ट्विटर लाइव-स्ट्रीमिंग ऐप पेरिस्कोप को बंद करेगा

ट्विटर ने बुधवार को अपनी लाइव-स्ट्रीमिंग सेवा पेरिस्कोप को मार्च 2021 तक एक अलग मोबाइल ऐप के रूप में बंद करने की घोषणा की। हालांकि, कंपनी मुख्य ऐप के भीतर अपने

43 चीनी मोबाइल ऐप पर पाबंदी

सरकार ने अलीबाबा समूह के ई-वाणिज्य ऐप अली एक्सप्रेस समेत 43 और चीनी मोबाइल ऐप पर पाबंदी लगाई है। चीन के साथ सीमा पर जारी गतिरोध के बीच यह कदम उठाया गया है।

व्हाट्सएप प्रतिद्वंद्वी टेलीग्राम ने जोड़ा वीडियो कॉल सपोर्ट

व्हाट्सएप के सबसे करीबी प्रतिद्वंद्वी टेलीग्राम ने घोषणा की है कि वह अपने सभी डेस्कटॉप और मोबाइल एप में वीडियो कॉल का फीचर शुरू कर रहा है।

कोविड-19 से संबंधित जानकारियों के लिए मोबाइल ऐप जारी

कोरोना वायरस से जुड़ी प्रामाणिक जानकारियों के तीव्र प्रसार के लिए मिजोरम सरकार ने एक मोबाइल ऐप जारी किया है। इस ऐप में कोविड-19 बीमारी से संबंधित विभिन्न सूचनाओं के

मोबाइल ऐप से नोट पहचान सकेंगे दृष्टिबाधित

रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने ‘मनी’ नाम से एक मोबाइल ऐप जारी किया है जिसकी मदद से दृष्टिबाधित लोग भी करेंसी नोट का मूल्य जान सकेंगे।
आरबीआई गवर्नर शक्तिकांता दास

झारखंड विधानसभा चुनाव परिणाम के लिए आयोग ने बनाया मोबाइल ऐप

नई दिल्ली। चुनाव आयोग ने झारखंड विधानसभा चुनाव के कल होने वाली मतगणना के परिणाम प्रसारित करने की व्यवस्था पूरी कर ली है। आयोग ने यहां जारी एक बयान में कहा कि इसके लिए एकीकृत आईसीटी गणना एप्लिकेशन तैयार किया है जिसके माध्यम से मोबाइल ऐप पर चुनाव परिणाम देखे जा सकते हैं। चुनाव आयोग की वेबसाइट पर उपलब्ध इस एेप पर सोमवार सुबह आठ बजे से झारखंड विधानसभा के परिणाम देखे जा सकते हैं। चुनाव आयोग के अनुसार इस केंद्रीयकृत सॉफ्टवेयर ‘एनकोर’ में निर्वाचन अधिकारी सारिणी-वार आंकड़े दर्ज कर सकेंगे जिससे परिणाम जानने में समय की बचत होगी और परिणाम तथा रुझान के आंकड़े बिना त्रुटि के सबके सामने आ सकेंगे। इसके लिए विकसित गणना सॉफ्टवेयर से मतगणना प्रक्रिया के दौरान निर्वाचन अधिकारियों के लिए विभिन्न वैधानिक रिपोर्ट संबंधी सुविधा भी है। इसमें फॉर्म-20 की तैयारी तथा अंतिम परिणाम शीट का संकलन, परिणाम की औपचारिक घोषणा के लिए 21-सी से संबंधित जानकारी शामिल है। आयोग ने इसके साथ ही एक एक टीवी भी लांच किया है जिस पर चुनाव रुझान विस्तृत विवरण के साथ दिए जाएंगे। निर्वाचन अधिकारियों द्वारा आधिकारिक रूप से घोषित प्रत्येक राउंड की गिनती के आंकड़ों को इसमें किसी हस्तक्षेप के बिना सुरक्षित रूप से प्रदर्शित… Continue reading झारखंड विधानसभा चुनाव परिणाम के लिए आयोग ने बनाया मोबाइल ऐप

भारतीय कर रहे ‘2020 सिख रेफरेंडम ऐप’ को हटाने की मांग

नई दिल्ली। इंटरनेट का प्रयोग करने वाले काफी लोगों ने शुक्रवार को ट्विटर पर विवादास्पद ‘2020 सिख रेफरेंडम ऐप’ को तुरंत हटाने की मांग की है। एक यूजर ने लिखा, मोबाइल ऐप ‘2020 सिख रेफरेंडम’ को करतारपुर, पाकिस्तान में सिखों को टागरेट करने के लिए बनाया गया है। यह खालिस्तान को बढ़ावा देने के लिए है। इस तरह के काम की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए। एक अन्य यूजर ने लिखा, भारत-विरोधी प्रोपेगेंडा ‘खालिस्तान’ अब गूगल प्ले स्टोर पर है। गूगल प्ले अपने प्लेटफॉर्म पर कट्टरपंथी सोच को कैसे अनुमति दे सकता है? यह ‘2020 सिख रेफरेंडम ऐप’ भारत के खिलाफ खालिस्तान के लिए युवाओं को कट्टरपंथी बना रहा है और पाकिस्तानी इस एप्लिकेशन को संचालित कर रहे हैं। यह ऐप अभी तक 1,000 से अधिक डाउनलोड हो चुकी है। इसे अमेरिका आधारित समूह सिख फॉर जस्टिस द्वारा शुरू किए गए एक ऑनलाइन अलगाववादी अभियान के तहत बढ़ावा दिया जा रहा है। इस बीच पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने अपने अधिकारियों को इस मामले को उचित तरीके से उठाने का निर्देश दिया और प्रौद्योगिकी कंपनी को इसे हटाने के लिए कहा। इसके साथ ही उन्होंने केंद्र सरकार से भी गुजारिश की है कि वह तुरंत कंपनी को इस ऐप… Continue reading भारतीय कर रहे ‘2020 सिख रेफरेंडम ऐप’ को हटाने की मांग

और लोड करें