Nitin Desai Death

  • ज़िंदगी की फ़िल्म पर किसी का वश नहीं

    कई बार किसी के दुनिया से जाने के बाद लोगों को पता लगता है कि वह अपने क्षेत्र का कितना अहम, कितना महारथी और कितना लोकप्रिय व्यक्ति था। दर्शकों और मीडिया को अक्सर कलाकारों और कुछ बड़े फिल्मकारों से ही मतलब रहता है। मगर ध्यान रखिए, सिनेमा उद्योग के नब्बे फ़ीसदी से भी ज़्यादा लोग परदे के पीछे यानी नेपथ्य में रहते हैं। ये कई श्रेणियों में विभाजित हैं। कुछ की आमदनी ठीकठाक है, मगर ज़्यादातर का जीवन संघर्ष से ऊपर नहीं उठ पाता। उनके बारे में जानने की किसी को फ़ुरसत नहीं। कहा नहीं जा सकता कि आर्ट डायरेक्टर...