जॉनसन एंड जॉनसन की Covid 19 Vaccine को झटका! FDA ने दी ये चेतावनी

नई दिल्ली | जॉनसन एंड जॉनसन की कोरोना वैक्सीन (Covid 19 Vaccine) को लेकर चौंकाने वाली जानकारी सामने आई है। अमेरिका में FDA ने चेतावनी दी है कि इस वैक्सीन (Coronavirus Vaccine) के प्रयोग से लकवा आने का खतरा बढ़ सकता है। एफडीए की इस चेतावनी के बाद वैक्सीन को काफी बड़ा झटका लगा है। जिसके बाद से जॉनसन एंड जॉनसन के टीके पर सवाल उठने लगे हैं। अमेरिका में जॉनसन एंड जॉनसन की वैक्सीन को लेकर फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन ने चेतावनी जारी की है। संस्था के अनुसार, इस वैक्सीन से दुर्लभ न्यूरोलॉजिकल स्थिति गुलियन बेरी सिंड्रोम का खतरा बढ़ सकता है। ये भी पढ़ें:- Corona update: संक्रमण में रिकार्ड कमी, 24 घंटे में संक्रमितों की संख्या 34 हजार के करीब पहले खून के थक्के जमने को लेकर दी थी चेतावनी यह पहली बार नहीं है जब जॉनसन एंड जॉनसन (Johnson & Johnson) के टीके पर सवाल खड़े किए गए हैं। इससे पहले भी वैक्सीन के प्रयोग के बाद खून के थक्के जमने की खबरें सामने आ चुकी हैं। अप्रेल में एफडीए ने इस वैक्सीन को लेकर कम प्लेटलेट्स के साथ खून के थक्के जमने को लेकर चेतवानी जारी की थी। ये भी पढ़ें:- MP Board 10th Result 2021 को लेकर… Continue reading जॉनसन एंड जॉनसन की Covid 19 Vaccine को झटका! FDA ने दी ये चेतावनी

क्या कोविशील्ड की एक ड़ोज से ही हो जाएगा कोरोना का खात्मा?? जानिए प्रोफेसर एंड्रयू जे पोलार्ड की राय..

delhi: भारत में कोरोना के मामलों में गिरावट होनी शुरु हो गई है। एक दिन के 3-4 लाख मामले दर्ज हो रहे थे वहीं अब एक दिन में एक लाख से भी कम मामले दर्ज हो रहे है। इसका सबसे बड़ा कारण है- कोरोना वैक्सीन। भारत में कोवैक्सीन और कोविशील्ड लगाई जा रही है जो स्वदेशी है। लेकिन विदेशी वैक्सीन मोर्डना और जॉनसन&जॉनसन एक सिंगल डोज़ लगाए जाने को लेकर अब भारत में भी यह अनुमान लगाया जा रहा है कि क्या भारतीय वैक्सीन का भी सिंगल डोज़ लगाया जाएगा? क्या सिंगल डोज़ लगाने से कोरोना वायरस का खात्मा हो जाएगा? कुछ दिन पहले कोविशील्ड को लेकर यह चर्चा हुई थी कि इस वैक्सीन के सिंगल डोज़ लगाने से शरीर में एंटीबॉडी में बनने लगेगी। इन भ्रांतियों को दूर करते नीति आयोग के सदस्‍य वीके पॉल ने स्‍पष्‍टीकरण दिया है कि कोविशील्‍ड की डोज में कोई परिवर्तन नहीं किया गया है। इसकी दो डोज ही दी जाएंगी। also read: उत्तराखंड में बदल रही है लिंगानुपात की तस्वीर, देवभूमि के इन आंकड़ों को देख आप भी करेंगे तारीफ प्रारंभिक दौर में कोविशील्‍ड को सिंगल डोज़ के रूप में देखा गया दरअसल ब्रिटेन के वैक्‍सीन टास्‍क फोर्स के प्रमुख कैट बिंगम ने पिछले… Continue reading क्या कोविशील्ड की एक ड़ोज से ही हो जाएगा कोरोना का खात्मा?? जानिए प्रोफेसर एंड्रयू जे पोलार्ड की राय..

बच्चों की वैक्सीन, जल्दी न करें!

बच्चों को टीका लगना चाहिए लेकिन उससे पहले वैक्सीन का ज्यादा वालंटियर्स के साथ, ज्यादा बड़े पैमाने पर और ज्यादा समय के लिए  ट्रायल होना चाहिए। क्योंकि किसी को पता नहीं है कि वैक्सीन व्यस्कों के मुकाबले बच्चों पर किस तरह का असर करेगी, उसके साइड इफेक्ट्स कैसे होंगे और बच्चों को दी जाने वाली दूसरी बीमारियों की वैक्सीन के साथ कोरोना वैक्सीन की प्रतिक्रिया कैसी होगी। यह भी पढ़ें: जुबान बंद कराने की जिद से नुकसान कनाडा ने सबसे पहले 12 साल से ऊपर के बच्चों को वैक्सीन लगानी शुरू की थी। अब अमेरिका में भी 12 साल से ऊपर के बच्चों को वैक्सीन लगने लगी है और फाइजर बायोएनटेक की जो वैक्सीन अमेरिका के बच्चों को लग रही है उसे ब्रिटेन ने भी मंजूरी दे दी है। ब्रिटेन में हालांकि अभी बच्चों पर इसका परीक्षण चल रहा है परंतु जल्दी ही वहां भी यह टीका लगने लगेगा। फाइजर के अलावा मॉडर्ना और जॉनसन एंड जॉनसन तीनों की वैक्सीन को बच्चों के लिए मंजूरी मिल जाएगी। भारत में कोवैक्सीन का परीक्षण बच्चों के ऊपर हो रहा है और सरकार ने यह साफ कर दिया है कि दुनिया के बड़े देशों और विश्व स्वास्थ्य संगठन ने जिस वैक्सीन को मंजूरी… Continue reading बच्चों की वैक्सीन, जल्दी न करें!

CORONA VACCINE: ये है दुनिया की बेहतरीन कोरोना वैक्सीन..किस प्रकार एक-दूसरे से भिन्न है??

delhi: वर्ष 2020 से हम कोरोना का प्रकोप झेल रहे है। लेकिन हमें सफलता को रूप में कोरोना वैक्सीन मिली है। वैक्सीन कोरोना से बचाव का एकमात्र इलाज है। सभी देशों में कोरोना के मामलों में गिरावट होने का एक कारण कोरोना वैक्सीन भी है। विश्व में बड़ी संख्या में लोग टीकाकरण करवा रहे है। सरकार तमाम हथकंडे अपनाकर टीकाकरण अभियान को चरम पर ला रही है। लेकिन कुछ जगह वैक्सीन का कॉकटेल भी ले रहे है। लेकिन क्या आपको पता है कि सभी वैक्सीन एक जैसी नहीं हैं? और न ही उन्हें बनाने का प्रोसेस एक जैसा है. आइए, जानते हैं अलग अलग कंपनों की वैक्सीन में क्या अंतर है.. इसे भी पढ़ें Rajasthan: 21 दिनों पहले दफनाये गये युवक के कब्र से आने लगी आवाज, सुनने पहुंच गये सैकड़ों… 1. ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका (Oxford-AstraZeneca) इस कंपनी की वैक्सीन भारत में कोविशील्ड नाम से उपलब्ध है। अधिकतर देशों में भेजी जा रही वैक्सीन भी इसी कंपनी की है। दुनिया में सबसे बड़े वैक्सीन प्रोडक्शन कंपनी सीरम इंस्टीट्यूट में यही वैक्सीन बनाई जा रही है।  इस वैक्सीन में कोविड वायरस के स्पाइक के सात ही राइनोवायरस को मिक्स किया जाता है और फिर इसे वैक्सीन के तौर पर लगाया जाता है।  इसके बाद… Continue reading CORONA VACCINE: ये है दुनिया की बेहतरीन कोरोना वैक्सीन..किस प्रकार एक-दूसरे से भिन्न है??

ब्रिटेन में एक डोज़ से होगा कोरोना का खात्मा, जॉनसन&जॉनसन के सिंगल डोज़ को मंजूरी

लंदन. यूनाइटेड किंगडम सरकार ने शुक्रवार यानी आज फार्मा कंपनी जॉनसन&जॉनसन की सिंगल शॉट वैक्सीन को मंजूरी दे दी है। स्वास्थ्य मंत्री मैट हैंकॉक ने कहा है-इस निर्णय से यूके के सफल कोरोना वैक्सीनेशन कार्यक्रम को और मजबूती मिलेगी। अब हमारे पास चार सुरक्षित वैक्सीन हैं जिनके जरिए लोगों का वैक्सीनेशन किया जाएगा. सरकार का मानना है कि आने वाले महीनों में सिंगल शॉट वैक्सीन की वजह से वैक्सिनेशन में बड़ा फर्क आएगा। इसे भी पढ़ें दुनिया के आयरमैन Elon Musk ने एक बार फिर टवीट कर बताई स्पेसशिप की महत्ता जॉनसन 72 % संक्रण रोकने में है कारगर ब्रिटेन ने इस वैक्सीन के 2 करोड़ डोज का ऑर्डर दिया है। अमेरिका में हुए ट्रायल के दौरान जॉनसन&जॉनसन की वैक्सीन को हल्के और गंभीर कोरोना संक्रमण को रोकने में 72 फीसदी कारगर पाया गया था। ब्रिटेन ने अब तक 6.2 करोड़ वैक्सीन डोज लगाए हैं। ज्यादातर वैक्सीन डोज ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका और फाइज़र की वैक्सीन के हैं। इसके अलावा मॉडर्ना की वैक्सीन को भी अनुमति दी जा चुकी है। जुलाई के अंत तक सभी लोग कोरोना की डोज़ प्राप्त कर लेंगे बता दें कि बीते कई महीने तक लगातार कम होते नए मामलों के बाद ब्रिटेन में अब एक बार फिर केस बढ़ने… Continue reading ब्रिटेन में एक डोज़ से होगा कोरोना का खात्मा, जॉनसन&जॉनसन के सिंगल डोज़ को मंजूरी

और लोड करें