ऐसी भीड़ देखकर मत चौकें, ये लोग कोरोना की चमत्कारी दवा लेने पहुंचे हैं !

New Delhi: देश में कोरोना की दूसरी लहर ने जमकर उत्पात मचाया है. कोरोना वैक्सीन को लेकर भी देश के स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा लगातार दिशा निर्देशों में बदलाव किए जा रहे हैं. यही कारण है कि लोगों में कोरोना वैक्सीन को लेकर भी उत्साह कम होता दिखाई दे रहा है. इन सबके बीच आंध्र प्रदेश से चौंकाने वाली खबर आ रही है. आंध्र प्रदेश में कोरोना की चमत्कार दवा लेने के लिए हजारों की संख्या में लोगों की भीड़ जमा हो गई. भीड़ को देखकर इस बात का अंदाजा लगाया जा सकता था कि यह कितनी खतरनाक साबित हो सकती है. लेकिन इन सबसे बेपरवाह लोग अपने और अपने परिजनों के लिए भीड़ का एक हिस्सा बने रहे. दवा की होगी जांच आंध्र प्रदेश के नेल्लोर जिले में एक आयुर्वेदिक दवा से कोरोना के इलाज का पक्का दावा किया जा रहा है. स्थानीय लोगों में इस दवा की मांग इतनी बढ़ गई है कि लोग लंबी-लंबी कतारों में खड़े होकर दवा के लिए इंतजार कर रहे हैं. जब यह सूचना आंध्र प्रदेश सरकार को मिली तो इस आयुर्वेदिक दवा के इलाज की क्षमता को जांचने के लिए इसे भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद में भेजने का फैसला किया गया है. वहां… Continue reading ऐसी भीड़ देखकर मत चौकें, ये लोग कोरोना की चमत्कारी दवा लेने पहुंचे हैं !

Covaxin या Covishield किस वैक्सीन से बनती है जल्दी एंटीबॉडी..ICMR प्रमुख ने किया चौंकाने वाला दावा

देश में कोरोना संक्रमण से मौतों का आंकड़ा लगातार बढ़ता ही जा रहा है। और संक्रमितों के मामले कुछ राज्यों में भले ही कम हो रहे है लेकिन बाकी राज्यों में कोरोना का विस्फोट अभी भी ज़ारी है। लेकिन महामारी के इस बुरे वक्त में कोरोना(corona) का संजीवनी बूटी हमारी वैक्सीन (vaccine)है। देश में अभी 18 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को वैक्सीन लगाई जा रही है। जिसका रजिस्ट्रेशन(ragistration) कोविन ऐप(cowin app) पर किया जा रहा है। देश में अभी तक करोड़ों लोगों का वैक्सीनेशन किया जा चुका है। लेकिन इसमें अभी सबके मन में यह सवाल आ रहा है कि कोवैक्सीन या कोविशील्ड(Covaxin or Covishield)किस वैक्सीन को लगाने से जल्दी एंटीबॉडी (antibody)बनती है। अब इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) के डीजी डॉ. बलराम भार्गव ने इसको लेकर बड़ा बयान दिया है। इसे भी पढ़ें Corona Update: देश में फिर बढ़ा COVID-19 से मौतों का आंकड़ा, एक दिन 4209 की मौत, सामने आए 2.59 लाख नए मामले कोवैक्‍सीन से ज्‍यादा एंटीबॉडी बनाती है कोविशील्‍ड वैक्सीन इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) प्रमुख डॉ. बलराम भार्गव ने कोवैक्‍सीन और कोविशील्‍ड द्वारा बनने वाली एंटीबॉडी को लेकर चौंकाने वाला दावा किया है। उन्होंने कहा कि कोविशील्ड वैक्सीन की पहली डोज लेने… Continue reading Covaxin या Covishield किस वैक्सीन से बनती है जल्दी एंटीबॉडी..ICMR प्रमुख ने किया चौंकाने वाला दावा

Good News: 2 से 18 साल के बच्चों के का होगा क्लीनिकल ट्रायल ,भारत बायोटेक को मिली मंजूरी

New Delhi: कोरोना कू दूसरी लहर से भारत में हर कहीं हाहाकार मचा हुआ है. लेकिन कोरोना के प्रकोप की बाच अब एक बार फिर से राहत वाली खबर भी आई  है.  भारत बायोटेक अपनी कोरोना रोधी वैक्सीन कोवैक्सीन का दो से 18 साल के बच्चों पर जल्द ही दूसरे और तीसरे चरण का क्लीनिकल ट्रायल शुरू करेगी. कोरोना पर गठित विशेषज्ञों की समिति ने मंगलवार को ट्रायल शुरू करने के लिए अपनी मंजूरी दे दी. आधिकारिक सूत्रों ने यह जानकारी दी है. दिल्ली एवं पटना के एम्स और नागपुर स्थिति मेडिट्रिना इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइसेंस समेत देश के विभिन्न केंद्रों पर 525 वालंटियर पर यह ट्रायल किया जाएगा. भारत बायोटेक ने मांगी थी ट्रायल की अनुमति हैदराबाद स्थित भारत बायोटेक ने दो से 18 साल के बच्चों पर कोवैक्सीन की सुरक्षा और प्रतिरक्षा का आकलन करने की अनुमति मांगी थी. कोरोना पर गठित केंद्रीय दवा मानक नियंत्रण संगठन (सीडीएससीओ) की विषय विशेषज्ञ समिति (एसईसी) ने मंगलवार को भारत बायोटेक के आवेदन पर व्यापक विचार विमर्श करने के बाद उसे ट्रायल की मंजूरी दी. एसईसी ने दूसरे और तीसरे चरण के ट्रायल की सिफारिश करते हुए यह शर्त भी रखी है कि भारत बायोटेक तीसरे चरण का क्लीनिकल ट्रायल शुरू करने… Continue reading Good News: 2 से 18 साल के बच्चों के का होगा क्लीनिकल ट्रायल ,भारत बायोटेक को मिली मंजूरी

Corona Update: RT-PCR टेस्ट को लेकर ICMR ने जारी की नई गाइडलाइन, जानें क्या है विशेष

New Delhi: देश में कोरोना वायरस की दूसरी लहर के कारण लोगों में काफी डर है. एक दिन में 300 से ज्यादा मौतें और 4 लाख के करीब नये मरीज सामने आ रहे हैं. हालातों को देखते हुए केंद्र सरकार लगातार राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को आरटी-पीसीआर जांच बढ़ाने के निर्देश दे रहा है. इन परिस्थितियों में लोग भी कोरोना के भय से जांच कराने पहुंच रहे हैं. इन सबके बीच अब  भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) ने आरटी-पीसीआर जांच को लेकर एक नई गाइडलाइन जारी की है. गाइडलाइन में बताया गया है कि आपको किन परिस्थितियों में आरटी-पीसीआर टेस्ट कराना चाहिए और कब नहीं करवाना चाहिए. बता दें कि RT-PCR  टेस्ट के जरिए पता चलता है कि कोई व्यक्ति कोरोना से संक्रमित है या नहीं. लगातार हो रहे जांचों के कारण लैब कर्मियों पर काफी दबाव बढ़ रहा है. इसे देखते हुए हुए ICMR ने RT-PCR  को लेकर गाइडलाइन जारी की है. ये है ICMR द्वारा जारी किया गया आरटी-पीसीआर टेस्ट को लेकर नया  दिशानिर्देश … किन परिस्थितियों में आरटी-पीसीआर जांच की नहीं है जरूरत ICMR  ने कहा है कि रैपिड एंटीजन टेस्ट में कोरोना संक्रमण पाए जाने पर RT-PCR  जांच नहीं करानी चाहिए. जब पहली बार RT-PCR… Continue reading Corona Update: RT-PCR टेस्ट को लेकर ICMR ने जारी की नई गाइडलाइन, जानें क्या है विशेष

कोरोना अपडेट : सरकार के भरोसे रहने की जरूरत नहीं, अब आप भी खरीद सकेंगे कोरोना का टीका, देखें क्या है कीमतें

पुणे: कोरोना संक्रमण पुरे देश में बढ़ता ही जा रहा है। भारत में टीकाकरण अभियान की शुरुआत 16 जनवरी से हुई थी। भारत में टीकाकरण का कार्य जोरो-शोरो से चल रहा है। भारत में कोविड -19 का पहला टीका एम्स के मनीष कुमार को लगा था। सरकार ने 1 मई से 18 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को वैक्सीन देने की घोषणा की है। इसके बाद सीरम इंस्टीट्यूट (Serum Institute) ने कोविशील्ड वैक्सीन (Covishield Vaccine) की कीमतों की घोषणा कर दी है। भारत में एक दिन में 3 लाख करीब मामले दर्ज हो रहे है। और एक दिन में दो हजार मौतें हो रही है। जो बेहद चिंताजनक है। सभी राज्यों की सरकार ने जनता के प्रति सख्ति का रूख अपनाया है। जनता से अपील की है कि कोरोना के इस खतरनाक माहौल में कोई भी बिना काम घर से बाहर ना जाएं। इसे भी पढ़ें Bihar : Corona काल में ‘Oxygen Man’ बना ये शख्स, अब तक 900 से ज्यादा मरीजों को पहुंचा चुके हैं Oxygen सिलेंडर ये होगी कोविशील्ड वैक्सीन की कीमत सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (Serum Institute of India) ने बयान जारी कर कहा कि भारत सरकार के निर्देशों के बाद हम कोविशील्ड वैक्सीन (Covishield Vaccine Price)… Continue reading कोरोना अपडेट : सरकार के भरोसे रहने की जरूरत नहीं, अब आप भी खरीद सकेंगे कोरोना का टीका, देखें क्या है कीमतें

कोविड-19: स्वदेशी टीका 15 अगस्त तक उपलब्ध कराने का लक्ष्य

भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) ने कोविड-19 का स्वदेशी टीका चिकित्सकीय उपयोग के लिए 15 अगस्त तक उपलब्ध कराने के मकसद से चुनिंदा चिकित्सकीय संस्थाओं और अस्पतालों से कहा है

और लोड करें