Corona : महामारी और रोजी रोटी की जंग में हारा प्रवासी मजदूर, घर वापसी करने पर मजबूर

नई दिल्ली| देश में बढ़ती कोरोना महामारी (Corona Epidemic) को लेकर मजदूर लोगों की हालत ख़राब होती जा रही है और कोरोना के मामलों में लगातार बढ़ोतरी जारी है लोग बेवस, हताश हो कर अपने घरों के लिए निकल पड़ें है इसी बीच दिल्ली के आनंद विहार बस स्टैंड (Anand Vihar Bus Stand) और यूपी कौशाम्बी बस स्टैंड (UP Kaushambi bus stand) पर रोजी रोटी और कोरोना (Corona) बीमारी की जंग में एक बार फिर प्रवासी मजदूर (Migrant Laborer) हार चुके हैं। जिसके बाद मजदूर (Laborer) पलायन करने पर मजबूर हो गए हैं। पिछले साल की तरह सैकड़ों किलो मीटर पैदल न चलना पड़े इस डर से प्रवासी मजदूर (Migrant Laborer) दिल्ली छोड़ अभी से अपने घर वापसी कर रहे हैं। राजधानी दिल्ली में कोरोना (Corona) के बढ़ते मामलों ने सरकार को भी बेचैन कर दिया है। इसे भी पढ़ें –  राजस्थान : राज्य के सबसे बड़े कोविड अस्पताल  RUHS से आयी डराने वाली तस्वीरें जिसके बाद दिल्ली में आज रात 10 बजे से 26 अप्रैल को सुबह 6 बजे तक लॉकडाउन लगा दिया है। घोषणा होते ही प्रवासी मजदूर (Migrant Laborer) अपने घर भागने लगे हैं। क्या बच्चे और क्या बुजुर्ग सभी सर पर सामान लाधे फिर अपने घर भागने… Continue reading Corona : महामारी और रोजी रोटी की जंग में हारा प्रवासी मजदूर, घर वापसी करने पर मजबूर

Bollywood Actor सोनू सूद ने फिर दिखाया बड़ा दिल, जरूरतमंद लोगों को दिलाएंगे नौकरी

मुंबई। बढ़ते कोरोना मामलों को लेकर एक फिर गरीबों की मदद करने के लिए आगे आए बॉलीवुड अभिनेता सोनू सूद (Sonu Sood) ने जरूरतमंदों के लिए एक नई मुहिम शुरू की है, जिसके तहत वह गरीबों को रोजगार (Employment) दिलाएंगे। सोनू सूद (Sonu Sood) ने पिछले वर्ष कोरोना (Corona) महामारी के दौरान हुये लॉकडाउन (lockdown) में प्रवासी मजदूरों (migrant laborers) और जरूरतमंदों की मदद की थी। सोनू सूद (Sonu Sood) एक बार फिर से गरीबों की मदद करने के लिए आगे आए हैं। इसे भी पढ़ें – लता मंगेशकर का एलबम ‘भावार्थ माऊली‘ रिलीज, दीदी बोली- गाने के अलावा मेरे पास है ही क्या… उन्होंने सोशल मीडिया पर एक तस्वीर शेयर की है। इसमें लिखा, लॉकडाउन हो या न हो, आपके रोजगार की चिंता मुझ पर छोड़ दीजिए। सोनू सूद (Sonu Sood) ने तस्वीर शेयर करते हुए अपने ट्वीट में लिखा, कोशिश जरूर करूंगा।सोनू सूद ने साथ ही एक हेल्पलाइन नंबर भी शेयर किया हैं और एप भी लॉन्च किया है। इसकी मदद से कोई भी शख्स नौकरी पा सकता है। इसे भी पढ़ें – Rajasthan by-election 2021 : वीकेंड कर्फ्यू के बीच दोहरी जिम्मेवारी , 3 सीटों से लिए मतदान कल

Bihar : घर लौटे प्रवासी मजदूरों को सताने लगी रोजगार की चिंता, लेकिन अपने प्रदेश पहुंचने का सुकून भी

पटना | कोरोना (Corona) की दूसरी लहर में देश के करीब-करीब सभी हिस्सों में संक्रमितों की संख्या बढ़ने के बाद बिहार (Bihar) के परदेसी अब वापस अपने प्रदेश लौटने लगे हैं। इन्हें अपने राज्य लौटने के लिए रेलवे ने कई विशेष ट्रेनें भी चलाई हैं। लौटे प्रवासी मजदूरों (migrant workers) को अब काम की चिंता सताने लगी है। कोई किसानी की बात कर रहा है, तो कई लोग मजदूरी की बात कर रहे हैं। बिहार की राजधनी पटना से सटे मोकामा के सैकड़ों लोग अन्य प्रदेशों में रहकर अपना पेट पालते थे। ऐसे कई लोग वापस अपने गांव चले आए हैं। घोसवारी गांव के रहने वाले आनंद कुमार कहते हैं कि इस गांव के दर्जनों लोग बाहर कमाने गए थे और अब लॉकडाउन (Lockdown) की आशंका के बाद वापस घर लौट आए हैं या लौटने की तैयारी कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि पिछले वर्ष जब लॉकडाउन (Lockdown) लगा था, तब भी वापस आए थे। उसके बाद काम नहीं मिला तब फिर वापस चले गए थे। अब एकबार फिर लॉकडाउन (Lockdown) के कारण लोग लौटने को विवश हैं। घोसवारी के पास के गांव के रहने वाले सूबेदार राय मुंबई में रहकर सुरक्षा गार्ड की नौकरी करते थे। पूरे परिवार को… Continue reading Bihar : घर लौटे प्रवासी मजदूरों को सताने लगी रोजगार की चिंता, लेकिन अपने प्रदेश पहुंचने का सुकून भी

सावधान :  ट्रेनों में मिल रहे हैं सबसे ज्यादा संक्रमित, एक बार फिर प्रवासी  मजदूरों के लौटने का सिलसिला शुरू

New Delhi: देश में एक बार फिर से कोराना के मामले बढ़ने के बाद से ट्रेनों में भीड़ बढ़ती जी रही है.खासकर  महाराष्ट्र (Maharasthra) से उत्तर प्रदेश (UP), बिहार (Bihar) , मध्य प्रदेश (MP) और अन्य राज्यों के ट्रेनों में भीड़ देखने को मिल रही है. बता दें कि कोरोना के बढ़ते मरीजों को देखते हुए एक बार फिर से लाकडाउन (Lockdown) की आशंका लोगों में घर कर गई है. ऐसे में एक साल पहले हुए हालातों को ध्यान रखते हए एक बार फिर से प्रवासी अपने घरों की ओर लौट रहे हैं. अंतिम 5 दिनों के आंकड़ों के देखें तो पता चलेगा कि प्रवासियों के कारण कोरोना का प्रसार तेजी से हो रहा है. दूसरे राज्यों से आने वाली ट्रेनों, फ्लाइटों और बसों के यात्रियों की जब कोरोना की जांच की जा रही है तो बड़ी संख्या में कोरोना के मरीज सामने आ रहे हैं. ये आंकड़े चौंकाने वाले हैं  आंकड़ों की मानें  तो देश में फिलहाल सबसे ज्यादा कोरोना के मरीज ट्रेनों में ही मिल रहे हैं. दूसरे राज्यों से रवाना होने वाली ट्रेनों में चढ़ने वाले यात्रियों की जांच नहीं होती है. इनमें ज्यादातर कोरोना की वजह से काम-धंधा नहीं मिलने और लाकडाउन के खौफ के कारण… Continue reading सावधान : ट्रेनों में मिल रहे हैं सबसे ज्यादा संक्रमित, एक बार फिर प्रवासी मजदूरों के लौटने का सिलसिला शुरू

कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए प्रवासी मजदूरों के लिए शुरु हुई 7 स्पेशल ट्रेनें, ऐसे करवाएं बुकिंग

महाराष्ट्र में कोरोना के मामले रुकने का नाम ही नहीं ले रहे हैं. 2020 में जब कोविड-19 के मामले भारत में फैले थे तब सबसे ज्यादा परेशानी प्रवासी मजदूरों को उठानी पड़ी थी. एक बार फिर कोरोना के केस महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा हैं. राज्य सरकार ने महाराष्ट्र में वीकेंड को लॉकडाउन का ऐलान कर दिया है. इसके बाद से प्रवासियों को ये डर सताने लगा है कि संपूर्ण लॉकडाउन लगने के बाद एक बार फिर वो भयानक मंजर…! मुंबई में रहने वाले उतर-भारत के प्रवासी अपने घर को लौट रहे हैं. लेकिन मजदूरों को कोई परेशानी ना हो इसलिए राज्य सरकार ने प्रवासियों के लिए मध्य रेलवे ने बिहार और उत्तर प्रदेश के लिए कई स्पेशल सुपरफास्ट एक्सप्रेस ट्रेनों को चलाने का निर्णय लिया है.  रेलवे के अनुसार ये ट्रेनें पूरी तरह से आरक्षित श्रेणी की होंगी.  इन ट्रेनों में टिकट कन्फर्म होने के बाद ही यात्री सफर कर पाएंगे. यात्रा के दौरान कोरोना के नियमों का पालन करना होगा. मास्क के बिना किसी को अनुमति नहीं दी जाएगी.  सामाजिक दूरी का पालन करते हुए यात्रा करनी होंगी. इसे भी पढ़ें Bollywood News : बॉलीवुड अभिनेता सोनू सूद ने कोरोना से बचाव के लिए Vaccine लगवाई मुंबई-दरभंगा सुपरफास्ट स्पेशल ट्रेन… Continue reading कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए प्रवासी मजदूरों के लिए शुरु हुई 7 स्पेशल ट्रेनें, ऐसे करवाएं बुकिंग

Corona के बढ़ते मामलों के कारण फिर से पलायन की तैयारी कर रहे मुंबई के प्रवासी मजदूर

मुंबई। महाराष्ट्र में Corona महामारी एक बार फिर अपने चरम पर है। इस बीच मुंबई और मुंबई महानगर क्षेत्र (एमएमआर) में काम करने वाले हजारों प्रवासियों को एक बार फिर पलायन का डर सताने लगा है, किसी भी समय अपने गृह नगर लौटने की संभावना हो सकती है इसलिए एक बार फिर से मजदूर लोगों ने अपने बैग पैक का मन बना रहे है क्योकि राज्य में Corona के मामले बढ़ते जा रहे है पिछले साल महामारी फैलने के बाद लगाए गए Lockdown के कारण महाराष्ट्र से हजारों प्रवासी मजदूरों को पलायन करना पड़ा था। जब Lockdown खुला और सामान्य स्थिति लौटने लगी तो यह मजदूर भी अपने काम पर लौट आए थे। अब उन्हें काम पर लौटे मुश्किल से छह महीने भी नहीं हुए हैं, मगर उन्हें एक बार फिर पलायन का डर सताने लगा है राज्य में corona virus की दूसरी लहर चल रही है और रोजाना हजारों मामले सामने आ रहे हैं। यही वजह है कि वह पहले से ही अपना बैग पैक करने लगे हैं। इसे भी पढ़ें – Bihar: कोरोना के बढ़ते मामलों साथ दिहाड़ी मजदूरों की बढ़ी परेशानी, जानें मजदूरों की बातें Maharashtra में रात में Curfew लगाया गया है, जबकि दिन में काम से… Continue reading Corona के बढ़ते मामलों के कारण फिर से पलायन की तैयारी कर रहे मुंबई के प्रवासी मजदूर

सोनू सूद से सीखों अदानी, अंबानी!

आज जब कोरोना काल के दौरान देश के जाने माने उद्योगपति जैसे अंबानी, अदानी फिल्म स्टार अमिताभ बच्चन, अक्षय कुमार आदि के बारे में पढ़ता हूं तो मुझे बचपन की एक कहावत याद हो आती है।

महामारी के मारे मजदूर

लॉकडाउन में ढील के बावजूद शहरों में कारोबार अभी सामान्य नहीं हुआ है। इसके बावजूद यहां से वापस गए प्रवासी मजदूर यहां लौटने को मजबूर हो रहे हैं। दरअसल, गांवों में सीमित विकल्पों के कारण उन्हें वापस शहर की ओर लौटना पड़ रहा है।

शहर वापसी को तैयार हैं अधिकांश प्रवासी मजदूर: कारोबारी संगठन

कोरोना का कहर अभी थमा नहीं है, लेकिन रोजी-रोटी के खातिर प्रवासी दोबारा औद्योगिक शहरों का रुख करने लगे हैं। कारोबारी बताते हैं कि अधिकांश मजदूर लौटने को तैयार हैं,

मुंबई में भीड़ कम करने के लिए उत्तर प्रदेश, बिहार में रोजगार पैदा करें : शिवसेना

मुंबई में भीड़ कम करने संबंधी केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी की टिप्पणी पर निशाना साधते हुए शिवसेना ने सोमवार को कहा कि अगर उत्तर प्रदेश और बिहार में पुणे और मुंबई जैसे स्मार्ट शहर बना लिए जाएं तो देश की आर्थिक राजधानी का जनसंख्या घनत्व अपने आप कम हो जाएगा।

गरीब कल्याण रोजगार अभियान का मतलब

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को गरीब कल्याण रोजगार अभियान की शुरुआत की। इसकी शुरुआत बिहार से की गई और समझना मुश्किल नहीं है

बिहार में शुरू गरीब कल्याण रोजगार अभियान

बिहार में विधानसभा चुनाव से ठीक पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गरीब कल्याण रोजगार अभियान की शुरुआत की है। वैसे तो यह अभियान छह राज्यों में चलेगा पर इसे बिहार से शुरू किया गया है, जहां साल के अंत में चुनाव होने हैं।

प्रवासी मजदूरों के लिए गरीब कल्याण रोजगार अभियान का शुभारंभ

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए लगाए लॉकडाउन के दौरान अपने गृह राज्य लौटे प्रवासी मजदूरों को सशक्त करने को एक बड़ी ग्रामीण लोक कार्य योजना का शुभारंभ करेंगे।

प्रवासी मजदूरों को सुपरहीरो मानते हैं सोनू सूद

बॉलीवुड अभिनेता सोनू सूद खुद को नहीं बल्कि प्रवासी मजदूरों को सुपर हीरो मानते हैं। कोरोना संकट के बीच सोनू सूद की एक अलग ही छवि सामने आई है।

प्रवासी मजदूरों को मिला मनरेगा का आसरा

कोरोना काल में शहरों से वापस घर लौटे करोड़ों प्रवासी मजदूरों को मनरेगा का आसरा मिल गया है। मनरेगा के तहत गांवों के दिहाड़ी मजूदरों को इस महीने जून में पिछले

और लोड करें