जयपुर में पसरा सन्नाटा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जनता कर्फ्यू के आह्वान पर आज राजस्थान के जयपुर में ऐसा सन्नाटा पसर गया कि परिंदा भी नजर नहीं आ रहा है।

‘जनता कर्फ्यू’ का सख्ती से पालन करें : शाह

गृह मंत्री अमित शाह ने लोगों से ‘जनता कर्फ्यू’ की प्रधानमंत्री की अपील का सख्ती से पालन करने का आग्रह करते हुए रविवार को कहा कि हम सभी मिलकर कोरोना की श्रृंखला को तोड़ें और देश को इस महामारी से बचाने में योगदान करें।

जनता कर्फ्यू: तमिलनाडु पूरी तरह से बंद

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के आज देशव्यापी जनता कर्फ्यू के आह्वान के मद्देनजर तमिलनाडु पूरी तरह से बंद है। राज्य सरकार ने जनता कर्फ्यू का पूरी तरह से समर्थन किया है

कोरोना के खिलाफ ‘जनता कर्फ्यू’ का हिस्सा बनें : मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई को सफल बनाने के लिए लोगों से रविवार को ‘जनता कर्फ्यू’ का हिस्सा बनने का अनुरोध किया।

जरूरी है जन सहयोग आंदोलन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 22 मार्च को जनता कर्फ्यू की अपील की। इसका समर्थन नहीं करने का कोई कारण नहीं है। कोरोन वायरस का संक्रमण फैलने की जो स्पीड है, उससे अपने इस तरह के उपायों की जरूरत प्रमाणित होती है।

मोदी ने संबोधन में देरी क्यों की?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में इतना समय क्यों लिया? बुधवार की शाम को सरकार की ओर से कहा गया कि प्रधानमंत्री मोदी गुरुवार को रात आठ बजे देश को संबोधित करेंगे। सवाल है कि बुधवार को ही क्यों नहीं उन्होंने देश को संबोधित कर दिया या गुरुवार की सुबह क्यों नहीं किया?

जनता कर्फ्यू क्या प्रयोग है?

रविवार को जिस जनता कर्फ्यू की घोषणा की गई है क्या वह एक प्रयोग है? क्या इसके बाद लंबे समय के कर्फ्यू की घोषणा होने वाली है? इस तरह की चर्चओं का बाजार गुरुवार से ही गरम है।

जनता कर्फ्यू: कुछ सुझाव

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना विषाणु (वायरस) का मुकाबला करने के लिए देशवासियों को जो संदेश दिया, वह बहुत ही प्रेरक और सामायिक था। यह वैसा ही था, जैसे कि 1965 में प्रधानमंत्री लालबहादुर शास्त्री ने जनता से कहा था कि सप्ताह में एक दिन उपवास करें।

गरीबों के राशन पानी की जिम्मेदारी सरकार की : योगी

कोरोना वायरस के खतरे से घबराने की बजाय ऐहतियात बरत कर इस चुनौती का सामना करने की अपील करते हुये

डब्ल्यूएचओ ने मोदी के ‘जनता कर्फ्यू’ को सराहा

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के भारत के प्रतिनिधि हेंक बेकेडम ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘जनता कर्फ्यू’ पहल की सराहना की, जो रविवार को एक दिन के लिए प्रभावी होगा।

और लोड करें