आईसीयू में राफेल पर रोना!

rafale deal corruption : बात बेतुकी लग सकती है। आखिर बोफोर्स के भ्रष्टाचार पर जब भारत के लोगों में खलबली मची थी तो राफेल पर लोग क्यों न सोचें? इसलिए कि तब वक्त और था और आज अलग है। तब देश धड़कता हुआ था। लोकतंत्र, मीडिया, संस्थाओं व नागरिक जीवन में सब जिंदा थे। लेकिन आज? दिल पर हाथ रख कर सोचें कि क्या वैसा अब कुछ भी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सात वर्षों का इतिहासजन्य कीर्तिमान है जो एक जिंदा देश अधमरा है और लोगों को पता नहीं है कि वे वेंटिलेटर पर हैं! कांग्रेस और राहुल गांधी भी तो वेंटिलेटर पर वैसे ही हैं, जैसे सरकार और भारत राष्ट्र-राज्य का हर अंग जैसे-तैसे सांस लेता हुआ है। 140 करोड़ लोगों की बुद्धि को वह ऑक्सीजन सप्लाई कहां है जो वह अपने आप पर सोचे और देश पर सोचे! क्या राहुल गांधी अपने आप पर और कांग्रेस पर सोच सकते हैं? क्या नरेंद्र मोदी अपने आप पर, अपनी सरकार, अपनी भाजपा पर सोच सकते हैं? सोच मतलब सत्यता से विचार। यह बात हम सभी पर लागू होती है। ऐसा सिर्फ महामारी के चलते नहीं है, बल्कि 140 करोड़ लोगों के घरों में धीरे-धीरे झूठ, रोग और संक्रमणों के… Continue reading आईसीयू में राफेल पर रोना!

खरीद-फरोख्त दोनों में घोटाले के आरोप

modi government alleges corruption : यह कमाल उस सरकार के समय हो रहा है, जिसका मूलमंत्र है ‘न खाऊंगा, न खाने दूंगा’। भारत कुछ सामान दुनिया से खरीद रहा है उसमें भी घोटाले के आरोप लग रहे हैं और कुछ सामान बेच रहा है उसमें भी घोटाले के आरोप लग रहे हैं और आरोपों की जांच कराने की बजाय भाजपा के नेता और सरकार के मंत्री विपक्ष को निशाना बनाने में लगे हैं। दुनिया के जिन देशों में भारत का सामान खरीदा जा रहा है वहां भी घोटाले की जांच हो रही है और जिन देशों ने भारत को सामान बेचा है उनके यहां भी घोटाले की जांच हो रही है लेकिन सिर्फ भारत है, जिसके यहां किसी जांच की जरूरत नहीं समझी जा रही है। यह भी पढ़ें: येदियुरप्पा की मुश्किल बढ़ सकती है भारत ने फ्रांस से राफेल लड़ाकू विमान खरीदा है। कई बरसों से चल रहे सौदे को पूरी तरह से बदल कर मौजूदा सरकार ने समझौता किया, जिसमें विमानों की कीमत कई गुना बढ़ गई। इस बीच फ्रांस में यह खबर सामने आई कि विमान बनाने वाली कंपनी दासो एविएशन ने भारत में किसी को एक मिलियन डॉलर का उपहार दिया है, जो इस सौदे से… Continue reading खरीद-फरोख्त दोनों में घोटाले के आरोप

राफेल पर विपक्ष हमलावर

rafale fighter plane deal : नई दिल्ली। लड़ाकू विमान राफेल को लेकर विपक्षी पार्टियां एक बार फिर हमलावर हो गई हैं। कांग्रेस के साथ साथ कम्युनिस्ट पार्टियों ने भी इसका मुद्दा उठाया है और सौदे में कथित गड़बड़ियों की संयुक्त संसदीय समिति से जांच कराने की मांग की है। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्विट करके कहा है कि केंद्र सरकार इस मामले की संसदीय समिति से जांच क्यों नहीं कराना चाह रही है। मोदी की नई कैबिनेट के 90 प्रतिशत मंत्री करोड़पति हैं, 42% पर आपराधिक मामले : ADR की रिपोर्ट राहुल गांधी ने रविवार को एक ट्विट किया, जिसमें उन्होंने पूछा कि rafale fighter plane deal संयुक्त संसदीय समिति यानी जेपीसी की जांच से मोदी क्यों बचना चाहते हैं? उन्होंने ट्विटर पर सर्वे करने के बाद यह सवाल पूछते हुए लोगों को जवाब के चार विकल्प भी दिए। उन्होंने लिखा- मोदी को अपराध बोध है। वो अपने मित्रों को बचाना चाहते हैं। जेपीसी को राज्यसभा सीट नहीं चाहिए। ये सभी विकल्प सही हैं। राहुल गांधी ने इंस्टाग्राम पर भी एक पोस्ट की है। इसमें उन्होंने एक फोटो पोस्ट की है, जिसमें एक व्यक्ति का आधा चेहरा है और जिसकी दाढ़ी में राफेल की फोटो है। राहुल… Continue reading राफेल पर विपक्ष हमलावर

राफेल पर फ्रांस में जांच

लड़ाकू विमान राफेल का मामला खत्म नहीं हो रहा है। जब भी लगता है कि यह मामला अब ठंडा पड़ गया, तब कोई नई कोई धमाका हो जाता है। इस बार भी धमाका फ्रांस में ही हुआ है। फ्रांस के एक जज ने इस मामले में भ्रष्टाचार की जांच शुरू कर दी है। फ्रांस के पब्लिक प्रॉसीक्यूशन सर्विस ने पहले इस मामले की सुनवाई और जांच से इनकार कर दिया था। लेकिन एक गैर-सरकारी संगठन की अपील पर इस बार पब्लिक प्रॉसीक्यूशन सर्विस ने जांच की इजाजत दे दी है और फ्रेंच जज इसकी जांच कर रहे हैं। फ्रांस की कंपनी दासो एविएशन और भारत सरकार के बीच हुए राफेल सौदे की जांच भ्रष्टाचार के पहलू से तो होगी ही साथ ही पक्षपात के पहलू से भी होगी। ध्यान रहे भारत में इस बात के आरोप लगते रहे हैं कि अनिल अंबानी की नई बनी कंपनी को पक्षपात के तहत ही ठेका दिया गया। बहरहाल, इसकी जांच से बहुत सी बातें खुलेंगी। बताया जा रहा है कि फ्रेंच जज इस मामले में पूर्व राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद से पूछताछ करेंगे। उनके समय ही यह सौदा हुआ था। उनकी सरकार में वित्त मंत्री रहे इमैनुएल मैक्रों से भी पूछताछ होगी। मैक्रों अभी… Continue reading राफेल पर फ्रांस में जांच

राफेल पर फिर होगी सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई

फ्रांस से खरीदे गए लड़ाकू विमान राफेल की खरीद के विवाद का मुद्दा एक बार फिर सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया है।

राफेल में 21 हजार करोड़ का घोटाला!

नई दिल्ली। कांग्रेस पार्टी ने लड़ाकू विमान राफेल की खरीद में 21 हजार करोड़ रुपए के घोटाले का आरोप लगाया है। कांग्रेस ने केंद्र सरकार ने तीन सवाल भी पूछे हैं। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा है कि प्रधानमंत्री को बिना डरे या घबराए उनके तीन सवालों का जवाब देना चाहिए। उससे पहल शुक्रवार को कांग्रेस के मीडिया प्रभारी रणदीप सुरजेवाला ने दावा किया कि भारत सरकार और विमान बनाने वाली फ्रेंच कंपनी डसाल्ट एविएशन के बीच हुए राफेल सौदे में 21,075 करोड़ रुपए का भ्रष्टाचार हुआ है। सुरजेवाला के आरोप लगाने के कुछ देर बाद ही कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने सोशल मीडिया पर लिखा- प्रिय छात्रों, प्रधानमंत्री कहते हैं कि हमें बिना डरे या घबराए हर सवाल का जवाब देना चाहिए। आप उनसे कहिए कि मेरे तीन सवालों का जवाब भी बिना डर और घबराहट के दें। इसके बाद उन्होंने प्रधानंत्री से तीन सवाल पूछे। उन्होंने पूछा कि राफेल डील में भ्रष्टाचार का पैसा किसे मिला? सौदे से भ्रष्टाचार रोधी नियम किसने हटाए और रक्षा मंत्रालय के दस्तावेज बिचौलिए तक कैसे पहुंचे? सुरजेवाला ने भी कई दस्तावेज जारी कर केंद्र से सवाल पूछे। सुरजेवाला ने कहा कि… Continue reading राफेल में 21 हजार करोड़ का घोटाला!

राफेल खरीद में नौ करोड़ के ‘गिफ्ट‘

नई दिल्ली। राफेल सौदे को लेकर पहले भी कई खुलासे कर चुकी फ्रांस की समाचार वेबसाइट मीडिया पार्ट ने एक बार फिर राफेल लड़ाकू विमान सौदे में भ्रष्टाचार की खबर दी है। फ्रांस की भ्रष्टाचार निरोधक एजेंसी एएफए की जांच रिपोर्ट के हवाले से प्रकाशित खबर के मुताबिक, दैसो एविएशन ने कुछ बोगस नजर आने वाले भुगतान किए हैं। कंपनी के 2017 के खातों के ऑडिट में पांच लाख आठ हजार 925 यूरो यानी कोई चार करोड़ 40 लाख रुपए क्लाइंट गिफ्ट के नाम पर खर्च दिखाए गए। मगर इतनी बड़ी धनराशि की कोई ठोस सफाई नहीं दी गई। इसकी रिपोर्ट में कुल 10 लाख यूरो यानी करीब नौ करोड़ रुपए खर्च करने का खुलासा हुआ है। रिपोर्ट के मुताबिक मॉडल बनाने वाली कंपनी का मार्च 2017 का एक बिल ही उपलब्ध कराया गया। एएफए के पूछने पर दैसो एविएशन ने बताया कि उसने राफेल विमान के 50 मॉडल एक भारतीय कंपनी से बनवाए। इन मॉडल के लिए 20 हजार यूरो यानी 17 लाख रुपए प्रति मॉडल के हिसाब से भुगतान किया गया। हालांकि, यह मॉडल कहां और कैसे इस्तेमाल किए गए, इसका कोई प्रमाण नहीं दिया गया। पांच राज्यों के चुनाव के बीच इस खुलासे का विपक्षी पार्टियां इस्तेमाल… Continue reading राफेल खरीद में नौ करोड़ के ‘गिफ्ट‘

रफाल-सौदे में लचक ?

भारत के नियंत्रक और महालेखापरीक्षक ने अपनी ताजा रपट में बहुत गंभीर टिप्पणियां कर दी हैं, जो सरकार के लिए चिंता का विषय होना चाहिए। हम लोग बहुत खुश थे कि सरकार ने रफाल विमानों का सौदा इतने अच्छे ढंग से किया है कि ये लड़ाकू विमान भारत पहुंच भी चुके हैं और उनके प्रदर्शन से शत्रुओं को उचित संदेश भी चला गया है।

राफेल पर सीएजी की रिपोर्ट से विवाद

राफेल लड़ाकू विमान को लेकर एक बार फिर राजनीति गरमा गई है। इस लड़ाकू विमान को लेकर नियंत्रक व महालेखा परीक्षक, सीएजी की रिपोर्ट को लेकर कांग्रेस पार्टी ने केंद्र सरकार पर हमला किया है।

और लोड करें