जितिनः भाजपा बन रही कांग्रेस

प्रसिद्ध कांग्रेसी नेता जितेंद्रप्रसाद के बेटे और पूर्व मंत्री जितिन प्रसाद के भाजपा-प्रवेश ने हलचल-सी मचा दी है। हमें इस घटना को पहले दो दृष्टियों से देखना होगा। एक तो यह कि उत्तरप्रदेश की भाजपा को इससे क्या फायदा होगा और दूसरा उत्तरप्रदेश की कांग्रेस को इससे क्या नुकसान होगा ? एक तीसरी दृष्टि भी है। वह यह कि भाजपा और कांग्रेस, इन दोनों पार्टियों के भविष्य पर इस घटना का कुल मिलाकर क्या प्रभाव पड़ेगा?  यह ठीक है कि जितिन अपनी पार्टी कांग्रेस में माँ-बेटा और भाई-बहन के नजदीक थे और उन्हें प. बंगाल का चुनाव-प्रभारी भी बनाया गया था, फिर भी उन्होंने कांग्रेस क्यों छोड़ी? उनका कहना है कि वे कांग्रेस में रहकर जनता की सेवा नहीं कर पा रहे थे। जितिन का तात्पर्य यह है कि राजनीति में लोग जनता की सेवा के लिए जाते हैं। इस पर कांग्रेसी और भाजपाई दोनों हंस देंगे। यह भी पढ़ें: मिलावटखोरों को फांसी क्यों नहीं ? नेताओं को पता होता है कि वे राजनीति में क्यों जाते हैं। पैसा, दादागीरी और अहंकार-तृप्ति—— ये तीन प्रमुख लक्ष्य हैं, जिनके खातिर लोग राजनीति में गोता लगाते हैं। कांग्रेस आजकल झुलसता हुआ पेड़ बन गई है। उसमें रहकर ये तीनों लक्ष्य प्राप्त करना कठिन… Continue reading जितिनः भाजपा बन रही कांग्रेस

कांग्रेस को अपनों पर नहीं, भाजपा पर सर्जिकल स्ट्राइक करने की जरूरत: सिब्बल

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने उत्तर प्रदेश की लखीमपुर खीरी की जिला कांग्रेस कमेटी की ओर से जितिन प्रसाद के खिलाफ कार्रवाई की मांग से जुड़ी खबर की पृष्ठभूमि में बृहस्पतिवार को कहा कि पार्टी को अपने लोगों पर नहीं, बल्कि भाजपा को सर्जिकल स्ट्राइक से निशाना बनाने की जरूरत है।

जितिन प्रसाद, केशव मौर्य की रिपोर्ट निगेटिव

पूर्व केंद्रीय मंत्री जितिन प्रसाद और उनकी पत्नी नेहा की कोविड-19 जांच रिपोर्ट निगेटिव आई है। प्रसाद और नेहा ने 15 मार्च को लखनऊ में बॉलीवुड गायिका कनिका कपूर की पार्टी में शिरकत की थी।

अयोध्या मामले में फैसला आने से पहले कांग्रेस ने दी कानून की दुहाई

अयोध्या विवाद मामले में सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने से पहले कांग्रेस ने कानून की दुहाई देते हुए कहा कि सभी को शीर्ष अदालत के फैसले का सम्मान करना चाहिए। पार्टी के नेता फैसला आने पर पड़ने वाले असर को लेकर सतर्क हैं।

और लोड करें