noor inayat khan indian

ब्रितानी समाज में नूर का सम्मान

विदेशी चीजों का हम भारतीयों के मन में सदा से विशेष महत्व रहा है। एक समय था जब हम विदेशी वस्तुएं जिनमें केलकुलेटर से लेकर कपड़े व सौंदर्य साधन तक शामिल होता था खरीदने के लिए लालयित रहते थे व कस्टम की सरकारी दुकानों पर फॉरेन गुड्स, विदेशी सामान खरीदने वालों की भीड़ लगी रहती थी।
- Advertisement -spot_img

Latest News

बड़े दिमाग की छोटी खोपड़ी!

कलियुग ने बुद्धि-ब्रेन को छोटा बनाया है। वह गुलामी में घिस कर छोटी हुई है। गुलामी और भक्ति से...
- Advertisement -spot_img