UP में गंभीर कोरोना संक्रमितों को मुफ्त Remdesivir Injection

लखनऊ। Free Remdesivir Injection : उत्तर प्रदेश में लगातार कोरोना संक्रमण के बढ़ते मरीजों, अस्पतालों में ऑक्सीजन की किल्लत और बैड़ों की कमी से हाहाकार मचा हुआ है। राज्य में कोरोना महामारी के इस दौर को लेकर उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ( CM Yogi Adityanath ) काफी गंभीर है। सीएम कोरोना से जंग लड़ने और लोगों की जिंदगी बचाने के सभी प्रयास कर रहे हैं। इस बीच सीएम योगी ( Yogi Adhityanagh ) ने कहा कि, प्रदेश में किसी भी जीवनरक्षक दवा का अभाव नहीं है। हर दिन इसकी आपूर्ति बढ़ रही है। रेमडेसिविर ( Remdesivir Injection ) के पर्याप्त वॉयल उपलब्ध कराए जा रहे हैं। रेमडेसिविर इंजेक्शन सरकारी अस्पतालों में निशुल्क उपलब्ध कराया जा रहा है। जरूरत पड़ी तो निजी अस्पतालों को भी रेमडेसिविर मुहैया कराई जाएगी। इसके लिए जिला प्रशासन को अतिरिक्त रेमडेसिविर उपलब्ध कराई गई है। यह भी पढ़ेंः-  जनता Oxygen के लिए दर-दर भटक रही, भाजपा सरकार ‘झूठ’ बोल रही : अखिलेश यादव गंभीर मरीजों को रेमडेसिविर इंजेक्शन मुफ्त सीएम योगी आदित्यनाथ ने आज कहा कि, राज्य सरकार सभी सरकारी अस्पतालों के लिए रेमडेसिविर इंजेक्शन की व्यवस्था कर रही है। यहां पर इलाज करा रहे लोगों को इंजेक्शन मुफ्त में दिया जाएगा। हालांकि, प्रदेश के निजी… Continue reading UP में गंभीर कोरोना संक्रमितों को मुफ्त Remdesivir Injection

वाह रे वाह मोहब्बत! मरीजों को रेमडेसिविर की जगह नकली इंजेक्शन लगाती थी नर्स, फिर 15-20 हजार रूपए में बेच देता था प्रेमी

भोपाल। मध्यप्रदेश में भी कोरोना संक्रमण (Covid 19) का कोहराम लगातार जारी है। इस कोरोना महामारी में भी कई लोग मुनाफा कमाने के लिए दूसरों की जान से खिलवाड़ करने से भी बाज नहीं आ रहे है। ऐसी एक घटना मध्यप्रदेश में रेमडेसिविर इंजेक्शन (Remdesivir Injection) को लेकर एक प्रेमी-प्रेमिका की सामने आई है। भोपाल के जेके अस्पताल की नर्स कोरोना मरीजों को नॉर्मल इंजेक्शन लगाकर रेमडेसिविर चुरा लेती थी और अपने प्रेमी के जरिए उसे ब्लैक में बिकवाती थी। इंजेक्शन की कालाबाजारी को लेकर जब कोलार पुलिस ने एक युवक को दबोचा, तो इस प्रेमी जोड़ी की पोल खुली। पुलिस के अनुसार, गिरधर कॉम्प्लेक्स, दानिशकुंज निवासी झलकन सिंह की प्रेमिका शालिनी जेके अस्पताल (JK Hospital) में नर्सिंग स्टाफ है। यह भी पढ़ेंः- Britain: महिला के कोरोना वैक्सीन लगाते ही हुए खून से भरे फफोले, डाॅक्टर भी हैरान इंजेक्शन की कालाबाजारी को लेकर पकड़े गए आरोपी ने पूछताछ में बताया कि उसकी प्रेमिका इंजेक्शन रेमडेसिविर की बजाय दूसरा नॉर्मल इंजेक्शन मरीज को लगा देती थी और इंजेक्षन को बचाकर बाद में उसे दे देती थी। ये इंजेक्शन वह 20 से 30 हजार रुपए में बेचता था। आरोपी ने एक और सच उगलते हुए कहा कि उसने जेके अस्पताल के ही एक… Continue reading वाह रे वाह मोहब्बत! मरीजों को रेमडेसिविर की जगह नकली इंजेक्शन लगाती थी नर्स, फिर 15-20 हजार रूपए में बेच देता था प्रेमी

कारोबारी को बचाने आधी रात को थाने पहुंचे फड़नवीस

मुंबई। कोरोना वायरस से सर्वाधिक संक्रमित राज्य महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई में शनिवार की रात जम कर ड्रामा चला। मुंबई पुलिस ने कोरोना मरीजों के लिए जीवनरक्षक दवा रेमडेसिविर के इंजेक्शन की कालाबाजारी के आरोप में एक कारोबारी को हिरासत में लिया तो उसके बचाव में भाजपा नेता और पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस आधी रात को विले पार्ले थाने में पहुंच गए। पुलिस का कहना है कि उसे सूचना मिली थी कि रेमडेसिविर बनाने वाली दमन की एक कंपनी में उत्पादित इंजेक्शन बड़ी संख्या में मुंबई में स्टोर की गई है और उसे एयर कार्गो से बाहर ले जाना है। इस सूचना के बाद पुलिस ने कार्रवाई की थी। पुलिस ने रेमडेसिविर की कालाबाजारी की जानकारी मिलने पर उसकी जांच के सिलसिले में ब्रक फार्मा के डायरेक्टर राजेश डोकानिया को हिरासत लिया था और पूछताछ कर रही थी। इस बात से पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस नाराज हो गए और आधी रात को विधान परिषद में नेता प्रतिपक्ष प्रवीण दरेकर और कुछ समर्थकों के साथ विले पार्ले पुलिस स्टेशन पहुंच गए। वहां से उन्हें पता चला कि डोकानिया को पूछताछ के लिए जोन-आठ के डीसीपी मंजुनाथ शिंगे के ऑफिस में ले जाया गया है। दोनों नेता वहां पहुंचे और पुलिस अफसरों… Continue reading कारोबारी को बचाने आधी रात को थाने पहुंचे फड़नवीस

रेमडिसिविर के निर्यात पर रोक

नई दिल्ली। कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बीच केंद्र सरकार ने कोरोना मरीजों को दिए जाने वाले इमरजेंसी इंजेक्शन रेमडिसिविर के निर्यात पर रोक लगा दी है। केंद्र सरकार ने रविवार को कहा कि इस इंजेक्शन को बनाने में इस्तेमाल होने वाली चीजों का भी निर्यात नहीं हो सकेगा। गौरतलब है कि संक्रमण के मामले तेजी बढ़ने से देश भर में इस इंजेक्शन की कमी हो गई है और कई जगह इसकी कालाबाजारी होने लगी है। आने वाले दिनों में मांग और बढ़ने की संभावना को देखते हुए सरकार ने निर्यात रोकने का फैसला किया है। दूसरी ओर रेमडिसिविर इंजेक्शन बनाने वाली सभी घरेलू कंपनियों को अपनी वेबसाइट पर स्टॉकिस्ट और डिस्ट्रीब्यूटर्स के नाम की जानकारी देने की सलाह दी गई है। सभी जिलों में ड्रग्स इंस्पेक्टर और दूसरे अधिकारियों को इंजेक्शन के स्टॉक का वेरिफिकेशन करने और कालाबाजारी रोकने के निर्देश दिए गए हैं। भारत सरकार का डिपार्टमेंट ऑफ फार्मास्युटिकल्स कंपनियों के साथ संपर्क में है, ताकि रेमडिसिविर का उत्पादन बढ़ाया जा सके।

सुर्खियों में रेमडेसिवीर दवा

पिछले कुछ दिनों से कोरोना, विकास दुबे के बाद जो नाम खबरों में सबसे ज्यादा छाया हुआ है वह है रेमडेसिवीर  है। संयोग ही कहा जाएगा कि तीनों ही गलत वजह से चर्चा में है।

और लोड करें