kishori-yojna
चाचा के खिलाफ चिराग हाई कोर्ट पहुंचे

chirag paswan delhi high Court : नई दिल्ली। लोक जनशक्ति पार्टी का विवाद अब अदालत में पहुंच गया है। पार्टी के संस्थापक दिवंगत रामविलास पासवान के बेटे चिराग पासवान ने अपने चाचा पशुपति पारस को लोकसभा में पार्टी के नेता के तौर पर मान्यता देने के स्पीकर के फैसले को चुनौती दी है। गौरतलब है कि पिछले महीने पशुपति पारस लोजपा के पांच सांसदों के साथ अलग हो गए थे और असली लोजपा होने का दावा किया था। उनके दावे को स्पीकर ने मान्यता दे दी थी। इस बीच पशुपति पारस को केंद्र सरकार में कैबिनेट मंत्री बना दिया गया है। मंत्रीजी का रुतबा.. रेलमंत्री ने आते ही इंजीनियर से कहा कि आप मुझे सर नहीं बॉस बोलोगे दूसरी ओर चिराग पासवान का दावा है कि वे लोजपा के अध्यक्ष हैं। उन्होंने हाई कोर्ट में याचिका दायर करने के बारे में कहा- पार्टी विरोधी गतिविधियों और शीर्ष नेतृत्व को धोखा देने के कारण लोक जनशक्ति पार्टी से पशुपति कुमार पारस को पहले ही पार्टी से निष्काषित किया जा चुका है और अब उन्हें केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल करने पर पार्टी कड़ा ऐतराज दर्ज कराती है। चिराग ने कहा- प्रधानमंत्री जी के इस अधिकार का पूर्ण सम्मान है कि वे अपनी टीम… Continue reading चाचा के खिलाफ चिराग हाई कोर्ट पहुंचे

चिराग ने की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक

नई दिल्ली। अपने चाचा पशुपति पारस के राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक करने के बाद अब चिराग पासवान ने अपनी ताकत दिखाई है। पारस के साथ पार्टी के छह में पांच सांसद हैं तो चिराग ने बताया है कि उनकी बुलाई राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में 90 फीसदी सदस्य शामिल हुए और साथ ही 12 राज्यों के प्रदेश अध्यक्षों ने भी हिस्सा लिया। गौरतलब है कि लोक जनशक्ति पार्टी के पांच सांसदों ने पशुपति पारस के नेतृत्व में अलग गुट बना लिया है और चिराग पासवान को पार्टी से निकाल दिया है। दूसरी ओर चिराग ने भी पशुपति पारस और दूसरे सांसदों को पार्टी से निकाल दिया है। इस टकराव के बीच लोजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद पर कब्जे के लिए चाचा-भतीजा के बीच चल रही वर्चस्व की जंग और तेज हो गई है। इसे लेकर राजधानी दिल्ली के 12, जनपथ स्थित अपने आस पर चिराग पासवान ने राष्ट्रीय कार्यकारिणी की मीटिंग की। पार्टी की तरफ से दावा किया गया है कि इसमें बिहार सहित 12 राज्यों के अध्यक्षों के साथ ही 90 फीसदी राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य शामिल हुए। सभी ने अपना समर्थन चिराग को दिया है। बैठक में मौजूद कार्यकारिणी के सदस्यों ने पार्टी से निलंबित किए गए पशुपति… Continue reading चिराग ने की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक

पारस बने लोजपा के नए अध्यक्ष

पटना। लोक जनशक्ति पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान को पार्टी से निकालने के दो दिन बाद पशुपति कुमार पारस पार्टी के नए अध्यक्ष चुने गए हैं। इससे पहले पारस को पार्टी संसदीय दल का नेता भी चुना गया था और लोकसभा स्पीकर ने भी उनको मान्यता दे दी थी। इसके बाद गुरुवार को राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में पारस को पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष चुना गया। गुरुवार शाम लोजपा कार्यालय में इसकी औपचारिक घोषणा हुई। हालांकि चिराग पासवान अब भी खुद को लोजपा का अध्यक्ष मान रहे हैं और उन्होंने एक दिन पहले ही पारस और चार अन्य सांसदों को पार्ट से निकाला था। अपने चाचा पशुपति पारस के अध्यक्ष चुने जाने की खबरों के बाद पारस ने कहा कि लोजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी में 75 सदस्य हैं, जिनमें से नौ लोग ही उनके चुनाव के समय मौजूद थे। बहरहाल, पार्टी की कमान संभालते ही पशुपति पारस ने चिराग पासवान पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि भतीजा तानाशाह हो जाएगा तो चाचा क्या करेगा। यह प्रजातंत्र है, कोई आजीवन अध्यक्ष नहीं रह सकता। दलित सेना के अध्यक्ष पद पर रहने के सवाल पर पारस ने कहा कि दलित सेना अलग संस्था है। उन्होंने कहा- जिस दिन मंत्री पद लूंगा,… Continue reading पारस बने लोजपा के नए अध्यक्ष

पारस और चिराग ने एक दूसरे को निकाला

नई दिल्ली। लोक जनशक्ति पार्टी यानी लोजपा में मचे घमासान के दूसरे दोनों खेमों ने एक दूसरे के ऊपर कार्रवाई की। संसदीय दल के नए नेता चुने गए पशुपति पारस ने अपने भतीजे और पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान को अध्यक्ष पद से हटा दिया। इसके थोड़ी देर बाद चिराग पासवान ने अपने चाचा पशुपति पारस सहित पार्टी से बगावत करने वाले पांच सांसदों को पार्टी से निकाल दिया। इसके लिए दोनों ने अलग अलग राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक की। गौरतलब है कि सोमवार को पारस और चार अन्य सांसदों ने अलग गुट बना कर पारस को नेता चुन लिया था और लोकसभा स्पीकर को चिट्ठी दी थी, जिसे स्पीकर ने मान्यता दे दी। इसके एक दिन बाद मंगलवार को पारस ने पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक बुलाई, जिसमें चिराग को राष्ट्रीय अध्यक्ष पद से हटा दिया गया। पारस गुट ने पूर्व सांसद सूरजभान सिंह को लोजपा का कार्यकारी अध्यक्ष बनाया है। अब पांच दिन के अंदर राष्ट्रीय अध्यक्ष का चुनाव होगा। फिलहाल, सूरजभान सिंह की अध्यक्षता में बैठक होगी। एक-दो दिन में राष्ट्रीय कार्यकारिणी की फिर बैठक हो सकती है। दूसरी ओर पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराह पासवान मे कार्यकारिणी की वर्चुअल बैठक की, जिसमें पार्टी के… Continue reading पारस और चिराग ने एक दूसरे को निकाला

Bihar में  ‘चाचा-भतीजा’ के बीच ‘सियासी खेला’, Chirag Paswan का साथ छोड़, बगावत पर उतरे चाचा सहित 5 सांसद

नई दिल्ली | देश में कोरोना संक्रमण क्या कम हुआ कई राज्यों में ‘राजनीति का खेला’ शुरू हो गया। राजस्थान, पंजाब, यूपी और अब बिहार में भी राजनीतिक उथल-पुथल जोरों पर है। बिहार में तो ‘चाचा-भतीजा’ के बीच ‘सियासी खेला’ चालू हो गया है। चिराग पासवान (Chirag Paswan) की लोक जनशक्ति पार्टी (लोजपा) में कई नेताओं ने मोर्चा खोलते हुए पार्टी से बगावत कर दी है। LJP के पांच सांसदों ने पार्टी से अलग होने का फैसला कर लिया है। लोजपा के छह में से 5 लोकसभा सांसदों ने चिराग पासवान को हटाकर हाजीपुर लोकसभा क्षेत्र से उनके चाचा और सांसद पशुपति पारस (Pashupati Paras) को संसदीय दल का नेता चुना है। सुत्रों के अनुसार, ये सभी चिराग पासवान के कामकाज से खुश नहीं थे और पार्टी को अपने तरीके से चलाने से नाराज थे। खबर तो ये भी है कि ये पांचों सांसद जेडीयू (JDU) में शामिल हो सकते हैं। Patna: डाॅक्टरों ने किया कमाल, मैराथन ऑपरेशन कर मरीज के ब्रेन से क्रिकेट बाॅल से भी बड़ा Black Fungus निकाला बाहर अब किसे मिलेगी मान्यता लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला (Om Birla) को संसदीय दल का नया नेता चुने जाने के संबंध में पत्र भी सौंप दिया गया है। अगर… Continue reading Bihar में  ‘चाचा-भतीजा’ के बीच ‘सियासी खेला’, Chirag Paswan का साथ छोड़, बगावत पर उतरे चाचा सहित 5 सांसद

और लोड करें