एलोपैथी की साख किसने बिगाड़ी?

पतंजलि समूह के रामदेव एलोपैथी को लेकर जो कह रहे हैं वह अपनी जगह है। क्योंकि एलोपैथी के ऊपर उनका हमला सिर्फ इसलिए है कि वे अपनी कंपनी के उत्पाद बेच सकें। यह आयुर्वेद बनाम एलोपैथी की नहीं, बल्कि एलोपैथी बनाम रामदेव या एलोपैथी बनाम पतंजलि का विवाद है। इसलिए उसमें जाने की जरूरत नहीं… Continue reading एलोपैथी की साख किसने बिगाड़ी?

सरकार का पूरा फोकस, ध्यान भटकाओं!

समकालीन दुनिया के सबसे बड़े सार्वजनिक बौद्धिकों में से एक और पिछले कई दशकों से अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बौद्धिक असहमति की आवाजों के प्रतीक रहे नोम चोमस्की ने मीडिया द्वारा मैनिपुलेशन के दस नुस्खों के बारे में बताया है… भारत के मौजूदा संदर्भ में वैसे तो नोम चोमस्की के बताए सारे नुस्खे आजमाए जाते हुए… Continue reading सरकार का पूरा फोकस, ध्यान भटकाओं!

ये तरीका अस्वीकार्य है

असल बात यह है कि प्राचीन भारत की इन दोनों महान उपलब्धियों के कारोबारियों ने उन्हें बाजारू ढंग से पेश किया है। मसलन, ये उदाहरण देखिए। योग एक संपूर्ण दर्शन है, जिसमें आसन उसका सिर्फ एक हिस्सा है। जबकि रामदेव जैसे गुरुओं ने सिर्फ योगासन को योग बता कर इसका कारोबार किया है। खुद को… Continue reading ये तरीका अस्वीकार्य है

रामदेव पर हजार करोड़ का मुकदमा

नई दिल्ली। एलोपैथी चिकित्सा पद्धति और डॉक्टरों के खिलाफ पतंजलि समूह के रामदेव की ओर से दिए गए अनाप-शनाप बयान के मामले को इंडियन मेडिकल एसोसिएशन, आईएमए आसानी से नहीं छोड़ने वाला है। आईएमए ने रामदेव के ऊपर एक हजार करोड़ रुपए के मानहानि का मुकदमा दर्ज किया है। एसोसिएशन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को… Continue reading रामदेव पर हजार करोड़ का मुकदमा

भारत की डाक्टरी पर बाबा का डंक

डाक्टर थे समाज के प्रतिष्ठित लोग…उन पर रामदेव जैसों की हिम्मत नहीं हुआ करती थी पर डाक्टरों ने भी वायरस-महामारी के आगे ताली-थाली की ध्वनि और मोबाइल टार्चो, दियों की रोशनी के प्रभावों की नई व्याख्याएं सुनकर, अपने मरीज को छोड़कर खुले में बाहर आकर ताली बजाते हुए थे…तब भला रामदेव ऐसे डाक्टरों और एलोपैथी… Continue reading भारत की डाक्टरी पर बाबा का डंक