• डाउनलोड ऐप
Monday, May 10, 2021
No menu items!
spot_img

modi speech

मोदी भाषणः चित भी मेरी पट भी मेरी!

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्र के नाम अपने संबोधन में जो कुछ कहा, दो-तीन दिन पहले वहीं बातें उनके स्वास्थ्य मंत्री ने भी कही थी। फिर अलग से इस संबोधन की क्या जरूरत थी? डॉक्टर हर्षवर्धन ने देश को लोगों को चेतावनी दी थी कि त्योहारों के सीजन में लापरवाही न बरतें, सावधान रहें और दिशा-निर्देशों का पालन करें।

त्वचा के भीतर जासूसी की तैयारी!

दुनिया भर में अब ‘अंडर द स्किन सर्विलेंस’ यानी त्वचा के अंदर घुस कर जासूसी की तैयारी हो रही है। कोरोना वायरस के संकट ने सरकारों को यह मौका दिया है। कोरोना की आपदा को सरकारें अवसर में बदल रही हैं।

अनिवार्य टीकाकरण की ओर भारत

नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन क्या अंततः भारत को अनिवार्य टीकाकरण की ओर ले जाएगा? इसी से जुड़ा दूसरा सवाल यह है कि क्या भारत सरकार का यह मिशन दुनिया के सबसे बड़े उद्योगपतियों में से एक बिल गेट्स की ओर से प्रस्तुत आईडी-2020 प्रोजेक्ट का हिस्सा है या उसका विस्तार है?

डिजिटल हेल्थ मिशन से किसका फायदा?

नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन, कहने को तो भारत सरकार की योजना है, जिसे 2018 में नीति आयोग के प्रस्ताव पर स्वास्थ्य मंत्रालय के एक पैनल ने तैयार किया है और जिसकी घोषणा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 15 अगस्त को लाल किले से अपने भाषण में की।

ये सब तो मोदी कई बार कह चुके!

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वतंत्रता दिवस के मौके के इस बार के लाल किले के भाषण देने का माहौल न भाषण के पहले बना और न बाद में बन सका। पहली बार ऐसा हुआ कि मीडिया में इस बात को लेकर अटकलें नहीं लगाई गईं कि वे क्या-क्या बोलेंगे।

अब जनता खुद खांड़ा खड़काए

स्वतंत्रता-दिवस पर राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री ने जो संदेश दिए हैं, वे काफी रचनात्मक हैं और यदि आप सिर्फ उन पर ही ध्यान दें तो वे उत्साहवर्द्धक भी हैं। हर प्रधानमंत्री लाल किले से सारे देश को पहले तो यह बताता है

आत्मनिर्भरता की थीम पर बोलेंगे मोदी?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हर साल 15 अगस्त को लाल किले से भाषण देने से पहले देश के लोगों से राय मांगते हैं। वे पूछते हैं कि उन्हें क्या बोलना चाहिए।

पीएम की वेशभूषा पर भी नजर होगी

कोरोना वायरस के संक्रमण की वजह से इस बार लाल किले पर होने वाला स्वतंत्रता दिवस का समारोह कम अतिथियों के साथ होगा।

मोदी के भाषण की भाषा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भाषणों को लेकर खूब चर्चा हो चुकी है। तारीफें हुईं हैं तो आलोचना भी खूब हुई है। सोशल मीडिया में खूब मजाक भी बने हैं। किसी ने कहा कि प्रधानमंत्री का एक ही संदेश है- मेरा भाषण ही मेरा शासन है!

क्या क्या नहीं कहा पीएम ने?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना संकट के दौर में 20 मार्च से 12 मई तक चार बार देश को संबोधित किया और एक बार वीडियो संदेश जारी किया। इस तरह कुल मिला कर पांच संबोधन हुए।
- Advertisement -spot_img

Latest News

Rajasthan COVID-19 Update : भयावह होती जा रही मौतों की संख्या, बीते 24 घंटे में 159 लोगों ने तोड़ा दम, 17921 नए संक्रमित आए...

जयपुर। Rajasthan COVID-19 Update : राजस्थान में कोरोना संक्रमण ( Rajasthan COVID-19 ) से बेकाबू हुए हालात अब भी...
- Advertisement -spot_img