा रहे थे और राष्ट्र गान के साथ साथ भारतीय संविधान की प्रस्तावना का भी पाठ हो रहा था। दिल्ली में राजपथ और शाहीन बाग एक प्रतीक हैं। इन्हें देश के अलग-अलग राज्यों में अलग अलग जगहों पर हुए सरकारी और गैर-सरकारी आयोजनों से जोड़ कर भी देखा जा सकता है। दिल्ली के शाहीन बाग जैसे आयोजन लगभग सभी राज्यों में हुए। हर राज्य में कहीं न कहीं शाहीन बाग बना हुआ है। केरल में संशोधित नागरिकता कानून के विरोध में 631 किलोमीटर लंबी मानव शृंखला बनाई गई। भारतीय गणतंत्र का एक रूप वह भी दिखा। असल में गणतंत्र दिवस के मौके पर होने वाले सरकारी कार्यक्रम हों या नागरिकता कानून के विरोध में हो रहे प्रदर्शनों के दौरान हुए कार्यक्रम हों दोनों का मकसद भारतीय संविधान और गणतंत्र की रक्षा करना और उसे मजबूत करना ही है। अगर राजपथ पर… Continue reading गणतंत्र के कितने रूप दिखे!

गणतंत्र या गर्वतंत्र ?

अपने 71 वें वर्ष में भारत का गणतंत्र खुद पर गर्व करे या चिंता करे ? मैं सोचता हूं कि वह दोनों करे। गर्व इसलिए करे कि अगर हम एशिया और अफ्रीका के देशों पर नज़र डालें तो हमें मालूम पड़ेगा कि उन सब में भारत बेजोड़ देश है। इन लगभग सभी देशों के संविधान तीन-तीन चार-चार बार बदल चुके हैं, इन ज्यादातर देशों में कई बार तख्ता-पलट हो चुके हैं, इनमें कई लोकतंत्र फौजतंत्र बन चुके हैं और फौजतंत्र लोकतंत्र बनने की कोशिश कर रहे हैं, कई देश संघात्मक से एकात्मक और एकात्मक से संघात्मक बनने लगे हैं लेकिन भारत का संविधान है कि सत्तर साल गुजर जाने पर भी ज्यों का त्यों है। उसके मूल स्वरुप में कोई बदलाव नहीं हुआ है। हां 1975-77 के आपात्काल ने जरुर इस प्रक्रिया में हस्तक्षेप किया था लेकिन भारत की जनता ने हस्तक्षेप करनेवालों को कड़ा सबक सिखाया था। हमारे संविधान में लगभग सवा सौ संशोधन हो गए हैं। लेकिन उसका मूल स्वरुप अक्षुण्ण हैं। उसके संशोधन उसके लचीले होने का प्रमाण हैं। दूसरी बात जो गर्व के लायक है, वह यह कि आजादी के बाद देश के पूर्व, पश्चिम, उत्तर और दक्षिण में कई राज्य भारत से अलग होना चाहते… Continue reading गणतंत्र या गर्वतंत्र ?

पूर्वोत्तर में धूमधाम से मना गणतंत्र दिवस

शिलांग/ईटानगर/गुवाहाटी/गंगटोक। पूर्वोत्तर के राज्यों मेघालय, अरुणाचल प्रदेश, सिक्किम और असम में रविवार को गणतंत्र दिवस समारोह पूरे जोश और उत्साह के साथ मनाया गया। मेघालय के मुख्यमंत्री कोनराड के. संगमा ने इस अवसर पर अगले 10 साल में राज्य के लिए अपनी सरकार का दृष्टिकोण रखा और कहा कि वह राज्य के सभी निवासियों के जीवन स्तर में सुधार के लिए प्रतिबद्ध हैं। यहां के पोलो ग्राउंड में गणतंत्र दिवस कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि हर किसी को मजबूत करने के दृष्टिकोण और मानव विकास, प्राथमिक क्षेत्र का कायाकल्प, बुनियादी ढांचा विस्तार, उद्यमिता को बढ़ावा देना, पर्यावरण संरक्षण और शासन में सुधार के छह स्तंभ के साथ इस दिशा में व्यापक कार्य जारी हैं। राज्यपाल तथागत राय के अवकाश पर होने के कारण परंपरा से हटकर इस साल मुख्यमंत्री ने तिरंगा झंडा फहराया। अरुणाचल प्रदेश के राज्यपाल ब्रिगेडियर (सेवानिवृत्त) डॉक्टर बी डी मिश्रा ने रविवार को राज्य के लोगों से अपील की कि वह विकास के लिए भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई में सरकार के साथ आएं। गणतंत्र दिवस कार्यक्रम में इंदिरा गांधी पार्क में राष्ट्र ध्वज फहराने के बाद मिश्रा ने कहा कि पारदर्शिता लाने और भ्रष्टाचार पर रोक लगाने के लिए सरकार ने उपग्रह आधारित निगरानी समेत… Continue reading पूर्वोत्तर में धूमधाम से मना गणतंत्र दिवस

कई लोगों ने पहली बार 71वें गणतंत्र दिवस पर देखी परेड

नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी में रविवार सुबह ठंड के बीच लोग घरों से बाहर निकले और उन्होंने 71वें गणतंत्र दिवस की परेड देखी। इनमें सैकड़ों की संख्या में पुरुष, महिलाएं और बच्चे ऐसे रहे, जिन्होंने पहली बार गणतंत्र दिवस के मौके पर भारत की सांस्कृतिक विविधता के साथ ही सैन्य कौशल का नजारा देखा। कड़ी सुरक्षा-व्यवस्था के साथ ही घने कोहरे की एक धुंध सुबह शहर के ऊपर नजर आई, लेकिन वह भी राजपथ पर परेड देखने आई उत्साही भीड़ को नहीं रोक सकी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस मौके पर सिर पर भगवा पगड़ी पहने दिखे। उन्होंने समारोह में पहली बार मुख्य अतिथि के रूप में यहां आए ब्राजील के राष्ट्रपति जायर मेसियस बोल्सोनारो का स्वागत किया। हालांकि, तीसरी बार ऐसा हुआ है, जब ब्राजील के किसी राष्ट्राध्यक्ष ने गणतंत्र दिवस परेड की शोभा बढ़ाई। इससे पहले वर्ष 1996 और वर्ष 2004 में ब्राजील के राष्ट्रपति यहां इस मौके पर आए थे।इस वर्ष गणतंत्र दिवस के मौके पर राजपथ पर राजसी परेड से पहले परंपरा को तोड़ते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने अमर जवान ज्योति न जाकर, पहली बार राष्ट्रीय वॉर मेमोरियल पर देश के लिए शहीद हुए जवानों को श्रद्धासुमन अर्पित की। इससे पहले, गणतंत्र दिवस के दौरान गणमान्य लोगों… Continue reading कई लोगों ने पहली बार 71वें गणतंत्र दिवस पर देखी परेड

मोदी ने राष्ट्रीय युद्ध स्मारक जाकर शहीदों को दी श्रद्धांजलि

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को गणतंत्र दिवस के अवसर पर इंडिया गेट पर स्थित अमर जवान ज्योति के बजाय पहली बार यहां नव निर्मित राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पर शहीद जवानों को श्रद्धांजलि दी। इंडिया गेट परिसर में स्थित इस स्मारक का पिछले साल 25 फरवरी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उद्घाटन किया था। ‘अमर जवान ज्योति’ पर एक झुकी हुई बंदूक के ऊपर जवान का हेलमेट रखा हुआ है तथा उसके नीचे निरन्तर ज्योति जलती रहती है। 1971 के भारत-पाकिस्तान युद्ध में शहीद हुए जवानों की याद में इंडिया गेट के नीचे 1972 में इसका निर्माण किया गया था। तकरीबन 40 एकड़ क्षेत्र में फैले राष्ट्रीय युद्ध स्मारक में चार चक्र ‘अमर चक्र’, ‘वीरता चक्र’, ‘त्याग चक्र’ और ‘रक्षक चक्र’ हैं जिन पर ग्रेनाइट के पत्थरों पर स्वर्ण अक्षरों से 25,942 जवानों के नाम लिखे हैं। इसमें 15.5 मीटर ऊंचा एक स्मारक स्तंभ, निरंतर जल रही ज्योति और कांस्य के छह भित्ति चित्र हैं जो भारतीय सेना, वायु सेना और नौसेना द्वारा लड़ी गई प्रसिद्ध लड़ाइयों को दर्शा रहे हैं।यह स्मारक 1962 में भारत-चीन युद्ध, 1947,1965 और 1971 में भारत-पाक युद्ध, श्रीलंका में भारतीय शांति रक्षा बल के अभियानों और 1999 में कारगिल युद्ध तथा संयुक्त राष्ट्र शांति… Continue reading मोदी ने राष्ट्रीय युद्ध स्मारक जाकर शहीदों को दी श्रद्धांजलि

सुषमा स्वराज, जेटली, जॉर्ज फर्नांडीस को पद्म विभूषण

नई दिल्ली। पूर्व केंद्रीय मंत्रियों अरूण जेटली, सुषमा स्वराज एवं जार्ज फर्नांडीस, मुक्केबाज मैरी कॉम और मॉरीशस के पूर्व प्रधानमंत्री अनिरूद्ध जगन्नाथ समेत सात हस्तियों को गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर शनिवार को पद्म विभूषण से सम्मानित किए जाने की घोषणा की गयी। गृह मंत्रालय ने घोषणा की कि वाराणसी के प्रसिद्ध शास्त्रीय भजन गायक छन्नूलाल मिश्र और विश्वेशतीर्थ स्वामीजी श्री पेजावर अधोखजा मठ उडुपी (मरणोपरांत) को सर्वोच्च पद्म पुरस्कार-पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया। गृह मंत्रालय ने एक बयान में बताया कि पूर्व रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर, उद्योगपति आनंद महिंद्रा और वेणु श्रीनिवासन, ओलंपिक बैडमिंटन खिलाड़ी पी वी सिंधू, नगालैंड के पूर्व मुख्यमंत्री एस सी जमीर और जम्मू कश्मीर के नेता मुजफ्फर हुसैन बेग को पद्म भूषण से नवाजा गया है। पुरस्कारों की घोषणा गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर की गई।जेटली, स्वराज, फर्नांडीस, पर्रिकर और विश्वेश तीर्थ स्वामी को मरणोपरांत पुरस्कार दिया गया है।बयान में कहा गया कि राष्ट्रपति ने इस साल 141 पद्म पुरस्कार प्रदान किए जाने को मंजूरी दी है जिनमें चार मामलों में दो-दो लोगों को संयुक्त पुरस्कार दिया जाएगा। इसमें कहा गया है, ‘‘पुरस्कार विजेताओं में 34 महिलाएं है। इनमें विदेशी/एनआरआई/पीओआई/ओसीआई श्रेणी से 18 लोग हैं और 12 लोगों को मरणोपरांत सम्मानित किया… Continue reading सुषमा स्वराज, जेटली, जॉर्ज फर्नांडीस को पद्म विभूषण

ज्यादा कर सामाजिक अन्याय की तरह :  बोबड़े

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस एसए बोबड़े ने कहा है कि कर विवादों का जल्दी समाधान किया जाना चाहिए। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि ज्यादा कर की वसूली सामाजिक अन्याय की तरह है। उन्होंने कहा है कि अगर कर विवादों का जल्दी समाधान होता है तो यह करदाताओं के लिए बड़ी राहत होगी। चीफ जस्टिस ने कहा कि जल्दी समाधान से मुकदमेबाजी में फंसी रकम भी मुक्त होगी। अगले साल का आम बजट पेश होने से ठीक पहले उन्होंने कहा- नागरिकों पर कर का बोझ नहीं डाला जाना चाहिए। चीफ जस्टिस ने कहा- कर चोरी करना देश के बाकी नागरिकों के साथ सामाजिक अन्याय है। लेकिन अगर सरकार मनमाने तरीके से या बहुत अधिक टैक्स लगाती है तो ये भी खुद सरकार द्वारा सामाजिक अन्याय होगा। बजट से पहले चीफ जस्टिस की यह टिप्पणी बहुत अहम है। बहरहाल, उन्होंने कर के लंबित मामलों पर चिंता जताने के साथ साथ यह भी कहा कि कर न्यायपालिका देश को चलाने में अहम भूमिका निभाती है। चीफ जस्टिस बोबड़े ने आय कर अपीलीय ट्रिब्यूनल के 79वें स्थापना दिवस पर कहा- कर विवादों का न्यायपूर्ण और जल्दी निपटारा टैक्स देने वालों के लिए प्रोत्साहन का काम करेगा। टैक्स कलेक्टर और टैक्स… Continue reading ज्यादा कर सामाजिक अन्याय की तरह : बोबड़े

राहुल गांधी ने मोदी को दी चुनौती

नई दिल्ली। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है। उन्होंने मोदी को निशाना बनाते हुए उनको चुनौती दी और कहा कि वे किसी  भी विश्वविद्यालय में जाकर छात्रों को बताएं कि उन्होंने उनके लिए क्या किया है। कांग्रेस अध्यक्ष की सोमवार को बुलाई बैठक खत्म होने के बाद राहुल गांधी ने केंद्र पर निशाना साधते हुए कहा कि देश में किसान और छात्र केंद्र सरकार से बेहद गुस्सा हैं। राहुल ने कहा किसानों और छात्रों के गुस्से की मुख्य वजह है बेरोजगारी और महंगाई है। उन्होंने कहा- देश की मौजूदा सरकार हर मौर्चे पर फेल साबित हो चुकी है। उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी को चुनौती देते हुए कहा- मैं आपसे अनुरोध करता हूं कि आप देश के किसी भी विश्वविद्यालय में जाकर वहां के छात्रों को बताएं कि आखिर आपने उनके लिए किया क्या है। राहुल ने प्रधानमंत्री से कहा कि वे छात्रों को बताएं कि आखिर आज देश की अर्थव्यवस्था की यह हालत क्यों है? देश में इतनी बेरोजगारी क्यों है? और यूनिवर्सिटी के अंदर छात्रों पर पुलिस से लाठियां क्यों चलवा रहे हैं। इससे पहले राहुल गांधी ने दिल्ली के राजघाट पर कांग्रेस के विरोध प्रदर्शन के दौरान प्रधानमंत्री… Continue reading राहुल गांधी ने मोदी को दी चुनौती

अयोध्या मामले पर बनी विशेष डेस्क

नई दिल्ली। अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण के लिए सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद इससे जुड़े सभी मामलों पर विचार करने के लिए केंद्र सरकार ने अतिरिक्त सचिव की अध्यक्षता में एक विशेष डेस्क बनाई है। केंद्रीय गृह मंत्रालय की ओर से जारी एक आदेश में कहा गया है कि इसमें तीन अधिकारी होंगे, जो अयोध्या और इससे जुड़े अदालती फैसलों पर गौर करेंगे। गृह मंत्रालय के आदेश में बताया गया है कि ये अधिकारी अतिरिक्त सचिव ज्ञानेश कुमार के नेतृत्व में काम करेंगे। इससे पहले फैसले के बाद से ही भाजपा के सारे नेता कहते रहे हैं कि अयोध्या में बहुत जल्दी भव्य राम मंदिर का निर्माण किया जाएगा। गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने नंवबर में दिए अपने फैसले में विवादित जमीन रामलला को देने और मुस्लिम पक्ष को दूसरी जगह पांच एकड़ जमीन देने को कहा था। मुस्लिम पक्ष को मस्जिद बनाने के लिए पांच एकड़ भूमि देने के अदालत के निर्देश पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सरकार ने प्रस्तावित मस्जिद के लिए पांच जगहों की पहचान कर ली है। आधिकारिक सूत्रों के अनुसार, प्रदेश सरकार ने चार जगह अयोध्या-फैजाबाद मार्ग पर, अयोध्या-बस्ती मार्ग पर, अयोध्या-सुल्तानपुर मार्ग पर और अयोध्या-गोरखपुर मार्ग पर चिन्हित किए हैं… Continue reading अयोध्या मामले पर बनी विशेष डेस्क

ठंड और प्रदूषण की मार

चर्चा यह होने लगी थी कि अब उत्तर भारत में पहले जैसी ठंड नहीं पड़ती। उसके साथ ही ग्लोबल वॉर्मिंग और जलवायु परिवर्तन की बात आती थी। अब हाल यह है कि 2019 का दिसंबर पिछले 118 साल का दूसरा सबसे ठंडा दिसंबर साबित हुआ है। वैसे यह भी जलवायु परिवर्तन का ही असर है। जलवायु परिवर्तन के मतलब ही है कि चरम मौसम होना। फिलहाल, उत्तर भारत में चरम ठंड पड़ रही है। गौरतलब है कि 1901 से 2019 तक सिर्फ चार बार दिसंबर का अधिकतम औसत तापमान 20 डिग्री से नीचे गया है। दिल्ली में इस साल 26 दिसंबर तक अधिकतम औसत तापमान 19.85 डिग्री रहा। उसके बाद ठंड और बढ़ गई। दिल्ली में इस बार शीतलहर ऐतिहासिक है। मौसम विभाग के मुताबिक इससे पहले 1919, 1929, 1961 और 1997 में ही ऐसा हुआ है, जब दिसंबर महीने का अधिकतम औसत तापमान 20 डिग्री सेल्सियस से कम रहा हो। 1997 के 17.3 डिग्री अधिकतम औसत तापमान रहा था। उसके बाद यह दूसरा मौका है जब दिसंबर में इतनी सर्दी पड़ी। दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में 20 दिसंबर से सर्द दिन और शीतलहर का प्रकोप जारी है। नए साल की शुरुआत में हल्की बारिश और ओलावृष्टि की भी… Continue reading ठंड और प्रदूषण की मार

उत्तर भारत में सर्दी का कहर जारी

नई दिल्ली। देश के उत्तरी और पूर्वी हिस्से में मंगलवार को भी भीषण सर्दी और शीतलहर जारी रही। राजस्थान, पंजाब, हरियाणा, बिहार, झारखंड, दिल्ली और चंडीगढ़, मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश में कई जगह न्यूनतम तापमान पांच डिग्री तक पहुंच गया। झारखंड में सर्दी से इस मौसम में अब तक 15 लोगों की मौत हुई, तो वहीं पंजाब में कोहरे के चलते हुए हादसों में 12 लोगों की जान चली गई। रेल और विमान सेवाओं पर भी खासा असर पड़ा है। मौसम विभाग के मुताबिक दिल्ली, हरियाणा, चंडीगढ़, पंजाब, राजस्थान और पश्चिमी उत्तर प्रदेश मे सर्दी से थोड़ी राहत मिल सकती है। वहीं, पूर्वी उत्तर प्रदेश और बिहार में सर्दी बढ़ने की आशंका है। सभी जगह कोहरा भी बरकरार रहेगा। मौसम विभाग ने मंगलवार सुबह दिल्ली का न्यूनतम तापमान तीन डिग्री सेल्सियस से नीचे दर्ज किया। वहीं घने कोहरे के चलते दिल्ली-एनसीआर में दृश्यता घट कर 25 मीटर तक रह गई। मौसम विभाग ने अगले 48 घंटों में कोहरा बढ़ने की आशंका जताई है। राजस्थान में सबसे कम तापमान सीकर में एक डिग्री सेल्सियस रहा। उधर पहाड़ों पर बर्फबारी के बाद हिमाचल प्रदेश में सर्दी बढ़ गई है। लाहौल-स्पीति में तापमान माइनस 24 डिग्री सेल्सियस पहुंच गया, तो राजधानी शिमला… Continue reading उत्तर भारत में सर्दी का कहर जारी

भीषण ठंड की गिरफ्त में उत्तर भारत

नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में सोमवार को ठंड का 119 साल का रिकार्ड टूट गया है। राजधानी में सोमवार को दिन में अधिकतम तापमान का आंकड़ा दस डिग्री सेल्सियस तक नहीं पहुंच सका। दो दिन पहले ही 28 दिसंबर को दिल्ली में अधिकतम तापमान 11 डिग्री था पर 30 दिसंबर को दिल्ली के तीनों केंद्रों पर यह दस डिग्री से नीचे रहे। सोमवार को पूरी राजधानी कोहरे की गिरफ्तार में भी रही, जिससे पांच सौ से ज्यादा हवाई उड़ानों पर असर हुआ है और दर्जनों ट्रेनों की सेवा प्रभावित हुई है। बड़ी संख्या में उड़ानों को रद्द करना पड़ा या रास्ता बदलना पड़ा। दर्जनों ट्रेनें दो से दस घंटे तक की देरी से चल रही हैं। दिल्ली में सोमवार को न्यूनतम तापमान 2.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो इस मौसम के औसत तापमान से चार डिग्री कम है और हवा में नमी का स्तर सौ प्रतिशत दर्ज किया गया। दिल्ली की वायु गुणवत्ता सुबह आठ बज कर 38 मिनट पर गंभीर श्रेणी में दर्ज की गई। इस दौरान एक्यूआई 450 रहा। सफदरजंग और पालम वेधशालाओं में सुबह साढ़े आठ बजे दृश्यता शून्य मीटर दर्ज की गई। वहीं सुबह साढ़े पांच बजे सफदरजंग में दृश्यता एक सौ मीटर और… Continue reading भीषण ठंड की गिरफ्त में उत्तर भारत

जनरल रावत होंगे पहले सीडीएस!

नई दिल्ली। थल सेना प्रमुख के पद से 31 दिसंबर को रिटायर होने जा रहे जनरल बिपिन रावत देश के पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ होंगे। उनके नाम पहले से ही तय माना जा रहा था पर 30 दिसंबर को उन्हें बधाई देने का सिलसिला भी शुरू हो गया। कांग्रेस के नेता और पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टेन अमरिंदर सिंह ने उनको सबसे पहले बधाई दी। मीडिया में आ रही खबरों के मुताबिक कई मंत्रियों और अधिकारियों ने उन्हें देश का पहला सीडीएस बनने की बधाई दी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस साल 15 अगस्त को इस पद का ऐलान किया था। सरकार ने सीडीएस के लिए अधिकतम आयु सीमा 65 साल तय की है और सेवा शर्तें भी जारी कर दी हैं। हालांकि, उनका कार्यकाल कितने साल का होगा, यह अभी स्पष्ट नहीं किया गया है। बहरहाल, पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और केंद्रीय मंत्री कृष्ण पाल गुर्जर ने जनरल रावत को नियुक्ति पर बधाई दी। इसके अलावा भाजपा के प्रवक्ता बैजयंत जय पांडा ने भी उन्हें शुभकामनाएं दीं। लेफ्टिनेंट जनरल सतीश दुआ ने भी उन्हें नियुक्ति पर मुबारकबाद दी। जनरल बिपिन रावत का जन्म 16 मार्च 1958 को हुआ था, अभी वे 61 साल के हैं। 2023… Continue reading जनरल रावत होंगे पहले सीडीएस!

सेना प्रमुख ने जताया टकराव का अंदेशा

नई दिल्ली। सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने सीमा पर टकराव का अंदेशा जताया है। उन्होंने कहा कि नियंत्रण रेखा, एलओसी पर स्थिति कभी भी खराब हो सकती है। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि भारतीय सेना किसी भी समय जवाबी कार्रवाई के लिए तैयार है। सेना प्रमुख ने कहा- सीमा पर स्थिति कभी भी बिगड़ सकती है, लेकिन हम पूरी ताकत के साथ जवाब देने के लिए तैयार हैं। गौरतलब है कि एलओसी पर पाकिस्तान की तरफ से संघर्षविराम के उल्लंघन की लगातार खबरें आ रही हैं, ऐसे में सेना प्रमुख का बयान बेहद गंभीर है। बताया जा रहा है कि अगस्त से ही पाकिस्तान की तरफ से गोलीबारी की घटनाओं में बढ़ोतरी हो गई है। ध्यान रहे अगस्त में ही सरकार ने जम्मू कश्मीर का विशेष राज्य का दर्जा समाप्त कर दिया था। मंगलवार को भी भारतीय सेना ने सुंदरबनी सेक्टर में पाकिस्तान की बोर्डर एक्शन टीम, बैट की कार्रवाई को नाकाम कर दिया था। गौरतलब है कि पाकिस्तान लगातार अलग-अलग प्लेटफॉर्म पर जम्मू कश्मीर का मामला उठाता रहा है। हालांकि उसे भारत के खिलाफ कोई खास कामयाबी नहीं मिल पाई है। इस बीच पिछले दिनों ही केंद्रीय गृह राज्यमंत्री जी किशन रेड्डी ने संसद को बताया… Continue reading सेना प्रमुख ने जताया टकराव का अंदेशा

खट्टर आज दुबारा बनेंगे मुख्यमंत्री

हरियाणा विधानसभा के लिए नवनिर्वाचित भाजपा विधायकों ने मनोहर लाल खट्टर के नाम पर मुहर लगा दी है। राज्यपाल सत्यदेव आर्य ने भी उनको न्योता दे दिया है। वे रविवार को दूसरी बार मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे।

और लोड करें