आठ लाख करोड़ का कर्ज राइट ऑफ हुआ

नरेंद्र मोदी की सरकार के शुरुआती चार साल के कार्यकाल के दौरान बैंकों ने कारोबारियों और उद्योगपतियों का करीब आठ लाख करोड़ रुपए का कर्ज राइट ऑफ किया है।