राहत पैकेज पर ईमानदारी से काम करने की जरूरत: मायावती

बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के राहत पैकेज का स्वागत करते हुए कहा है कि इसका सरकारी तौर पर इस्तेमाल और ईमानदारी से काम होना चाहिए

सरकार आम लोगों को पैसा नहीं देगी!

केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार का रिकार्ड रहा है कि जो सब लोग कहेंगे या कम से कम समझदार  लोग जो बात कहेंगे उसे नहीं मानना है, चाहे वह बात कितनी भी जरूरी क्यों न हो।

अमेरिका राहत पैकेज से एशियाई बाजारों में तेजी

अमेरिका में कोरोना वायरस महामारी के आर्थिक असर से निपटने के लिए राहत पैकेज की घोषणा के बाद वॉल स्ट्रीट में तेजी का असर एशियाई बाजारों में भी देखने को मिला

जन-धन खाते में आए 500 रुपए निकलवाने उमड़ी भीड़

कोरोना वायरस के फैलाव को रोकने के लिए किये गये लॉकडाऊन के कारण घोषित राहत पैकेज के तहत जन धन बैंक खातों में आई 500 रुपये की रकम निकलवाने के लिए यहां बैंकों में भीड़ उमड़ रही है

आर्थिक पैकेज में कई छेद

भारत में कोरोना वायरस से फैली अफरा-तफरी के बीच पिछले हफ्ते केंद्र सरकार ने महामारी से होने वाले आर्थिक नुकसान की भरपाई के लिए आर्थिक पैकेज की घोषणा की। एक लाख सत्तर हजार करोड़ रुपए के इस राहत पैकेज का नाम प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना रखा गया है। सरकार ने दावा किया कि इसका फोकस आर्थिक रूप से कमजोर लोगों पर है। मगर बारीक नजर डालें तो इस घोषणा में कई बातें दिखावटी हैं। मसलन, इसमें 31 हजार करोड़ रुपए वो भी हैं, जो निर्माण मजदूर कोष में हैं। सरकार पहले ही राज्य सरकारों को उसका उपयोग करने को कह चुकी है। इसी तरह पीएम किसान योजना की 2000 रुपए की किस्त वैसे भी किसानों के खाते में जानी थी। उसका कुछ दिन पहले अग्रिम भुगतान कोई अतिरिक्त राहत नहीं है। यही बात मनरेगा मजदूरी में वृद्धि का है, जो मुद्रास्फीति में बढ़ोतरी के साथ पहले से अपेक्षित था। इन सारी रकमों को एक लाख सत्तर हजार में शामिल कर बड़ी राहत का संदेश देना क्या सिर्फ सुर्खियां हासिल करना नहीं माना जाएगा? वैसे ये सच है कि इस पैकेज में घोषित कई उपाय सही दिशा में हैं। जन धन खातों वाली 20 करोड़ महिलाओं को अगले तीन महीने तक… Continue reading आर्थिक पैकेज में कई छेद

सेंसेक्स 31,000 के पार, निफ्टी 9000 से उपर

कोरोनावायरस के खिलाफ जंग में होने वाले आर्थिक नुकसान के लिए सरकार की ओर राहत पैकेज की घोषणा से उत्साहित देश के शेयर बाजार में आज फिर जबरदस्त तेजी रही।

डॉलर के मुकाबले रुपया मजबूत

कोरोनावायरस के प्रकोप के खिलाफ भारत द्वारा छेड़ी गई जंग में होने वाले आर्थिक नुकसान की भरपाई के लिए सरकार द्वारा की गई राहत पैकेज की घोषणा के बाद देसी करेंसी रुपये में

गरीब की मदद में पैकेज घोषित

वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने कोरोना वायरस के प्रकोप के खिलाफ सरकार द्वारा छेड़ी गई जंग से प्रभावित गरीबों और मजदूरों की कठिनाइयों को देखते हुए आज 1,70,000 करोड़ रुपये के राहत पैकेज के रूप में प्रधानमंत्री गरीब कल्याण पैकेज की घोषणा की।

अमेरिका में भारी-भरकम राहत पैकेज से एशियाई बाजारों को भी मिली राहत

अमेरिका में कोरोना वायरस के आर्थिक असर को कम करने के लिये भारी-भरकम राहत पैकेज की तैयारी से अमेरिका और यूरोप के बाजारों उत्साह का संचार हुआ।

और लोड करें