किसानों का मोदी सरकार में राज्यमंत्री अजय मिश्रा की बर्खास्तगी की मांग को लेकर ‘रेल रोको’ आंदोलन आज

‘रेल रोको’ प्रदर्शन सुबह 10 बजे शुरू हो जाएगा और शाम चार बजे तक जारी रहेगा। इस दौरान छह घंटे के लिए रेल सेवाएं प्रभावित होने की आशंका जताई जा रही है।

सरकार और किसान बात करें

किसान आंदोलन को चलते-चलते आज छह महिने पूरे हो गए हैं। ऐसा लगता था कि शाहीन बाग आंदोलन की तरह यह भी कोरोना के रेले में बह जाएगा लेकिन पंजाब, हरयाणा और पश्चिम उत्तरप्रदेश के किसानों का हौसला है कि अब तक वे अपनी टेक पर टिके हुए हैं। उन्होंने आंदोलन के छह महिने पूरे होने पर विरोध-दिवस आयोजित किया है। अभी तक जो खबरें आई हैं, उनसे ऐसा लगता है कि यह आंदोलन सिर्फ ढाई प्रांतों में सिकुड़कर रह गया है। पंजाब, हरयाणा और आधा उत्तरप्रदेश। इन प्रदेशों के भी सारे किसानों में भी यह फैल पाया है नहीं, यह भी नहीं कहा जा सकता। यह आंदोलन तो चौधरी चरणसिंह के प्रदर्शन के मुकाबले भी फीका ही रहा है। उनके आहवान पर दिल्ली में लाखों किसान इंडिया गेट पर जमा हो गए थे। यह भी पढ़ें: ये बादशाहत जरुरी नहीं दूसरे शब्दों में शक पैदा होता है कि यह आंदोलन सिर्फ खाते-पीते या मालदार किसानों तक ही तो सीमित नहीं है ? यह आंदोलन जिन तीन नए कृषि-कानूनों का विरोध कर रहा है, यदि देश के सारे किसान उसके साथ होते तो अभी तक सरकार घुटने टेक चुकी होती लेकिन सरकार ने काफी संयम से काम लिया है। उसने… Continue reading सरकार और किसान बात करें

किसान आंदोलन: हमें अगर सरकार ने छेड़ा तो किसान 1 घंटे के अंदर दे देंगे जवाब

New Delhi. एक ओर देश में कोरोना कहर बरसा रहा है तो  दूसरी ओर किसान आंदोलन में डटे हुए किसान है जो अपना धरना प्रदर्शन बंद करने को तैयार ही नहीं है. किसान नेता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait)  ने एक बार फिर से भड़काऊ भाषण देते हुए कहा कि सरकार पिछले कुछ दिनों से दिल्ली (Delhi) को साफ करने की बात कर रही है.  उन्होंने कहा कि अगर सरकार ने किसान आंदोलन को छेड़ने की कोशिश की तो किसान सरकार को 1 घंटे के अंदर जवाब दे देंगे. बता दें कि दिल्ली में कोरोना के नये मामलों में लगातार बढ़ोतरी हो रही है.  इसे देखते हुए सरकार के साथ ही प्रशासन भी किसानों को समझा कर उन्हें वापस भेजने का हर संभव प्रयास कर रहा है.  लेकिन किसान कुछ भी समझने को तैयार नहीं हैं. इफ्तार पार्टी के वीडियो वायरल होने पर हुई थी किरकरी कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए भी किसान नेता राकेश टिकैत लगातार धरना प्रदर्शन को जारी रखने की बात कर रहे हैं.  बीती रात रामायण टोल प्लाजा पर भी धरने पर बैठे किसानों के समक्ष उन्होंने किसानों से कहा कि सरकार हमारे आंदोलन को कुचलने के लिए नए-नए हथकंडे अपना रही हैं लेकिन सरकार… Continue reading किसान आंदोलन: हमें अगर सरकार ने छेड़ा तो किसान 1 घंटे के अंदर दे देंगे जवाब

ना राम खुश होंगे ना रहीम : कोरोना संक्रमण के डर से बेपरवाह किसान नेता इफ्तार पार्टी कर दे रहे हैं कौमी एकता का संदेश

New Delhi. एक ओर तो देश कोरोना से परेशान है तो दूसरी ओर लोगों की लारवाही की खबरें और भी ज्यादा परेशान कर  रही है. ताजा मामला किसान आंदोलन ( kissan Andolan) से जुड़ा है. कोरोना के कहर के कारण देश में बेड कम पड़ जा रहे हैं. केंद्र और राज्य की सरकारें (Central and state govt)  लगातार लोगों से शारीरिक दूरी और मास्क के प्रयोग करने की अपील कर रही है. लेकिन इन सबसे बेपरवाह  दिल्ली की सीमा पर बैठे किसान नेता अभी भी अपनी मनमानी कर रहे हैं. वो अपने ही बनाए हुए नियम फॉलो कर रहे हैं.  किसान आंदोलन में डटे ये किसान  न तो शारीरिक दूरी का पालन कर रहे हैं और ना ही मास्क पहने ही दिखाई दे रहे हैं.वीडियो के वायरल होने के बाद से लोग इस पर तरह-तरह की प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं. इफ्तार पार्टी का हो रहा है आयोजन दिल्ली में कोरोना का संक्रमण करह बरसा रहा है. जिसे देखते हुए सीएम केजरीवाल ने कई तरह के बैन लगाए हुए हैं. लेकिन किसान आंदोलन के नाम पर ये किसान नेता अभी भी बॉर्डर पर डटे हुए हैं. यहां  इफ्तार पार्टी का आयोजन किया जा रहा है. इफ्तार पार्टी में एक दो नहीं… Continue reading ना राम खुश होंगे ना रहीम : कोरोना संक्रमण के डर से बेपरवाह किसान नेता इफ्तार पार्टी कर दे रहे हैं कौमी एकता का संदेश

Kisan Agitation : कृषि कानूनों के खिलाफ हो रहे किसान आंदोलन में आंदोलन स्थल पर नहीं दिख रहे किसान

कृषि कानूनों (Agricultural law) के खिलाफ हो रहे किसान आंदोलन (Kisan Agitation) को 134 दिन बीत जाने के बाद गाजीपुर बॉर्डर (Ghazipur Border) पर किसानों की संख्या अब बेहद कम होती नज़र आ रही है।

आंदोलनकारी किसान नहीं बनाएंगे पक्के मकान

केंद्र सरकार के बनाए तीन कृषि कानूनों के विरोध में पिछले 109 दिन से आंदोलन कर रहे किसान आंदोलन की जगह पर पक्का निर्माण नहीं करेंगे।

ये तो हद है: दिल्ली सीमा पर प्रदर्शनकारी किसानों ने बना लिए 25 पक्के मकान, 2000 और निर्माण की है तैयारी

New Delhi: 100 दिनों से ज्यादा लागातार चल रहे किसान आंदोलन के बाद भी अब तक कोई निर्णय नहीं हो सका है. सरकार और किसानों के बीच बन रही असहमति के कारण स्थिति और भी ज्यादा खराब होती जा रही है. 26 जनवरी को भी  लालकिले (REDFORT) में जो हुआ वो देश के लिए एक काला दिन ही था. लेकिन इस  बीच कुछ ऐसी खबरें भी आयी हैं जो हैरान करने वाली हैं. किसान प्रदर्शनकारियों ने  सोनीपत के  जीटी रोड पर पक्का निर्माण कर लिया है. इसके साथ ही टीकरी बॉर्डर पर भी कुछ ऐसा ही नजारा सामने आ रहा है. यहां पर किसानों ने रहगुजारी के के लिए कच्चे नहीं पक्के घरों का निर्माण कर लिया है. इतना ही नहीं सीमा से सटे कई और इलाके भी हैं जहां अभी निर्माण कार्य प्रगति पर है. कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का धरना आज भी सिंघु, टीकरी, शाहजहांपर और गाजीपुर बॉर्डर (Tikri, Shahjahanpur and Ghazipur border) पर अ़ड़े हैं. हालांकि किसानों की संख्या में कुछ कमी जरूर आयी है. 2000 और मकान बनाए जाने की तैयारी किसानों द्वारा बनाए जा रहे इन मकानों के बारे में पूछने पर किसान सोशल आर्मी से जुड़े अनिल मलिक (ANIL MALIK) ने बताया कि… Continue reading ये तो हद है: दिल्ली सीमा पर प्रदर्शनकारी किसानों ने बना लिए 25 पक्के मकान, 2000 और निर्माण की है तैयारी

किसानों के समर्थन में भाजपा विधायक ने सदन में ही किया आत्महत्या का प्रयास

Bhubaneswar: कोरोना के साथ ही 2021 किसानों की परेशानियों के लिए भी जाना जाएगा. ओक ओर देशभर में 100 से ज्यादा दिनों से चल रहे किसान आंदोलन है तो दूसरी ओर देशभर के किसान हैं जो अपने फसल को बेचने के लिए प्रयासरत हैं. ओडिसा (ODISHA) में भाजपा (BJP) के एक विधायक सुभाष पणिगृह (Subhash Panagriha) ने सहन में खुदकुशी करने का प्रयास किया. जानकारी के अनुसार सुभाष नें चलते सदन में सैनिटाइजर की बोतल खोलकर उसे पीना शुरू कर दिया. हालांकि इसके तुरंत बाद सुभाष के आस-पास बैठे भाजपा और कांग्रेस के विधायकों ने उनके हाथों से बोतल छीन ली. देवगढ़ से विधायक हैं सुभाष सैनिटाइजर Sanitizer) पीकर आत्महत्या का प्रयास करने वाले सुभाष ओडिसा के देवघढ़ सीट से विधायक हैं. राज्य के खाद्य आपूर्ति मंत्री पी स्वैन धान की खरीद पर सदन में अपना बयान पढ़ रहे थे. इसके पहले पहले विपक्ष में बैठे भाजपा के विधायकों ने सदन की कार्यवाही को बाधित किया था. इनका कहना था कि मंडियों से अगर धान नहीं खरीदी गयी तो हम सदन में ही खुदकुशी कर लेंगे. इसी बीच सुभाष ने सैनिटाइजर खोल कर पीना शुरू कर दिया. जिसके बाद एक बार तो सदन में भी अफरा-तफरी मच गयी. इसे भी पढ़ें-फिल्म… Continue reading किसानों के समर्थन में भाजपा विधायक ने सदन में ही किया आत्महत्या का प्रयास

किसान आंदोलन का 67वां दिन, सरकार से फिर बातचीत का इंतजार

किसान आंदोलन का आज 67वां दिन है। आंदोलनरत किसानों की मांगों को लेकर सरकार और प्रदर्शन की अगुवाई कर रहे यूनियनों के बीच एक बार फिर बातचीत शुरू होने का इंतजार हो रहा है।

बिहार में विपक्ष ने बनाई मानव शृंखला

किसान आंदोलन के समर्थन में महागठबंधन में शामिल दलों की राज्य भर में कल बनने वाली मानव श्रृंखला को लेकर आज बैठक हुई। इस बैठक के बाद राजद नेता तेजस्वी यादव ने कहा कि किसान आंदोलन के साथ महागठबंधन के नेता पूरी मजबूती के साथ खड़े हैं।

सिंघु बॉर्डर पर किसान, स्थानीय लोगों के बीच झड़प, पुलिस ने किया लाठीचार्ज

किसान आंदोलन के 65वें दिन आज सिंघु बॉर्डर पर प्रदर्शनकारी किसानों और स्थानीय लोगों के बीच हुई झड़प के बाद पुलिस को लाठी चार्ज करना पड़ा।

बिहार : किसान आंदोलन के समर्थन में पप्पू यादव उपवास पर बैठे

किसान आंदोलन के समर्थन के मुद्दे पर बिहार में भी राजनीति तेज हो गई है। जन अधिकार पार्टी के प्रमुख और पूर्व सांसद पप्पू यादव जहां शुक्रवार की सुबह छह बजे से ही गांधी मैदान में महात्मा गांधी मूर्ति

गणतंत्र दिवस पर ‘गण’ की भी चिंता जरूरी : मायावती

किसान आंदोलन का सीधे तौर जिक्र किये बगैर बहुजन समाज पार्टी (बसपा) सुप्रीमो मायावती ने कहा कि गणतंत्र दिवस को केवल रस्म अदायगी के तौर पर मनाने की बजाय गरीब,कमजोर,किसान

किसान आंदोलन : 26 जनवरी पर ट्रैक्टर रैली की तैयारी

देश की राजधानी दिल्ली की सीमाओं पर चले रहे किसान आंदोलन को दो महीने पूरे हो गए हैं और इस समय सबकी नजर गणतंत्र दिवस पर प्रदर्शनकारियों द्वारा पूर्व घोषित दिल्ली में ट्रैक्टरों के साथ किसान परेड निकालने पर है।

किसान आंदोलन 57वें दिन जारी, सरकार के प्रस्ताव पर विचार के लिए बुलाई बैठक

देश की राजधानी दिल्ली की सीमाओं पर डटे किसान आंदोलन गुरुवार को 57वें दिन जारी है। आंदोलन समाप्त करने के लिए सरकार द्वारा दिए गए प्रस्ताव पर चर्चा के लिए 12 बजे

और लोड करें