प्रशांत किशोर पर नीतीश का निशाना

पटना। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने एक बार फिर प्रशांत किशोर पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि प्रशांत किशोर को उन्होंने भाजपा नेता अमित शाह के कहने पर अपनी पार्टी में शामिल किया था। अब अगर वे कहीं जाना चाहते हैं तो चले जाएं। ध्यान रहे नीतीश कुमार को प्रशांत किशोर को अपनी पार्टी में राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बना कर नंबर दो नेता का दर्जा दिया था। पर अब दोनों में दूरी बन गई है। हालांकि नागरिकता विवाद में नीतीश अब प्रशांत किशोर के रास्ते पर ही चल रहे हैं। बहरहाल, मंगलवार को नीतीश कुमार ने कहा- हमारी पार्टी में ट्विट वगैरह का कोई मतलब नहीं होता है। हमारी पार्टी में सब छोटे लोग हैं, ट्विट कर के राजनीति नहीं होती है। गौरतलब है कि प्रशांत किशोर लगातार नागरिकता कानून को लेकर ट्विट कर रहे हैं, जिससे जदयू और भाजपा में असहज स्थिति पैदा हो रही है। इस बीच प्रशांत किशोर ने नीतीश के बयान पर कहा कि वे पटना आकर नीतीश कुमार को जवाब देंगे। समय पर सब कुछ बता देंगे। इससे पहले, एक अणे मार्ग स्थित मुख्यमंत्री आवास में नीतीश कुमार ने कहा- हमने प्रशांत किशोर को अमित शाह के कहने पर पार्टी में लिया था। प्रशांत… Continue reading प्रशांत किशोर पर नीतीश का निशाना

अब सुशील मोदी से उलझे प्रशांत किशोर

नई दिल्ली। जनता दल यू के उपाध्यक्ष और चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने अब भाजपा के नेता और बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी के खिलाफ मोर्चा खोला है। प्रशांत किशोर ने उनके ऊपर तंज करते हुए कहा है कि वे परिस्थितिवश उप मुख्यमंत्री बन गए हैं, वरना उनकी पार्टी तो 2015 में चुनाव हार गई थी। इससे पहले उन्होंने कहा था कि बिहार में जदयू को भाजपा से ज्यादा सीटें मिलनी चाहिएं। इस पर चल रहे विवाद के बीच मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा है कि सब कुछ ठीक है। बहरहाल, प्रशांत किशोर ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर बिहार के उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी पर तंज करते हुए लिखा- बिहार में नीतीश कुमार का नेतृत्व और जदयू की सबसे बड़े दल की भूमिका बिहार की जनता ने तय की है, किसी दूसरी पार्टी के नेता या शीर्ष नेतृत्व ने नहीं। 2015 में हार के बाद भी परिस्थितिवश उप मुख्यमंत्री बनने वाले सुशील मोदी से राजनीतिक मर्यादा और विचारधारा पर व्याख्यान सुनना सुखद अनुभव है। इसके इससे पहले जदयू के लिए ज्यादा सीटें मांगने के प्रशांत किशोर के बयान पर निशाना साधते हुए सुशील मोदी ने कहा था कि जो लोग किसी विचारधारा के तहत नहीं, बल्कि चुनावी डाटा… Continue reading अब सुशील मोदी से उलझे प्रशांत किशोर

प्रशांत किशोर ने जदयू के लिए मांगी ज्यादा सीटें

पटना। बिहार में विधानसभा चुनाव एक साल बाद होने हैं पर ऐसा लग रहा है कि सीटों को  लेकर सत्तारूढ़ गठबंधन में अभी से खींचतान शुरू हो गई। जनता दल यू के उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर ने दावा किया है कि विधानसभा चुनाव में जदयू को ज्यादा सीटें मिलनी चाहिएं। उन्होंने कहा है कि भाजपा के मुकाबले 30 से 40 फीसदी ज्यादा सीटों पर जदयू को लड़ना चाहिए। पुराने फार्मूले से ऐसा ही होता था पर इस बार लोकसभा चुनाव में भाजपा और जदयू दोनों बराबर सीटों पर लड़े थे और तभी कहा जा रहा था कि विधानसभा चुनाव में भी दोनों बराबर सीटों पर ही लड़ेंगे। माना जा रहा है कि महाराष्ट्र और झारखंड में सहयोगियों की ओर से भाजपा को लगे झटके के बाद जदयू के मोलभाव की क्षमता बढ़ी है। तभी चुनाव रणनीतिकार और जदयू के उपाध्यक्ष प्रशांत किशोर ने अपनी पार्टी के लिए ज्यादा सीटों की मांग रखी है। उन्होंने कहा है कि भाजपा को सीटों के बंटवारे को लेकर जदयू के प्रस्ताव पर जरूर विचार करना चाहिए। उन्होंने कहा है- मुझे लगता है कि जेडीयू को आगामी चुनाव में 50 फीसदी से ज्यादा सीटें मिलनी चाहिए। प्रशांत किशोर ने कहा है कि भाजपा से सीट बंटवारे… Continue reading प्रशांत किशोर ने जदयू के लिए मांगी ज्यादा सीटें

बिहार उपचुनाव में दोनों गठबंधन ‘अपनों’ से परेशान

बिहार में 21 अक्टूबर को पांच विधानसभा सीटों पर होने वाले उपचुनाव में दोनों गठबंधन ‘अपनों’ से परेशान हैं। राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) हो या विपक्षी दलों का महागठबंधन, दोनों ओर बागी अपने-अपने गठबंधन का खेल बिगाड़ने में लगे हुए हैं।

और लोड करें