kishori-yojna
क्या चीन के साथ बनी सहमति पूर्व की यथास्थिति की बहाली के खिलाफ नहीं है: कांग्रेस

कांग्रेस ने वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर चल रहे गतिरोध के बीच कुछ इलाकों से चीनी सैनिकों के पीछे हटने की शुरुआत को लेकर बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से सवाल किया कि क्या दोनों देशों के बीच बनी सहमति पूर्व की यथास्थिति की बहाली के खिलाफ नहीं है।

मोदी के लिए संकट मोचक बने डोभाल

नई दिल्ली। “जो कुछ हो गया वह हो गया। पूरा यकीन है कि अब यहां पर शांति होगी। हम प्रधानमंत्री और गृहमंत्री के हुक्म की तामील करने यहां आए हैं। इंशाल्लाह यहां बिल्कुल अमन होगा। पुलिस अलर्ट है। इंतजामिया की जिम्मेदारी है कि हर एक को महफूज रखे और सलामती की जिम्मेदारी ले। कुछ इन्हीं लफ्जों के साथ उत्तर-पूर्वी दिल्ली में स्थानीय बाशिंदों को सुरक्षा का दिलासा देते नजर आए राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल। इससे पहले डोभाल इस अंदाज में जम्मू-कश्मीर में नजर आए थे, जब 370 हटने के बाद हालात नाजुक था और वह खुद सड़कों पर उतरकर लोगों को समझा-बुझा रहे थे। प्रधानमंत्री के निर्देश पर मंगलवार की रात से लेकर बुधवार को 16 घंटे का ऑपरेशन चलाकर अजित डोभाल ने उत्तरी-पूर्वी दिल्ली के बेकाबू होते हालात को काबू में किया। मंगलवार की रात साढ़े 11 बजे और बुधवार को साढ़े तीन बजे दो बार वह उत्तरी-पूर्वी डीसीपी दफ्तर पहुंचे। इन 16 घंटों में डोभाल ने पुलिस, अर्धसैनिक बलों की ठीक संख्या में तैनाती, दोनों पक्षों के प्रभावशाली लोगों और धर्मगुरुओं से शांति की अपीलें से लेकर हर वो रणनीति अपनाई जिससे सड़कों पर भीड़ आने से रोका जा सके। मंगलवार की रात से लेकर बुधवार को… Continue reading मोदी के लिए संकट मोचक बने डोभाल

डोभाल ने हिंसा प्रभावित इलाकों का दौरा किया

नई दिल्ली। चौबीस घंटे से कम समय में दूसरी बार राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डोभाल, उत्तरपूर्वी दिल्ली के हिंसा प्रभावित क्षेत्रों में स्थिति की समीक्षा करने के लिए निजी तौर पर गए और स्थानीय लोगों की सुरक्षा चिंताओं को कम करने की कोशिश की। बुधवार दोपहर बाद उन्होंने आधे घंटे से अधिक समय तक जाफराबाद के हिंसा प्रभावित इलाकों का दौरा किया और स्थानीय लोगों से बातचीत की। सीलमपुर में पुलिस अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक के बाद उन्होंने जाफराबाद पहुंचकर सड़कों पर विभिन्न समूहों से बातचीत की और स्थानीय लोगों को धैर्य से सुना। स्थानीय लोगों ने अपनी डर व दूसरी समस्याएं उन्हें बताया। इस दौरान ‘दिल्ली पुलिस जिंदाबाद’ व ‘हिंदुस्तान जिंदाबाद’ के नारे में भी सुनाई दिए। डोभाल ने स्थानीय लोगों को अतीत की बातें भूलकर आगे बढ़ने की सलाह दी। उन्होंने लोगों को भरोसा दिया कि हम यहां आपकी सुरक्षा के लिए हैं। डोभाल ने मीडिया से कहा, “मैं यहां प्रधानमंत्री और गृह मंत्री के निर्देश पर आया हूं। मैंने सभी से मुलाकात की है, सभी से बात की है। पुलिस यहां सभी के लिए शांति और सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए है। हमें सबकी सुरक्षा सुनिश्चित करनी है। जाफराबाद में सड़कों व गलियों से गुजरते… Continue reading डोभाल ने हिंसा प्रभावित इलाकों का दौरा किया

और लोड करें