बादल ने मोदी से पासपोर्ट की शर्त हटाने की मांग की

शिरोमणि अकाली दल (शिअद) अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल ने आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अनुरोध किया कि पाकिस्तान के साथ करतारपुर कॉरीडोर को लेकर किये करार में संशोधन करवाकर उस प्रावधन को हटवाया जाये जिसके तहत श्रद्धालुओं के लिए पासपोर्ट की अनिवार्यता है ।

सिद्धू सिख समाज से मांगें माफी : विज

हरियाणा के पूर्व कैबिनेट मंत्री अनिल विज ने पंजाब के कांग्रेसी विधायक नवजोत सिंह सिद्धू पर पाकिस्तान में करतारपुर कॉरीडोर खुलने के अवसर पर धार्मिक आयोजन का राजनीतिकरण करने का आरोप लगाया और मांग की कि वह देश और सिख समाज से माफी मांगें।

इमरान ने मौका खोया

करतारपुर-समारोह अपने आप में इतना बड़ा अवसर था, जिसका फायदा भारत और पाकिस्तान, दोनों देशों को नए दरवाजे खोलने के लिए मिल सकता था। लेकिन मुझे बड़ा दुख है कि इमरान खान-जैसे शरीफ और सज्जन नेता ने करतारपुर में ऐसा भाषण दे दिया, जिसने उस समारोह के असर को ही फीका नहीं कर दिया बल्कि उनकी छवि और समझदारी पर भी प्रश्न चिन्ह लगा दिया।

देश से माफी मांगें सोनिया गांधी : भाजपा

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने रविवार को करतारपुर कॉरिडोर के उद्घाटन के मौके पर नवजोत सिंह सिद्धू के पाकिस्तान जाने और राम मंदिर मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले को लेकर नेशनल हेराल्ड में की गई टिप्पणी को लेकर कांग्रेस पार्टी पर निशाना साधा।

मोदी ने राष्ट्र को संबोधित किया

नई दिल्ली। अयोध्या में राम जन्मभूमि और बाबरी मस्जिद भूमि विवाद में आए सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसे ऐतिहासिक फैसला बताया। उन्होंने कहा कि इससे दुनिया के भारत के जीवंत लोकतंत्र का पता चला है। उन्होंने शनिवार को राष्ट्र के नाम संबोधन में कहा- दशकों तक चली न्याय प्रक्रिया खत्म आज हुई। इससे दुनिया को हमारे जीवंत लोकतंत्र के बारे में पता चलता है। अयोध्या के फैसले को पूरे देश ने खुले दिल से स्वीकार किया है। यह हमारी विविधता में एकता दिखाती है। इससे पहले मोदी ने ट्विट कर कहा था कि इस फैसले को किसी की हार या जीत के लिहाज से न देखा जाए। उन्होंने ट्विट किया खा- न्याय के मंदिर ने दशकों साल पुराने विवाद को सुलझा दिया है। सभी नागरिकों को राष्ट्र भक्ति की भावना को बनाए रखने पर बल देना चाहिए। बाद में राष्ट्र के नाम संबोधन में मोदी ने कहा- सुप्रीम कोर्ट ने एक ऐसे महत्वपूर्ण मामले पर फैसला सुनाया है, जिसके पीछे सैकड़ों वर्षों का दीर्घकालीन इतिहास है। पूरे देश की यह इच्छा थी कि इस मामले की अदालत में हर रोज सुनवाई हो। यह हुआ और आज निर्णय आ चुका है। मोदी ने कहा-… Continue reading मोदी ने राष्ट्र को संबोधित किया

इमरान ने सिखों का दिल जीत लिया है : सिद्धू

करतारपुर।  पूर्व क्रिकेटर व भारतीय राजनेता नवजोत सिंह सिद्धू ने शनिवार को पाकिस्तान स्थित करतारपुर गलियारे के उद्घाटन समारोह में कहा कि इस गलियारे की शुरुआत कर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने सिखों के दिलों को जीत लिया है। सिद्धू ने कहा कि इमरान ने इस गलियारे की पहल कर इतिहास रच दिया है। महज दस महीने के अंदर ही गलियारे के काम को पूरा कर देना किसी चमत्कार से कम नहीं है। भारतीय प्रांत पंजाब के पूर्व मंत्री व कांग्रेस नेता सिद्धू ने समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि 72 साल में सिखों की आवाज किसी ने नहीं सुनी। हर प्रधानमंत्री अपना नफ-नुकसान देखता रहा। उन्होंने कहा कि इमरान खान वह सिकंदर हैं जो लोगों के दिलों पर राज करते हैं। उनका दिल समंदर जितना बड़ा है। इसे भी पढ़ें : राम मंदिर निर्माण के लिए सभी मिलकर काम करें : भागवत उन्होंने सिखों की इच्छा को पूरा कर दिया है। सिख कौम को इमरान को उस स्तर पर ले जाना है जहां तक किसी की सोच भी नहीं जा सकती। उधर, पाकिस्तानी मीडिया में सूत्रों के हवाले से रिपोर्ट दी गई है कि भारतीय अधिकारियों ने सिद्धू को वाघा सीमा के जरिए पाकिस्तान में दाखिल होने… Continue reading इमरान ने सिखों का दिल जीत लिया है : सिद्धू

करतारपुर गलियारे पर भारत-पाक में जुबानी जंग जारी

सिख धर्म के संस्थापक गुरू नानक देव के 550वें प्रकाशोत्सव के मौके पर भारत और पाकिस्तान के बीच नवनिर्मित करतारपुर गलियारे के उद्घाटन की पूर्व संध्या पर भी दोनों देशों के बीच जुबानी जंग जारी रही।

करतारपुर को लेकर विरोधाभासी रपट

करतारपुर गलियारे के उद्घाटन में दो दिन से भी कम समय है और भारत ने कहा है कि सीमा पार से विरोधाभासी रिपोर्टें आ रहीं हैं।

शनिवार को होगा करतारपुर कॉरिडोर का उद्घाटन

पाकिस्तान सरकार ने 12 नवंबर को सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक देव की 550वीं जयंती से पहले करतारपुर कॉरीडोर का शनिवार को उद्घाटन करने के सारे इंतजाम कर लिए हैं।

करतारपुर कॉरीडोर आईएसआई का आइडिया था!

भारत और पाकिस्तान की सीमा में स्थित दो पवित्र सिख गुरुद्वारों को जोड़ने वाले करतारपुर कॉरीडोर को लेकर दोनों तरफ जोश देखते बन रहा है। गुरू नानक देव की 550वीं जयंती के मौके पर इस कॉरीडोर का उद्घाटन हो रहा है।

करतारपुर आने वाले भारतीय श्रद्धालुओं को पासपोर्ट की जरूरत नहीं : इमरान खान

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने शुक्रवार को घोषणा करते हुए कहा कि भारत से करतारपुर कॉरीडोर जाने वाले श्रद्धालुओं को पासपोर्ट दिखाने की जरूरत नहीं होगी।

करतारपुर कॉरिडोर: मोदी उद्घाटन के बाद संबोधित करेंगे

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 9 नवंबर को करतारपुर कॉरिडोर के उद्घाटन के बाद पंजाब के गुरदासपुर में डेरा बाबा नानक में एक सार्वजनिक सभा को संबोधित करेंगे। गृह मंत्रालय के सूत्रों ने यह जानकारी दी। प्रधानमंत्री कॉरिडोर और यात्री टर्मिनल भवन का उद्घाटन करेंगे। हलांकि, प्रधानमंत्री मोदी करतारपुर साहिब का दौरा करने वाले पहले ‘जत्थे’ को हरी झंडी दिखाकर रवाना करेंगे या नहीं, अभी इसकी पुष्टि नहीं हो पाई है। श्रद्धालुओं के इस पहले जत्थे का पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह भी हिस्सा होंगे। सरकारी सूत्रों का यह भी कहना है, यह संबोधन कॉरिडोर से लगभग तीन किलोमीटर की दूरी पर आयोजित किया जाएगा। हालांकि, कार्यक्रम डेरा बाबा नानक में ही होगा। इससे पहले, भारत और पाकिस्तान ने ऐतिहासिक करतारपुर कॉरिडोर को चालू करने के लिए एक समझौते पर हस्ताक्षर किए। इसके अनुसार, भारतीय सिख तीर्थयात्री बिना वीजा के पाकिस्तान स्थित पवित्र दरबार साहिब की यात्रा कर सकेंगे। हालांकि, इसके लिए इस्लामाबाद ने प्रति व्यक्ति 20 डॉलर की टिकट राशि रखी है, जिसका मुद्दा अभी तक नहीं सुलझ पाया है।

हमें कई करतारपुर चाहिए

भारत और पाकिस्तान के बीच करतारपुर गलियारे के बारे में कल समझौता हो गया। क्या यह गजब नहीं हुआ ? मैं तो इसे गजब ही मानता हूं। दोनों देशों के बीच आजकल जितना तनाव है, वैसी हालत में उसके नेता और अफसर एक-दूसरे की सूरत देखना भी पसंद नहीं करते

करतारपुर तीर्थयात्रा के लिए ऑनलाइन पंजीकरण शुरु

डेरा बाबा नानक (पंजाब)। करतारपुर गलियारे को चालू करने के समझौते पर भारत और पाकिस्तान के हस्ताक्षर करने के बाद तीर्थयात्रियों के लिए ऑनलाइन पंजीकरण बृहस्पतिवार को शुरू हो गया। इस गलियारे के जरिए भारत के सिख तीर्थयात्री पाकिस्तान स्थित दरबार साहिब जा पाएंगे। तीर्थयात्रियों के पास अकेले या समूह में जाने की और पदयात्रा करने का विकल्प होगा। समझौते पर हस्ताक्षर के बाद जारी एक आधिकारिक बयान के अनुसार तीर्थयात्रियों के पंजीकरण के लिए गुरुवार को एक ऑनलाइन पोर्टल (prakashpurb550.mha.gov.in) चालू हो गया। यहां अंतरराष्ट्रीय सीमा स्थित ‘जीरो प्वाइंट’ पर करतारपुर साहिब गलियारा को चालू करने के तौर तरीकों पर बृहस्पतिवार को पाकिस्तान के साथ भारत के हस्ताक्षर करने के बाद यह कदम उठाया गया है। तीर्थयात्रा पर जाने के इच्छुक लोगों को इस पोर्टल में ऑनलाइन पंजीकरण कराना होगा। तीर्थयात्रियों को यात्रा की तिथि से तीन-चार दिन पहले उनके पंजीकरण की पुष्टि के बारे में एसएमएस या ईमेल के जरिए सूचना दी जाएगी। एक ‘इलेक्ट्रॉनिक ट्रैवल ऑथराइजेशन’ भी जारी किया जाएगा। बयान में कहा गया कि तीर्थयात्री जब यहां पैसेंजर टर्मिनल बिल्डिंग पहुंचेंगे, तब उन्हें अपने पासपोर्ट के साथ ‘इलेक्ट्रॉनिक ट्रैवल ऑथराइजेशन’ भी अपने पास रखना होगा। संबंधित खबरें: भारत, पाकिस्तान ने करतारपुर समझौते पर हस्ताक्षर किए करतारपुर… Continue reading करतारपुर तीर्थयात्रा के लिए ऑनलाइन पंजीकरण शुरु

भारत, पाकिस्तान ने करतारपुर समझौते पर हस्ताक्षर किए

भारत और पाकिस्तान ने सिखों के प्रथम गुरू नानकदेव के 550वें प्रकाश वर्ष के मौके पर करतारपुर साहिब गुरुद्वारे तक का गलियारा भारतीय यात्रियों के लिए खोलने के संबंध में बहुप्रतीक्षित समझौते पर आज हस्ताक्षर कर दिये।

और लोड करें