कोरोना: भारत में तब-अब

क्या फर्क है संक्रमण-लॉकडाउन के पिछले कोहराल और अब के कोहराम में? जवाब है कोई गुणात्मक परिवर्तन नहीं। वायरस के आगे भारत पहले भी झूठ में जीता हुआ था और अब भी है। भारत की भीड़ पहले भी वायरस को नकारते हुए थी और आज भी है। लोग तब भी भगवान भरोसे थे अब भी… Continue reading कोरोना: भारत में तब-अब

झूठ से झूमे रहेगा वायरस

भारत में ऐसा सोचने, कहने वाले असंख्य लोग है जो कहते है अमेरिका, योरोप में इतने लोग मर गए तो उस नाते भारत विश्व गुरू है। भारत में कोरोना काबू में रहा। बाकि देश संर्घष करते हुएहै जबकि भारत विजेता! हमें क्या बचना बल्कि हम दुनिया को बचातो हुए!हमने टीका बनाया। सबके टीका लग जाएगा… Continue reading झूठ से झूमे रहेगा वायरस

कितना कुछ बदल गया

कोरोना वायरस की महामारी शुरू होने के बाद एक साल में कितना कुछ बदल गया है। इसमें कुछ बदलाव अच्छे हैं तो कुछ खराब और कुछ बहुत खराब। इनके अलावा कुछ ऐसे भी बदलाव हैं, जो पहले भी मायने नहीं रखते थे और अब तो खैर उनका कोई मतलब ही नहीं है। जैसे कोरोना वायरस… Continue reading कितना कुछ बदल गया

सरकार ने धोखा दिया

कोरोना वायरस की महामारी का एक कटु सच यह है कि भारत में सरकार ने लोगों के साथ धोखा किया। सरकार ने अपनी जिम्मेदारी नहीं निभाई। सरकार को कोरोना से मुकाबला करने के लिए एक साल से ज्यादा का समय मिला फिर भी वहीं ढाक के तीन पात वाली स्थिति है। केसेज बढ़ते ही एक… Continue reading सरकार ने धोखा दिया

10 लाख से ज्यादा एक्टिव केस

नई दिल्ली। कोरोना वायरस की दूसरी लहर धीरे धीरे पहली लहर के पीक तक पहुंच गई है। हर दिन आने वाले नए संक्रमितों की संख्या के मामले में तो पहली लहर के पीक के मुकाबले डेढ़ गुना केस रोजाना आ रहे हैं। इसके साथ ही एक्टिव केसेज की संख्या भी 10 लाख का आंकड़ा पार… Continue reading 10 लाख से ज्यादा एक्टिव केस

पीएम मोदी से आनलाइन मिलने नहीं आईं ममता बनर्जी, टेस्टिंग पर मोदी का जोर, वैक्सीन से ज्यादा डिस्टेंसिंग जरूरी

नई दिल्ली । देश भर में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों से निपटने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की बुलाई बैठक में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी नहीं शामिल हुईं। मुख्यमंत्री की ओर से राज्य के मुख्य सचिव बैठक में शामिल हुए। गुरुवार की शाम को हुई इस बैठक में कोरोना वायरस की दूसरी… Continue reading पीएम मोदी से आनलाइन मिलने नहीं आईं ममता बनर्जी, टेस्टिंग पर मोदी का जोर, वैक्सीन से ज्यादा डिस्टेंसिंग जरूरी

इस बार स्वास्थ्य सुविधाओं का ज्यादा संकट

कोरोना वायरस की दूसरी लहर संक्रामक ज्यादा है और घातक कम। यह बात कई तरह से जाहिर हुई है। जैसे एक लाख से ज्यादा केस होने के बावजूद संक्रमण से मरने वालों की संख्या छह सौ के आसपास रही। दो-तीन राज्यों में मृत्यु दर ज्यादा है लेकिन ओवरऑल देश में मृत्यु दर ज्यादा बड़ी चिंता… Continue reading इस बार स्वास्थ्य सुविधाओं का ज्यादा संकट

कोरोना की बढ़ती चुनौती

कोरोना वायरस महामारी में नया पहलू जुड़ गया है। कोविड-19 वायरस के नए संस्करण (स्ट्रेन) दुनिया के लिए बड़ी चुनौती बन गए हैं। इनकी वजह से अमेरिका सहित कई देशों में कोरोना वायरस संक्रमण की अगली लहर आ चुकी है। अब विशेषज्ञ चेतावनी दे रहे हैं कि अभी चल रहे टीकाकरण का लाभ तभी टिकाऊ… Continue reading कोरोना की बढ़ती चुनौती