अन्याय के विरुद्ध खड़े हो जाते थे राज नारायण: अखिलेश

लखनऊ। समाजवादी पार्टी(सपा) अध्यक्ष अखिलेश यादव ने राजनारायण उनकी 33 वीं पुण्यतिथि पर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करते हुये कहा कि जहां कही भी अन्याय हो वे उसके विरूद्ध खडे़ हो जाते थे। यादव ने मंगलवार को पार्टी कार्यालय में राजनारायण के चित्र पर माल्यार्पण किया और उनके रास्ते पर चलने का संकल्प दिलाया। उन्होंने कहा कि जहां कही भी अन्याय हो, राजनारायण उसके विरूद्ध खडे़ हो जाते थे। जीवन भर वे बचितों, दलितों, गरीबों के लिए संघर्ष करते रहे। नौजवानों के लिए लड़ाई लड़ने में भी वह आगे रहते थे। 1977 में रायबरेली में इंदिरा गांधी को चुनाव में पराजित कर उन्होंने एक नया इतिहास रचा था। इन्दिरा जी ने तब अपनी सत्ता जाती देखकर आपातकाल लागू किया था। यादव ने कहा कि राजनरायण समाजवादी व्यवस्था कायम करने के लिए जीवन भर संघर्षरत रहे। वे डा0 लोहिया के सहयोगी थे। 1952 में राजनारायण उत्तर प्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष भी रहे। इस अवसर पर पूर्व विधानसभाध्यक्ष माता प्रसाद पाण्डेय, नेता विरोधी दल विधानसभा रामगोविन्द चौधरी, नेता प्रतिपक्ष विधान परिषद अहमद हसन, राष्ट्रीय सचिव राजेन्द्र चौधरी तथा प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल मौजूद थे।

और लोड करें