चीन का घमंड राक्षसी, चेते दुनिया!

चीन इक्कीसवीं सदी का नंबर एक खतरा है और इस बात को खुद राष्ट्रपति शी जिनफिंग ने जगजाहिर किया है। उन्होंने खम ठोक दुनिया से कहा है कि 21वीं सदी हमारी है। मतलब जो चीन चाहेगा उसे दुनिया को मानना होगा। चीन अपने माफिक दुनिया बनाएगा। चीन अब अपने को पृथ्वी का केंद्र बिंदु मानता है। इतिहास में जैसे चीन के बादशाह अपने साम्राज्य को मिडिल किंगडम समझते थे और दुनिया को मातहत, वहीं घमंड अब चीनी कम्युनिस्ट पार्टी में है। तभी स्थापना के सौ साल पर उसका दुनिया में ढिंढोरा है कि उसने वह स्वर्ग बनाया है, जो दुनिया में कहीं नहीं बना। निश्चित ही चीनी कम्युनिस्ट पार्टी और उसके नेताओं व चीनी लोगों के लिए गर्व की बात है कि चीन अब विकसित है। दुनिया की औद्योगिक फैक्टरी है। महाशक्ति देश है और लोग काफी हद तक खुशहाल। बावजूद इसके वह न स्वर्ग है और न मानवता की अनुकरणीय विकास यात्रा। उलटे पृथ्वी के पौने आठ अरब लोगों में से 19 प्रतिशत (कोई 145 करोड़ लोग) चीनियों को कम्युनिस्ट पार्टी ने ऐसी मशीनों, ऐसे रोबोट में कनवर्ट किया है, जो गुलाम माफिक काम करते हैं और पिंजरों में रहते हैं। चीन की सोने की लंका असलियत में राक्षसी… Continue reading चीन का घमंड राक्षसी, चेते दुनिया!

चीन बढ़ाएगा अपनी सैन्य ताकत

china increase military strength : बीजिंग। चीन की कम्युनिस्ट पार्टी यानी सीपीसी की स्थापना के एक सौ साल पूरे हो गए हैं। इस मौके पर चीन सरकार और सत्तारूढ़ कम्युनिस्टा पार्टी इसका जश्न मना रहे हैं। ऐसा ही एक समारोह गुरुवार को हुआ। इसमें राष्ट्रपति शी जिनफिंग ने भाषण दिया। उन्होंने दुनिया को अपनी ताकत का अहसास कराते हुए कहा- मैं शपथ लेता हूं कि चीन की सैन्य ताकत को और बढ़ाया जाएगा। हमारी मिलिट्री को हम वर्ल्ड क्लास बनाएंगे। उन्होंने कहा कि वो दौर अब हमेशा के लिए जा चुका है, जब कोई भी देश चीन को धमकाकर चला जाता था। Rajasthan के लाल ने गोली लगने पर भी नहीं हारी हिम्मत, सेना ने मार गिराए Lashkar कमांडर समेत दो आतंकी चीनी राष्ट्रपति ने फेमस थियेनआनमन चौक में लगे माओत्से तुंग की फोटो के सामने खड़े होकर भाषण दिया। जिनफिंग ने अपने भाषण चीन का सम्मान और वहां लोगों की आय बढ़ाने का श्रेय भी कम्युनिस्ट पार्टी को दिया। जिनफिंग माओ स्टाइल की जैकेट पहनी थी। उन्होंने कार्यक्रम में शपथ ली कि चीन वर्ल्ड क्लास मिलिट्री बनाने की अपनी रणनीति को आगे बढ़ाता रहेगा। कम्युनिस्ट पार्टी की स्थापना 1921 में कोई 50 लोगों ने की थी। सीपीसी के मुताबिक… Continue reading चीन बढ़ाएगा अपनी सैन्य ताकत

चीन की कम्युनिस्ट पार्टी के सौ साल : chinese communist party 100 Years

chinese communist party 100 years : चीन की कम्युनिस्ट पार्टी यानी सीपीसी की स्थापना की तारीख को लेकर कुछ संशय है। कई इतिहासकार मानते हैं कि जुलाई 1921 के मध्य में शंघाई में पार्टी की स्थापना हुई थी और इसका पहला सम्मेलन हुआ था। लेकिन चूंकि पार्टी खुद एक जुलाई को स्थापना दिवस मनाती है इसलिए आधिकारिक रूप से एक जुलाई 2021 को इसकी स्थापना के एक सौ साल हो गए। एक सौ साल के मौके पर सीपीसी का सम्मेलन थियेनआनमन चौक पर किया गया। यह बात अपने आप इस पार्टी के बारे में बहुत कुछ स्पष्ट कर देती है। थियेनआनमन चौक दुनिया के लिए चीन के राष्ट्रीय शर्म का प्रतीक है वहां चीन की सरकारी पार्टी ने अपनी स्थापना के सौ साल का जश्न मनाया। इस तरह उसने पहले कई बार स्पष्ट की जा चुकी धारणा को और स्पष्ट कर दिया कि उसके लिए दुनिया की सोच मायने नहीं रखती है और न उसे लोकतंत्र बहाली की मांग कर रहे युवाओं पर टैंक चलवा कर 10 हजार लोगों को मार डालना कोई शर्म की बात है। यह भी पढ़ें: कर्ज लेकर काम चलाएं! दुनिया को इसी नजरिए से चीन की कम्युनिस्ट पार्टी को देखना चाहिए। चीन की कम्युनिस्ट पार्टी… Continue reading चीन की कम्युनिस्ट पार्टी के सौ साल : chinese communist party 100 Years

सौ साल में चीन कितना बदला?

communist party of china : चीनी कम्युनिस्ट पार्टी को बने आज सौ साल पूरे हुए। अपने लगभग 9 करोड़ सदस्यों के साथ वह वास्तव में दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी है और सबसे शक्तिशाली पार्टी है। हमारी भाजपा अपने 12 करोड़ सदस्यों के साथ दुनिया की सबसे बड़ी पार्टी होने का दावा करती है लेकिन उसके नेताओं को पता है कि जिस दिन उनके नीचे से कुर्सी खिसकी, ये 12 के 2 करोड़ों को भी बचाना मुश्किल हो जाएगा। इस साल चीनी पार्टी की सदस्यता के लिए 2 करोड़ अर्जियां आईं लेकिन उनमें से सिर्फ 20 लाख को ही सदस्यता मिली। इसके अलावा इस पार्टी की खूबी यह है कि पिछले 72 साल से यह लगातार सत्ता में है। यह एक दिन भी सत्ता से बाहर नहीं रही। चीन में इसने किसी अन्य पार्टी को कभी पनपने नहीं दिया। इस पार्टी में 1921 से लेकर अब तक आतंरिक सत्ता-संघर्ष कभी-कभी हुआ, वरना इसका नेता पार्टी, सरकार और फौज— इन तीनों को हमेशा अपने कब्जे में रखता रहा। यह भी पढ़ें: हिंदुआना हरकतः हिंदुआना आदत 1917 में रुस में हुई कम्युनिस्ट क्रांति से प्रेरित होकर चार साल बाद 1921 में दो चीनी बुद्धिजीवियो— चेन दूश्यू और ली दझाओ ने शांघाई में… Continue reading सौ साल में चीन कितना बदला?

Corona Relief : ‘स्पूतनिक V’ का भारत में शुरू हुआ प्रोडक्शन, हर साल तैयार होंगे इतने डोज

कोरोना की दूसरी लहर में आई कमी के बाद भी लोग तीसरे लहर की भविष्यवाणी से डरे हुए हैं. देश के लोगों को अब सिर्फ कोरोना की वैक्सीन से ही उम्मीद है.

अब क्या ब्रिटेन भी टूटेगा ?

ग्रेट ब्रिटेन ने 1947 में भारत के दो टुकड़े कर दिए थे। अब उसके भी कम से कम दो टुकड़े होने की नौबत आ गई है। यों तो ब्रिटेन ग्रेट बना है, चार राष्ट्रों को मिलाकर। ब्रिटेन, स्कॉटलैंड, वेल्श और उत्तरी आयरलैंड ! इन चारों राज्यों का कभी अलग-अलग अस्तित्व था। इनकी अपनी सरकारें थीं, अपनी-अपनी भाषा और संस्कृति थी। लेकिन ग्रेट ब्रिटेन बन जाने के बाद इन राष्ट्रों की हैसियत ब्रिटेन के प्रांतों के समान हो गई। इंग्लैंड की भाषा, संस्कृति, परंपरा का वर्चस्व इन राष्ट्रों पर छा गया लेकिन स्काटलैंड के लोग हमेशा अपनी पहचान पर गर्व करते रहे और वे अपनी स्वायत्तता के लिए संघर्ष भी करते रहे। यूरोपीय संघ बनने के बाद या यों कहिए कि द्वितीय महायुद्ध के बाद के वर्षों में स्काटलैंड के लोगों ने महसूस किया कि व्यापार और राजनीति के हिसाब से वे लोग अंग्रेजों के मुकाबले नुकसान में रहते हैं। वे स्काटलैंड को इंग्लैंड से अलग करना चाहते हैं। अलगाव की इस मांग को जोरों से गुंजाने वाली पार्टी ‘स्काॅटिश नेशनलिस्ट पार्टी’ इस बार फिर चुनाव जीत गई है। 2007 से अब तक वह लगातार चौथी बार जीती है, हालांकि 129 सदस्यों की उसकी संसद में उसे 64 सीटें ही मिली… Continue reading अब क्या ब्रिटेन भी टूटेगा ?

आगे बढ़ी अलगाव की भावना

ब्रिटेन ने आत्म-केंद्रित नजरिया अपनाते हुए खुद को यूरोपियन यूनियन से अलग किया…

इंडिया ए की ओर से खेलने के कारण मदद मिली : श्रेयस

न्यूजीलैंड के खिलाफ पहले वनडे मुकाबले में अपना पहला अंतरराष्ट्रीय शतक जड़ने वाले भारतीय बल्लेबाज श्रेयस अय्यर ने नंबर चार पर बल्लेबाजी करने को लेकर कहा कि उन्हें

ब्याज दरें यथावत रखने से शेयर बाजार में तेजी

अंतरराष्ट्रीय स्तर विशेषकर एशियाई बाजारों में रही जबरदस्त तेजी के साथ ही घरेलू स्तर पर रिजर्व बैंक के नीतिगत दरों को यथावत रखने से वित्त एवं बैंकिंग समूह के साथ ही भारती एयरटेल और वाेडाफोन आइडिया जैसी कंपनियों में हुयी लिवाली के बल पर शेयर

सोना 25 रुपये चढ़ा, चांदी 20 रुपये नरम

अंतरारष्ट्रीय स्तर पर कीमती धातुओं के रही तेजी के बल पर घरेलू स्तर पर ग्राहकी सुस्त रहने के बावजूद आज दिल्ली सर्राफा बाजार में सोना 25 रुपये बढ़कर 41670 रुपये प्रति दस ग्राम पर रहा जबकि चांदी 20 रुपये उतरकर 47350 रुपये प्रति किलोग्राम बोली गयी।

मंत्रिमंडल ने दी भारत-श्रीलंका एलायंस एयर की उड़ानों को मंजूरी

नई दिल्ली। केंद्रीय मंत्रिमंडल ने भारत और श्रीलंका के बीच एलायंस एयर की अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को मंजूरी दे दी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में बुधवार को केंद्रीय मंत्रिमंडल ने एयर इंडिया की 100 प्रतिशत सहायक कंपनी अलायंस एयर को भारत और श्रीलंका के बीच उड़ानों को मंजूरी दी। मंत्रिमंडल की बैठक के बाद सरकार द्वारा जारी बयान के अनुसार, अलायंस एयर द्वारा घरेलू संचालन के लिए न्यूनतम 20 विमानों अथवा कुल क्षमता के 20 प्रतिशत विमानों की तैनाती होने तक अंतरिम अवधि के लिए एक विशेष व्यवसथा को मंजूरी दी गई है। सरकार ने कहा कि एयर इंडिया के रणनीतिक विनिवेश की जो बात चल रही है, उसमें अलायंस एयर की बिक्री शामिल नहीं है। सरकार अपने अधीन एयर लाइन का संचालन दुरुस्त करना चाहती है, ताकि एयर इंडिया की बिक्री के बाद यह नेशनल कैरियर बन सके। सरकार ने कहा, भारत और श्रीलंका के बीच गहरा द्विपक्षीय संबंध हैं, इसलिए दिलचस्पी दोनों देशों के बीच कनेक्टिविटी मजबूत बनाने में दिलचस्पी ले रहे हैं, ताकि दोनों देशों के लोगों के बीच संपर्क बढ़े। इस मंजूरी के पहले श्रीलंका पलाली और बट्टीकलोवा हवाई अड्डों से किसी वाणिज्यिक उड़ान का नियमित संचालन नहीं था।

एमिरेट्स का ऑफर, दुबई का रिटर्न टिकट 19,235 रुपए में

नई दिल्ली। संयुक्त अरब अमीरात की विमान सेवा कंपनी एमिरेट्स ने नए साल के अवसर पर चुनिंदा अंतरराष्ट्रीय गंतव्यों के लिए सस्ते किराये के ऑफर की घोषणा की है जिसके तहत दुबई का रिटर्न टिकट 19,235 रुपए का है। यह ऑफर 13 जनवरी से 30 नवंबर तक की यात्रा के लिए है जिनके टिकट 20 जनवरी तक बुक कराए जा सकते हैं। इसके तहत दुबई आने-जाने का इकोनॉमी श्रेणी का किराया 19,235 रुपए और बिजनेस श्रेणी का किराया 60,068 रुपए है। इस ऑफर के तहत अन्य अंतरराष्ट्रीय गंतव्यों में जोहानेसबर्ग, म्यूनिख, बार्सिलोना, शिकागो, लंदन, न्यूयॉर्क और सैन फ्रांसिस्को हैं। एमिरेट्स भारत में दिल्ली, मुंबई, अहमदाबाद, बेंगलुरु, चेन्नई, हैदराबाद, कोच्चि, कोलकाता और तिरुवनंतपुरम् से सेवायें दे रही है।

ऑस्ट्रेलिया के पीएम का भारत दौरा रद्द

नई दिल्ली। ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्टॉक मॉरिसन का भारत दौरा रद्द हो गया है। राजनियक सूत्रों के हवाले से बताया गया है कि वे भारत के दौरे पर नहीं आ रहे हैं क्योंकि उनके यहां कई इलाकों में बड़े पैमाने पर आग लगी है और कई जगह तो इमरजेंसी घोषित करनी पड़ी है। इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ऑस्‍ट्रेलिया के प्रधानमंत्री को फोन कर वहां बड़े पैमाने पर लगी आग पर दुख जताया। प्रधानमंत्री मोदी ने अपनी ओर से और सभी भारतीयों की ओर से लंबे समय से और गंभीर हो चुकी आग के कारण ऑस्ट्रेलिया में जानमाल के नुकसान पर संवेदना जताई। विदेश मंत्रालय की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक प्रधानमंत्री मोदी ने ऑस्ट्रेलिया के साथ अपनी रणनीतिक साझेदारी को मजबूत करने के लिए भारत की प्रतिबद्धता को दोहराया। उन्होंने कहा कि बीते साल के अंत तक वे भारत में ऑस्ट्रेलिया के पीएम का स्वागत करने के लिए उत्सुक थे। गौरतलब है कि ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन की 14 से 16 जनवरी, 2020 तक भारत की तय यात्रा अपने यहां जंगलों में लगी आग की वजह से पैदा हुई असाधारण परिस्थितियों के कारण रद्द कर दी गई है। ऑस्ट्रेलिया के दक्षिण-पश्चिमी राज्यों न्यू साउथ वेल्स… Continue reading ऑस्ट्रेलिया के पीएम का भारत दौरा रद्द

दिल्ली कॉमिक कॉन 20 दिसंबर से

नई दिल्ली। दिल्ली कॉमिक कॉन का तीन दिवसीय 9 वां संस्करण 20 दिसंबर को राजधानी में शुरू हो रहा है। इसके आयोजक कॉमिक कॉन इंडिया ने बुधवार को यहां जारी बयान में यह जानकारी देते हुये कहा कि इसमें कॉमिक्स के अंतरराष्ट्रीय कलाकार भाग लेंगे जिनमें बॉसलॉजिक उर्फ कोडे अब्दो, इलस्ट्रेटर चाड हार्डिन और कलाकार / डिजाइनर बर्नार्ड चांग शामिल हैं। बीटबॉक्सर ईश, एमआईएसबीए (मिस्बा) क्रू, मेंटलिस्ट करण सिंह का लाइव परफॉर्मंस भी होगा। इस दौरान चार लाख रुपए की पुरस्कार राशि के साथ नया कॉस्ट्यूम प्ले (कॉसप्ले) ‘ इंडियन चैम्पियनशिप ऑफ कॉसप्ले 2019 के दिल्ली क्वालिफायर और दिल्ली कॉमिक कॉन कॉसप्ले कॉन्टेस्ट 2019 के विजेताओं की भी घोषणा की जायेगी। कॉमिक्स, फिल्मों, टीवी, गेमिंग, एक्सपरिएंशियल ज़ोन और कॉसप्ले का भी प्रदर्शन किया जाएगा। कंपनी ने कहा कि कॉमिक कॉन के दिल्ली संस्करण के बाद अहमदाबाद शहर में पहली बार कॉमिक कॉन का एक फरवरी 2020 से दो दिवसीय आयोजन किया जायेगा।

आयुध कारखानों का निजीकरण नहीं : राजनाथ

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने आयुध कारखानों के निजीकरण की अटकलों काे खारिज करते हुए सोमवार को राज्यसभा में कहा कि इनका निगमीकरण

और लोड करें