महाराष्ट्र, हरियाणा में भाजपा मजबूत, लेकिन मतदाताओं का भरोसा नहीं…

महाराष्ट्र और हरियाणा के विधानसभा चुनाव इस बार नए राजनीतिक समीकरण के साथ लड़े जा रहे हैं और भाजपा ने अपना एजेंडा एकदम साफ कर दिया है। भाजपा विरोधियों के सामने चुनौती है कि वे अब भाजपा की आक्रामक राजनीति से कैसे निबटें। पिछले लोकसभा चुनाव के बाद यह स्थिति बनी है।

विपक्ष मुद्दों को लोकल रखना चाह रहा है

महाराष्ट्र और हरियाणा में विपक्षी पार्टियां इस बात के लिए जी तोड़ प्रयास कर रही हैं कि चुनाव में राष्ट्रीय मुद्दों पर चर्चा न हो। वे किसी तरह से चुनाव को लोकल मुद्दों पर सीमित रखना चाहते हैं। पर दूसरी ओर भाजपा के सारे नेता सिर्फ राष्ट्रीय मुद्दों पर ही वोट मांग रहे हैं।