राजनीतिक भ्रांतियों में उलझा शहर

लेखक: सुशील कुमार सिंह ये डबल इंजिन की सरकार क्या होता है? अगर इस जुमले में कोई दम होता यानी अगर इससे सचमुच किसी बेहतरी की गारंटी होती तो अब तक कई प्रदेशों की काया पलट हो चुकी होती। ठीक ऐसी ही एक भ्रांति दिल्ली को लेकर भी बनी हुई है। यह कि दिल्ली और… Continue reading राजनीतिक भ्रांतियों में उलझा शहर