Muharram Juloos 2023

  • श्रीनगर में 33 साल बाद मुहर्रम का जुलूस

    श्रीनगर। इस्लामिक कैलेंडर के हिसाब से इन दिनों मुहर्रम का महीना चल रहा है। शिया मुसलमानों के लिए पूरी दुनिया में इसे पवित्र महिना माना जाता है। इसलिए क्योंकि पैगंबर मुहम्मद के पोते हुसैन की शहादत की स्मृति में बड़े जुलूस निकलते हैं। हुसैन की शहादत सातवीं सदी में हुई थी। कश्मीर में 1990 से पहले जुलूस निकला करते थे। लेकिन दूसरे समुदाय की हिंसा और विरोध के चलते प्रशासन ने इन पर प्रतिबंध लगा रखा था। लेकिन बदले माहौल में उपराज्यपाल मनोज सिंहा व जम्मू-कश्मीर प्रशासन ने इस बार शियाओं को जुलूस की अनुमति दी। श्रीनगर के आला अधिकारियों...