20 हजार मजदूरों के लिए घर का इंतजाम करेंगे सोनू सूद

बॉलीवुड अभिनेता सोनू सूद 20 हजार मजदूरों के लिये घर का इंतजाम करने जा रहे हैं। सोनू सूद कोरोना संकट के दौरान प्रवासी मजदूरों के मसीहा बनकर सामने आए हैं।

लोगों को आजीविका के अवसर उपलब्ध कराए उप्र सरकार: मायावती

बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती ने उत्तर प्रदेश में अन्य राज्यों से लौटे मजदूरों की बदहाली पर चिंता व्यक्त करते हुए शुक्रवार को कहा कि राज्य सरकार को इन लोगों के लिए आजीविका

मजदूरों के मामले में केंद्र ने दिया हलफनामा

केंद्र सरकार ने मजदूरों के पलायन के मसले पर सुप्रीम कोर्ट में एक हलफनामा दिया है, जिसमें उसने बताया है कि सरकार ने मजदूरों के लिए क्या क्या किया।

सूखा-बाढ़ मुक्ति का राष्ट्रीय अभियान शुरू हो

अब जब रेल और अन्य साधन शुरू हुये हैं, तो उम्मीद है कि, 20-30 दिनों में ये मजदूर अपने घरों तक पहुँच सकेंगे, हिन्दुस्तान के गाँव से लगभग 1 करोड़ से अधिक मजदूर काम की तलाश में महानगरों में पहुँचे है

कोरोना और परदेसियों की घर वापसी, फिर टिड्डियों का हमला, शुभ तो नहीं

कोरोना के मरीजो की संख्या में और मरने वालों की संख्या में वृद्धि तथा मजदूरों की घर वापसी के लिए 3300 से अधिक ट्रेनों के बाद दिल्ली से 340 और बंगाल से 200 से अधिक तथा महाराष्ट्र से 200 ट्रेनों की मांग बता रही है

श्रमिकों की सुरक्षित वापसी के लिए राज्य सरकार प्रतिबद्ध: योगी

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि राज्य सरकार विभिन्न राज्यों से कामगारों/श्रमिकों की सुरक्षित वापसी के लिए प्रतिबद्ध है।

कराहते श्रमिकों की बेहाली में-राज्यारोहण की वर्षगांठ

कितना क्रूर हैं घर वापसी के लिए उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड और मध्य प्रदेश के मजदूरों से भरी श्रमिक ट्रेनों की बदहाली और बदइंतजामी। शायद मोदी! सरकार के दूसरी पाली का सबसे दुखद अनुभव होगा।

मजदूरों से नहीं लिया जाए किराया

कोरोना वायरस का संकट शुरू होने के बाद से ही चल रहे मजदूरों के पलायन और विस्थापन के दो महीने बाद अब जाकर सुप्रीम कोर्ट ने उनके लिए राहत का फैसला सुनाया है।

मजदूरों पर सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र को दिया निर्देश

दिल्ली और देश के दूसरे हिस्सों से पैदल चल कर अपने घर जा रहे मजदूरों के मसले पर सुप्रीम कोर्ट ने कुछ समय पहले कहा था कि लोगों को घर जाने से रोका नहीं जा सकता है।

लडखड़ाते पैर, प्यासी जुबान, नम आंखें और मासूम चेहरे..!

देश के लोकतंत्र में बदलाव करने की ताकत रखने वाले मजदूर वर्ग आज सबसे ज्यादा मजबूर है, देश की तामम राजनैतिक दल और नेता मजदूर वर्ग को चुनाव में अपनी और साधने के लिए कई योजनाओं का हवाला देते हैं,

झूठे दावे-कोरे वादों की बिसात का ‘मोहरा’ मजदूर

हक़ीक़त पर नजर डालें तो लॉकडाउन वन के तत्काल बाद जब इन मजदूरों पर रोजी रोटी का संकट मंडराने लगा तो उनका धैर्य टूट गया। मरता क्या न करता तो मासूम बच्चों,महिलाओं के साथ इस

योगी जी बहुत हुआ-परमिट क्लर्क के अड़ंगे-मजदूरों को प्रयाण करने दें!

मजबूर मजदूरों की मैराथन पद यात्रा में भूखे-प्यासे स्त्री-पुरुषों का कष्ट आपको नहीं दिखता -बस आपकी राजनीति फेल न हो जाए , इस भय से आप बाबू टाइप एतराज़ लगा रहे हैं

शिवराज, मजदूरों के नाम पर मजाक मत करिए: कमलनाथ

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के बयान पर पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ ने पटलवार किया है। उन्होंने कहा कि राज्य में खाना मांगने पर मजदूरों पर लाठियां बरसाई जा रही हैं,

प्रियंका मप्र आकर श्रमिकों के मदद के तरीके सीखें: शिवराज

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी से मजदूरों को राजनीति का मोहरा न बनाने की अपील करते हुए कहा है

मजदूरों ने यात्रा के लिए धन लेने का आरोप लगाया

गुजरात के गांधीनगर से इस हफ्ते की शुरुआत में श्रमिक विशेष रेलगाड़ी से छत्तीसगढ़ के बिलासपुर पहुंचे 71 मजदूरों ने दावा किया है कि उनके नियोक्ताओं ने यात्रा के लिए उनसे पैसे लिए थे।

और लोड करें