स्वास्थ्य पर करो राजनीति, बनाओ मुद्दा

एक दशक से ज्यादा समय तक बीएसपी की राजनीति के बाद नरेंद्र मोदी ने विकास और अच्छे दिन का वादा किया। उन्होंने गुजरात मॉडल पूरे देश में बेचा। लेकिन उसमें भी स्वास्थ्य प्राथमिकता नहीं था। गुजरात की अपनी स्वास्थ्य व्यवस्था कैसी है इसकी पोल कोरोना वायरस की महामारी के समय हाई कोर्ट में हुई सुनवाइयों से खुल गई है। यह भी पढ़ें: विपक्ष में क्या हाशिए में होगी कांग्रेस? कोरोना वायरस की महामारी ने पूरी दुनिया के राजनीतिक विमर्श को बदल दिया है। अब दुनिया की राजनीति स्वास्थ्य और चिकित्सा के ईर्द-गिर्द घूम रही हैं। दशकों या सदियों तक मुख्यधारा में उपेक्षित रहा स्वास्थ्य का क्षेत्र ही अब राजनीति का केंद्र है। दुनिया के सभ्य और विकसित देशों में तो फिर भी लोगों का स्वास्थ्य राजनीतिक विमर्श का हिस्सा रहा है लेकिन विकासशाली और अविकसित देशों में यह कभी भी राजनीतिक विमर्श का केंद्र नहीं रहा। भारत में पिछले तीन दशक में राजनीति जरूर बदली है लेकिन एकाध राज्यों को छोड़ दें तो राष्ट्रीय स्तर पर स्वास्थ्य का मुद्दा चर्चा का केंद्र नहीं रहा है। पार्टियां लोगों को स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध करने के वादे नहीं करती हैं और न स्वास्थ्य पर खर्च बढ़ाने का वादा किया जाता है। तीन दशक… Continue reading स्वास्थ्य पर करो राजनीति, बनाओ मुद्दा

बच्चों की वैक्सीन, जल्दी न करें!

बच्चों को टीका लगना चाहिए लेकिन उससे पहले वैक्सीन का ज्यादा वालंटियर्स के साथ, ज्यादा बड़े पैमाने पर और ज्यादा समय के लिए  ट्रायल होना चाहिए। क्योंकि किसी को पता नहीं है कि वैक्सीन व्यस्कों के मुकाबले बच्चों पर किस तरह का असर करेगी, उसके साइड इफेक्ट्स कैसे होंगे और बच्चों को दी जाने वाली दूसरी बीमारियों की वैक्सीन के साथ कोरोना वैक्सीन की प्रतिक्रिया कैसी होगी। यह भी पढ़ें: जुबान बंद कराने की जिद से नुकसान कनाडा ने सबसे पहले 12 साल से ऊपर के बच्चों को वैक्सीन लगानी शुरू की थी। अब अमेरिका में भी 12 साल से ऊपर के बच्चों को वैक्सीन लगने लगी है और फाइजर बायोएनटेक की जो वैक्सीन अमेरिका के बच्चों को लग रही है उसे ब्रिटेन ने भी मंजूरी दे दी है। ब्रिटेन में हालांकि अभी बच्चों पर इसका परीक्षण चल रहा है परंतु जल्दी ही वहां भी यह टीका लगने लगेगा। फाइजर के अलावा मॉडर्ना और जॉनसन एंड जॉनसन तीनों की वैक्सीन को बच्चों के लिए मंजूरी मिल जाएगी। भारत में कोवैक्सीन का परीक्षण बच्चों के ऊपर हो रहा है और सरकार ने यह साफ कर दिया है कि दुनिया के बड़े देशों और विश्व स्वास्थ्य संगठन ने जिस वैक्सीन को मंजूरी… Continue reading बच्चों की वैक्सीन, जल्दी न करें!

Corona Vaccination: भारत में अब 12+ वालों को टीका देने की तैयारी, फाइजर लाया प्रस्ताव

New Delhi: भारत में कोरोना की दूसरी लहर में जमकर उत्पात मचाया है. हालांकि अब कोरोना के नए मामलों में कमी देखी जा रही है. इसके बाद भी वैक्सीनेशन की प्रक्रिया में तेजी नहीं आ सकी है. देश के वैज्ञानिकों ने दूसरी नहर के दौरान ही तीसरी लहर की भविष्यवाणी भी कर दी थी. इसमें अंदेशा जताया गया था कि कोरोना की तीसरी लहर बच्चों को ज्यादा प्रभावित कर सकती है. इन हालातों में अधिक राहत वाली खबर आई है. जानकारी के अनुसार अमेरिका की प्रसिद्ध दवा निर्माता कंपनी फाइजर ने भारत में 12 वर्ष से अधिक आयु के बच्चों के लिए अपनी कोरोना वैक्सीन लगवाने के लिए भारत सरकार से मंजूरी मांगी है. कंपनी की ओर से कहा गया है कि भारत में खाली कोरोना वैक्सीन के लिए हमारी वैक्सीन सबसे ज्यादा प्रभावकारी है और इसे 12 साल से अधिक उम्र के बच्चों को लगाया जा सकता है. कंपनी की ओर से कहा गया है कि भारत में पहले कोरोना वेरिएंट पर हमारी वैक्सीन काफी प्रभावी दिखाई दी और हमारी वैक्सीन को स्टोर करना भी काफी आसान है. अक्टूबर में 5 करोड़ वैक्सीन देने को तैयार फाइजर की ओर से कहा गया है कि अगर भारत सरकार और हमारे… Continue reading Corona Vaccination: भारत में अब 12+ वालों को टीका देने की तैयारी, फाइजर लाया प्रस्ताव

Corona Crisis: दवा और चिकित्सा उपकरण के क्षेत्र में निवेश के लिए भारत ने अमेरिकी दवा कंपनियों से किया संपर्क

New Delhi: भारत मेें कोरोना की दूसरी लहर से सबकुछ अस्त व्यस्त हो गया है. भारत सरकार ने अब  भारत ने अमेरिका की शीर्ष दवा कंपनियों से संपर्क कर देश में दवा एवं चिकित्सा उपकरण क्षेत्र में निवेश का अनुरोध किया. माना जा रहा है कि  कोरोना महामारी की दूसरी लहर के कारण इस क्षेत्र में  आपात जरूरत की स्थिति पैदा हो गयी है. यहीं कारण है कि कोरोना के बढ़ते प्रकोप के कारण अब दवा के क्षेत्र में निवेश की जरुरत है.  अमेरिका के लिए भारत के राजदूत तरणजीत सिंह संधू ने फाइजर कंपनी के सीईओ अल्बर्टा बुर्ला, मार्क कैस्पर के सीईओ थर्मो फिशर, एंटीलिया साइंटिफिक के चेयरमैन और सीईओ बर्न्ड ब्रस्ट और पाल लाइफ साइंसेज के सीईओ जोसेफ रेप के साथ डिजिटल बैठक की. उन्होंने साइटिवा के सीईओ एवं अध्यक्ष एमैनुएल लिंजर से भी बात की. अमेरिकी कंपनियों को निवेश के लिए उपलब्ध कराएगा नए अवसर दवा कंपनियों के साथ बातचीत के दौरान संधू ने इस बात का जिक्र किया कि भारत दवा निर्माण एवं चिकित्सकीय उपकरणों के क्षेत्र में निवेश को बढ़ावा देना चाहता है. उन्होंने कहा कि भारत ने हाल में एक उत्पादन आधारित प्रोत्साइन योजना शुरू की है जो अमेरिकी कंपनियों को निवेश के लिए… Continue reading Corona Crisis: दवा और चिकित्सा उपकरण के क्षेत्र में निवेश के लिए भारत ने अमेरिकी दवा कंपनियों से किया संपर्क

Corona Vacination: अमेरिका में अब  12 से 15 साल के किशोरों को टीका देने की तैयारी, फाइजर को मिल सकती है मंजूरी

Washington : अमेरिका के खाद्य एवं दवा प्रशासन (एफडीए) द्वारा 12 साल और उससे अधिक उम्र के बच्चों के लिए फाइजर के कोविड-19 टीके को अगले सप्ताह मंजूरी दिये जाने की संभावना है. एक संघीय अधिकारी और इस प्रक्रिया से अवगत तथा अगले स्कूली वर्ष के शुरू होने से पहले कई खुराकों की व्यवस्था करने वाले व्यक्ति ने इस बारे में बताया. कंपनी का ये टीका 16 साल या उससे अधिक उम्र के लोगों के लिए पहले ही मंजूर किया जा चुका है. हालांकि कंपनी ने पाया कि उसका टीका छोटे बच्चों पर भी कारगर है, जिसके महज एक महीने बाद यह घोषणा हुई है. संघीय अधिकारी ने बताया कि एजेंसी के फाइजर की दो खुराक वाले टीके पर इस सप्ताह के शुरू में आपात इस्तेमाल की मंजूरी देने की संभावना है. संघीय टीका परामर्श समिति बैठक के बाद ही लेगी निर्णय वहीं, अमेरिका में जोर पकड़ते टीकाकरण अभियान और कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में कमी के मद्देनजर यूरोपीय संघ (ईयू) के अधिकारियों ने कोविड-19 महामारी के कारण पिछले 13 महीने से अधिक समय से अमेरिका में बाधित हवाई यात्रा में ढील देने का प्रस्ताव दिया है.  इसके पीछे का कारण है कि  टीकाकरण से कई देशों में संक्रमण… Continue reading Corona Vacination: अमेरिका में अब  12 से 15 साल के किशोरों को टीका देने की तैयारी, फाइजर को मिल सकती है मंजूरी

Corona Vaccine : कोरोना के खिलाफ जंग होगी और मजबूत, Pfizer ने भी थामा भारत का हाथ

भारत में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर चल रही है। भारत में कोरोना के हालात बेकाबू होते जा रहे है। ऐसे में दुनिया के सभी देश भारत की मदद के लिए आगे आये है। अमेरिका से लेकर  यूरोप और दक्षिण एशिया तक से भारत के लिए मदद आनी शुरू हो गई है। उम्मीद है कि जल्द ही देश में कोरोना काबू में होगा। इस बीच वैश्विक दवा विनिर्माता फाइजर के सीईओ अल्बर्ट बूर्ला ने कहा है कि कंपनी अपने अमेरिका, यूरोप और एशिया स्थित वितरण केंद्रों से 7 करोड़ डॉलर की दवाएं भारत के लिए भेज रही है। भारत में कोरोना के हलात बिगड़ते ही जा रहे है। ऑक्सीजन की कमी से हजारों मरीजों की जान चली गई है। भारत में ऑक्सीजन, बैड से लेकर शमशाम घाट में शवों के अंतिम संस्कार तक लंबी लाइन लगानी पड़ रही है। भारत में कोरोना के एक दिन में 3 लाख पार मामले मिल रहे है। दिल्ली, महाराष्ट्र, राजस्थान, छतीसगढ़, उतरप्रदेश, गुजरात, बंगाल कोरोना का गढ़ बना हुआ है। इसे भी पढ़ें Corona in MP : मध्य प्रदेश में डेढ़ लाख से ज्यादा कोरोना मरीजों को मेडिकल किट वितरित फाइजर इंडिया का संदेश उन्होंने फाइजर इंडिया के कर्मचारियों को भेजे मेल में कहा, ‘हम… Continue reading Corona Vaccine : कोरोना के खिलाफ जंग होगी और मजबूत, Pfizer ने भी थामा भारत का हाथ

अमेरिका में फाइजर की कोरोना वैक्सीन को मिली मंजूरी

अमेरिका के खाद्य एवं औषधि प्रशासन विभाग (एफडीए) ने दवा निर्माता कंपनी फाइजर द्वारा विकसित की गयी कोरोना वैक्सीन के आपातकालीन स्थिति में उपयोग को मंजूरी प्रदान कर दी है।

और लोड करें